Home » Tag Archives: गैर-कांग्रेस वाद (page 4)

Tag Archives: गैर-कांग्रेस वाद

What do you understand by non-Congressism? What is Non-Congressism?

गैर-कांग्रेस वाद किसे कहते हैं, गैर-कांग्रेस वाद का नारा किसने दिया?

गैर कांग्रेस वाद से क्या अभिप्राय है ?

गैर कांग्रेस बाद से क्या अभिप्राय है ?

गैर कांग्रेस से आप क्या समझते हैं?

गैर कांग्रेस स्वाद से आप क्या समझते हैं?

गैर कांग्रेस वाद किसे कहते हैं?

गैर कांग्रेसवाद का नारा किसने दिया?

गैर कांग्रेसवाद से क्या तात्पर्य है?

अच्छे दिन : अमेरिका ने भारत को दुनिया के असहिष्णु देशों की कतार में खड़ा कर दिया

अमेरिका ने धार्मिक असहिष्णुता के लिए बदनाम मुल्कों में भारत को भी जोड़ा America also added India in countries notorious for religious intolerance अमेरिका की धार्मिक स्वतंत्रता वाली रिपोर्ट (धार्मिक असहिष्णुता की ताज़ा ख़बर, ब्रेकिंग,) में फिर भारत को घेरने की कोशिश की गई है। सीएए और मुसलमानों के प्रति हिंसा (Violence against muslims) के हवाले से अमेरिकी संस्था, अमेरिकी …

Read More »

लड़खड़ाते लोकतंत्र में सोशलिस्ट नेता मधु लिमए को याद करने के मायने

Madhu Limaye

Meaning of remembering socialist leader Madhu Limaye in a faltering democracy आज भारतीय लोकतंत्र का जिस्म तो बुलंद है, पर इसकी रूह रुग्ण हो चली है। ऐसे में जोड़, जुगत, जुगाड़ या तिकड़म से सियासत को साधने वाले दौर में मधु लिमए की बरबस याद आती है। राजनीति के चरमोत्कर्ष पर हमें सन्नाटे में से ध्वनि, शोर में से संगीत …

Read More »

जान खतरे में है और जहान भी… हिन्दुत्व की राजनीति और हिंदुत्व का राजकाज धोखा और फरेब है

Modi in Gamchha

Life is in danger and the world too … The politics of Hindutva and the rule of Hindutva is deception and deceit आज शाम हमारे बड़े भाई और लेखक कस्तूरी लाल तागरा का फोन आया। हाल चाल जानने के बाद लम्बी बातकही हुई। आज सुबह प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस की (Prime Minister has video conference with Chief …

Read More »

पालघर लिंचिंग और विघटनकारी दुष्प्रचार

डॉ. राम पुनियानी (Dr. Ram Puniyani) लेखक आईआईटी, मुंबई में पढ़ाते थे और सन्  2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं

ARTICLE BY DR RAM PUNIYANI – PALGHAR KILLINGS पिछले कुछ सालों में भारत में लिंचिंग की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है. इनमें से अधिकांश घटनाएं गाय और बीफ से मुद्दों से जुडीं हुईं थीं और खून की प्यासी भीड़ के हाथों मारे जाने वालों में से अधिकांश दलित या मुसलमान थे. इंडियास्पेंड वेबसाइट ने सन 2014 से लेकर …

Read More »

लॉकडाउन के पहले चरण में 12 करोड़ नौकरियाँ चली गईं, सोनिया ने जताई चिंता, पढ़ें पूरा भाषण

Sonia Gandhi at Bharat Bachao Rally

Hindi Translation of Congress President Smt. Sonia Gandhi’s speech at CWC Meeting नई दिल्ली, 24 अप्रैल 2020 – कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी द्वारा कांग्रेस कार्यसमिति की बीती 23 अप्रैल 2020 को हुई बैठक में संबोधन का मूल पाठ का हिंदी अनुवाद डॉ. मनमोहन सिंह जी, राहुल जी, वरिष्ठ सहकर्मियों व मित्रोंः तीन हफ्ते पहले हुई हमारी मुलाकात के बाद …

Read More »

कैसे रुके मुसलमानों का अलगाव? : जस्टिस सच्चर का रास्ता

Justice Rajinder Sachar remembered on the first death anniversary

How did the isolation of Muslims stop? : Justice Sachar’s way जस्टिस सच्चर का दूसरी पुण्यतिथि पर स्मरण  | Remembering the second death anniversary of Justice Sachar जस्टिस सच्चर की दूसरी पुण्यतिथि (Second death anniversary of justice sachar) 20 अप्रैल 2020 को पड़ती है. इस अवसर पर उन्हें याद करते हुए यह समझने की जरूरत है कि भारतीय समाज में …

Read More »

आप कोरोना से निबटना ही नहीं चाहते, लॉक डाउन का इस्तेमाल गरीबों, किसानों, मजदूरों, दलितों, आदिवासियों से निबटने के एजेंडे के लिए ?

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

आपातकाल के अवसान के बाद 1977 के आम चुनाव (1977 general election) में पहली बार अमेरिकापरस्त सामंती हिंदुत्ववादियों के सत्ता और लोकतंत्र के हर अंग में व्यापक पैमाने पर प्रवेश के बाद से भारत लगातार अमेरिका बनने के प्रयास में है (India is constantly trying to become America)। विडम्बना यह है कि अमेरिका बनते बनते हम एकदम पाकिस्तान बन गए …

Read More »

कोरोना से लड़ने का मोदी का संदेश जुमलेबाजी के सिवा कुछ नहीं, राजनैतिक दिवालियेपन की निशानी : माकपा

CPIM

Modi’s message to fight Corona is a sign of political insolvency: CPI-M रायपुर 20 मार्च 2020. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के सरकारी संदेश को राजनैतिक दिवालियेपन की निशानी बताते हुए कहा है कि केंद्र सरकार ने देश की जनता को उसके हाल पर ‘संकल्प और संयम’ के भरोसे छोड़ दिया है और उससे …

Read More »

योगी सरकार को फिर तगड़ा झटका, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी पुलिस को सीएए विरोधी आंदोलनकारियों के सभी पोस्टरों को हटाने का आदेश, 16 मार्च को अनुपालन रिपोर्ट पेश करने का आदेश

Yogi Adityanath

Allahabad HC Orders Removal Of All Posters Of UP Police Naming Anti-CAA Protesters Accused Of Violence नई दिल्ली, 09 मार्च 2020. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी सरकार को एक बार फिर तगड़ा झटका देते हुए, इलाहाबाद उच्च न्यायलय ने सोमवार को लखनऊ में यूपी पुलिस द्वारा लगाए गए उन सभी पोस्टरों और बैनरों को …

Read More »

योगी सरकार को तगड़ा झटका, हाईकोर्ट सख्त, शाम तीन बजे तक सीएए विरोधी आंदोलनकारियों के पोस्टर हटाने के आदेश

Yogi Adityanath

‘Highly Unjust’ : Allahabad HC Directs Removal Of Banners Containing Photos Of Persons Accused Of Violence By 3 PM नई दिल्ली, 08 मार्च 2020. इलाहाबाद उच्च न्यायालय की एक विशेष बेंच ने लखनऊ में विरोधी-सीएए विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा के आरोपी व्यक्तियों की तस्वीरों और विवरणों वाले बैनर लगाने के लिए योगी सरकार के अधिकारियों की खिंचाई की। मुख्य …

Read More »

वैचारिक राजनीति को खूंटी पर टांग देने का नतीजा है मोदी-शाह की जोड़ी का हावी होना

Amit Shah Narendtra Modi

The result of abandoning ideological politics is the dominance of the Modi-Shah duo देश में बदलाव की बात तो हो रही है पर उस स्तर पर प्रयास नहीं हो रहे हैं। इसकी वजह यह है कि विपक्ष में जो नेता मुख्य रूप से भूमिका निभा रहे हैं, वे वंशवाद के बल पर स्थापित नेता हैं। यही वजह है कि जो …

Read More »

हिन्दू राष्ट्र की ओर रणनीतिकारों के कदम | सड़कों पर लड़ाई की तैयारी केवल संघ परिवार के पास है

Amit Shah Narendtra Modi

Steps of strategists towards Hindu Rashtra अच्छा कमांडर युद्ध में लड़ते लड़ते दुश्मन की फौज (Enemy forces) को ऐसी जगह लाने की कोशिश करता है जहाँ सामरिक स्थिति उसके पक्ष में और दुश्मन के प्रतिकूल होती है। आज भाजपा (BJP) ने देश में अपने विपक्ष को ऐसी ही स्थिति में ला कर घेर लिया है। लोकतंत्र के सारे कच्चे व …

Read More »

यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है, पहले विश्वविद्यालयों को निशाना बनाया गया और अब बस्तियां भी सुलग रही हैं

Delhi riots.jpeg

This is neither a coincidence nor an experiment but a project, universities were first targeted and now settlements are also burning यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है जिसे बहुत तेजी से पूरा किया जा रहा है. भारत को ‘हम’ और ‘वे’ में बांट देने का प्रोजेक्ट, जिसके लिये कई दशकों से प्रयास किया जा रहा था. …

Read More »

यूपी में फिलहाल तो कोई भी राजनीतिक दल 2022 के लिये भाजपा का विकल्प नहीं

BJP Logo

यूपी में 2017 में पिछला विधानसभा चुनाव (Issues in UP assembly elections 2017) जिन मुद्दों पर लड़ा गया आईए उन्हें फिर से एकबार समझते हैं। तत्कालीन सरकार वाली पार्टी सपा अपने नये-नये राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर काबिज हुए युवा नेता “जवानी कुर्बान” कार्यकर्ताओं के बल पर “विकास” के नाम पर चुनाव लड़ रही थी। दूसरी तरफ भाजपा “मोदी” की नोटबन्दी …

Read More »

रेडिकल अंबेकरवाद के जवाब में आंबेडकर में देवत्व स्थापना का संघ प्रायोजित ’खेल’

Dr B.R. Ambedkar

RSS-sponsored ‘game’ of establishing divinity in Ambedkar in response to radical Ambekarism Ambedkar-Buddha (Bhima Katha) Katha organized in Mangta village of Kanpur Nagar district of Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर जिले के मंगटा गांव में हाल ही में आंबेडकर-बुद्ध(भीम कथा) कथा का आयोजन किया गया। इस कथा में आंबेडकर की बाईस शिक्षाओं (Twenty two teachings of ambedkar), उनके …

Read More »

सर्वाधिक अवसरवादी केजरीवाल : जो सवाल मोदी से राहुल ने पूछा वो भाजपा को पूछना चाहिए था

Arvind Kejriwal

राजनेताओं के बयानों और आचरण में गम्भीरता का अभाव Lack of seriousness in statements and conduct of politicians  भारत एक बड़ा व महान देश है जिसे इन दिनों ओछे और निचले स्तर के नेता चला रहे हैं। पिछले दिनों जब पुलवामा कांड को एक साल पूरी हुआ तब राहुल गाँधी ने एक सवाल पूछा कि उक्त घटना की जाँच रिपोर्ट …

Read More »

एस जयशंकर जेएनयू प्रोडक्ट हैं उनको गंदी किताबें नहीं पढ़ना चाहिएं, क्या वाकई पं. नेहरू अपने मंत्रिमंडल में सरदार पटेल को नहीं शामिल करना चाहते थे?

Sardar Vallabhbhai Patel

Prime Minister Narendra Modi’s misrepresentation of Sardar Patel and Pandit Jawaharlal Nehru’s relations नौकरशाह जब राजनीति में आता है तो वह अपने आका के प्रति ज्यादा स्वामीभक्ति प्रदर्शित करता है। अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरदार पटेल और पं जवाहर लाल नेहरू के संबंधों को लेकर गलत बयानी करें तो समझा जा सकता है कि उनकी शिक्षा कम है और संघ …

Read More »

देशबन्धु को अपनी स्वतंत्र नीति, सिद्धांतपरकता, निर्भीकता और राजाश्रय या सेठाश्रय के बिना कितनी मुश्किलों से गुजरना पड़ा है

Lalit Surjan ललित सुरजन देशबंधु पत्र समूह के प्रधान संपादक हैं. वे 1961 से एक पत्रकार के रूप में कार्यरत हैं. वे एक जाने माने कवि व लेखक हैं. ललित सुरजन स्वयं को एक सामाजिक कार्यकर्ता मानते हैं तथा साहित्य, शिक्षा, पर्यावरण, सांप्रदायिक सद्भाव व विश्व शांति से सम्बंधित विविध कार्यों में उनकी गहरी संलग्नता है. यह आलेख देशबन्धु से साभार लिया गया

देशबन्धु के साठ साल Sixty years of Deshbandhu दृश्य-1 मि.मजूमदार! आई हैव डन माई इनिंग्ज़ मोर ऑर लैस. बट गॉड विलिंग, यू हैव अ लॉंग वे टू गो. आफ्टर ऑल, यू एंड ललित आर ऑफ सेम एज. (श्री मजूमदार! मैं अपनी पारियां लगभग खेल चुका हूं। लेकिन प्रभु कृपा से आपको लंबा सफर तय करना है। आखिरकार, आप और ललित हमउम्र …

Read More »

हिन्दुत्व के दायरे में अपना खोया ’स्पेस’ तलाशती सपा !

Akhilesh Yadav with Sunil Singh of Hindu Yuva Vahini

Communalism among Samajwadi Party’s base voters ’’देखौ बच्चा! हम बात बहुत साफ बोलि थै कि मोदी जी दिल्ली में रहईं और अखिलेश का यूपी देईं। केवल मोदी पाकिस्तान से लड़ सकत हैं दिल्ली में उनही कइ जरूरत है। ई चुनाव में हम सब चाहिथै कि मोदी जी दिल्ली मा फिर से लौउटें बाकि पिछले चुनाव(2017) मा हम अखिलेश यादव का …

Read More »

शाहीन बाग की औरतों ने बाग के मायने बदलकर बगावत कर दिया

Shaheen Bagh

नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 और शाहीन बाग : एक नया नवजागरण Citizenship Amendment Act 2019 and Shaheen Bagh: A new renaissance शहंशाह को बागों से बहुत शिकायत है उसने अपनी डायरी में लिख लिया बाग के माने बगावत है — सोनी पांडेय आज (26 जनवरी, 2020) जब राजधानी के राजपथ पर सैन्य बल के  प्रदर्शन से देश के 70वें गणतंत्र …

Read More »

फोर्ड फाउंडेशन के बच्चों का राजनीतिक आख्यान : ‘दिल्ली में तो केजरीवाल’ का जो हल्ला मचाया गया है, उसमें कम्युनिस्टों की बड़ी भूमिका है.

Arvind Kejriwal

पिछले दिनों ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित एक खबर पर नज़र गई थी. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का दावा (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal claims) छपा था कि उन्होंने राजनीति का आख्यान (नैरेटिव) बदल दिया है. पिछली सदी के अंतिम दशकों में जब इतिहास से लेकर विचारधारा तक के अंत की घोषणा हुई थी तो उसका अर्थ था कि नवउदारवाद …

Read More »