Home » Tag Archives: कोलकाता

Tag Archives: कोलकाता

हरियाणा से कोलकाता होते हुए मध्य प्रदेश तक क्यों हैं महिलायें निशाने पर!!

badal saroj

Why are women on target from Haryana to Madhya Pradesh via Kolkata? दुनिया के साथ जम्बू द्वीपे रेवा खण्डे इंडिया दैट इज भारत की औरतें जब अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) मनाने की तैयारियों में जुटी थी ठीक उस वक़्त हरियाणा के पंचकूला में उनकी माँ, बहिनों और बेटियों को बाल खींच कर घसीट घसीट कर खदेड़ा जा रहा …

Read More »

जलवायु परिवर्तन : ख़तरे में हैं तटीय शहर

Climate Change

Climate change: Coastal cities in danger | Can India’s coastal cities adapt to a warming world? एक के बाद एक  घटनाएं, घनघोर समस्याएं : क्या भारत के तटीय शहर गर्म हो रही दुनिया के प्रति एडाप्ट हो सकते हैं? जब हम तटीय शहरों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के बारे में बात करते हैं, तो ओवरराइडिंग इमेजरी ( तस्वीर / …

Read More »

द्वितीय विश्व युद्ध : भारत में एक भी बम नहीं गिरा, लेकिन लाखों लोग मारे गए

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

World War II: Not a single bomb dropped in India, but millions of people died द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारत में एक भी बम विस्फोट नहीं हुआ था। हालांकि जापानी लड़ाकू विमान कोलकाता के आसमान में नजर आए। लेकिन बंगाल के भीषण अकाल में लाखों लोग मारे गए, अनाज की कमी के कारण नहीं बल्कि लोगों को भूखा रहना …

Read More »

प्रवास वृत्तांत : मजदूर बस्ती के एक बेरोजगार कलाकार की ट्रेन से कटकर मौत, एक प्रेमकथा का दुःखद अंत

mazdoor basti

Migration story: An unemployed artist from Mazdoor Basti dies after being hit by a train, sad end of a love story बंगाल में 35 साल के वाम शासन में आज़ाद भारत की उद्योग विरोधी शहरीकरण के कारपोरेटपरस्त मुक्तबाजारी अर्थव्यवस्था में 56 हजार कल कारखाने बन्द हो गए। ममता बनर्जी के परिवर्तन आंदोलन और वाम तख्ता पलट का यह सबसे बड़ा …

Read More »

पत्रकारिता की दयनीय हालत के लिए पत्रकार भी कम दोषी नहीं

press freedom

गोदी मीडिया और पप्पू मीडिया की हरकतों को देखते हुए पत्रकारिता की गिरती हालत पर रोज चर्चा (Discussion on the deteriorating condition of journalism) होती है। लेकिन यह गिरावट एक दिन में नहीं आ गई है न एक दिन में पत्रकारिता की मौत हुई है। पत्रकारिता की गिरावट के कारणों की समीक्षा (A review of the reasons for the decline …

Read More »

मेरा जन्मदिन कुलीन वर्ग के लिए एक दुर्घटना ही है

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

एक बड़े सच का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि मार्टिन जान को मेरी याद तो है लेकिन पलाश विश्वास को वे पहचान नहीं पा रहे। दरअसल उत्तराखंड और झारखंड में लोग मुझे पलाश नाम से ही जानते रहे हैं, किसी विश्वास को वे नहीं जानते, क्योंकि राजकिशोर संपादित परिवर्तन में नियमित लिखने से पहले तक मैं पलाश नाम से …

Read More »

महामारी के राजकाज में महाविनाश का यह महोत्सव है, लोग मरें या जियें किसी को फर्क नहीं पड़ता

vulture

इम्फाल से बहुत बुरी खबर है। व्योमेश शुक्ल जी ने लिखा है भारत के शीर्षस्थ रंगनिर्देशकों में-से एक श्रीयुत रतन थियाम कोविड से संक्रमित होकर इंफाल-स्थित राज मेडिसिटी हॉस्पिटल में भर्ती हैं, जहाँ उनका इलाज शुरू हो गया है और तबीयत ख़तरे से बाहर है। उनके साथ उनके पुत्र और युवा रंगनिर्देशक थवई थियाम, मित्रों- परिजनों- शुभचिंतकों- रंगकर्मियों के साथ-साथ …

Read More »

‘जैविक सुपरबग’ के जनक प्रोफेसर आनंद मोहन चक्रवर्ती

'जैविक सुपरबग' के जनक प्रोफेसर आनंद मोहन चक्रवर्ती Professor Anand Mohan Chakraborty, father of 'organic superbug'

Professor Anand Mohan Chakraborty, father of ‘organic superbug’ नई दिल्ली, 04 अप्रैल : भारत में विज्ञान की परंपरा काफी समृद्ध रही है। यहाँ कई ऐसे वैज्ञानिकों ने जन्म लिया है, जिन्होंने अपनी खोज के माध्यम से समूचे विश्व को न केवल अचंभित किया, अपितु समय-समय पर उसका नेतृत्व भी किया। ऐसे ही एक असाधारण वैज्ञानिक थे प्रोफेसर आनंद मोहन चक्रवर्ती। …

Read More »

कोविड-19 प्रसार का पता लगाने का प्रभावी उपाय सीवेज निगरानी

COVID-19 news & analysis

Sewage Surveillance, an effective way to detect COVID-19 spread नई दिल्ली, 31 मार्च : सीवेज निगरानी (Sewage Surveillance), किसी शहर की आबादी में संक्रमित लोगों की संख्‍या के बारे में गुणात्‍मक एवं मात्रात्‍मक अनुमान प्रदान कर सकती है। इसका उपयोग कोविड-19 के बढ़ने की प्रक्रिया को समझने के लिए उस समय किया जा सकता है, जब बड़े पैमाने पर लोगों …

Read More »

फिर बढ़े तेल के दाम, गायब है “बहुत हुई महंगाई की मार” वाली सरकार

Check latest petrol Diesel price

नई दिल्ली, 01 सितंबर 2020. पेट्रोल के दाम (price of petrol) में मंगलवार को फिर बढ़ोतरी दर्ज की गई। देश के प्रमुख महानगरों में पेट्रोल के दाम (Petrol prices in major metros of the country) में चार से पांच पैसे की वृद्धि हुई है। हालांकि, डीजल के दाम में स्थिरता बनी हुई है। उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (Crude …

Read More »