क्या सावरकर क्रांतिकारी थे?

सावरकर, भाक्तवाद और प्रमाता की ‘गूंग’ के प्रश्न भारत में फासीवाद के सिद्धांतकार सावरकर यह एक बहुत दिलचस्प प्रसंग है। हमारे मित्र अजय तिवारी ने

Read More

सावरकर : अंग्रेजों को लिखे माफ़ीनामे से भारत विभाजन और गांधी जी की हत्या तक

एक समय सावरकर ब्रिटिश सरकार के खिलाफ खुल कर खड़े होते हैं तो दूसरे कालखंड में मिमियाते हुए अंग्रेजी राज की पेंशन पर जीते हैं तथा फूट डालो औऱ राज करो, की विभाजनकारी ब्रिटिश नीति का औजार बन जाते हैं।

Read More