Home » Tag Archives: ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन

Tag Archives: ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन

जानिए, ‘वैश्विक मीथेन संकल्प’ क्यों महत्वपूर्ण है ?

Climate change Environment Nature

Know, Why is the ‘Global Methane Resolution’ important? 2021 United Nations Climate Change Conference/Location नई दिल्ली, 03 नवंबर 2021: स्कॉटलैंड के ग्लासगो में संयुक्त राष्ट्र COP26 जलवायु सम्मेलन (UN COP26 Climate Conference in Glasgow, Scotland) के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जलवायु परिवर्तन से निपटने के पाँच सूत्रीय एजेंडा प्रस्तुत किए जाने के दूसरे दिन मीथेन उत्सर्जन में कटौती …

Read More »

उत्सर्जन में कमी के लक्ष्यों की विश्वसनीयता बढ़ाना है एसबीटीआई के नए नेट जीरो मानक का उद्देश्य

Climate change Environment Nature

एसबीटीआई के नए नेट जीरो मानक का उद्देश्य क्या है? (What is the purpose of SBTI’s new Net Zero standard?) SBTI’s new net zero standard aims to enhance credibility of emissions reduction targets तमाम देश और कंपनियां सफल जलवायु कार्रवाई के लिए महत्वपूर्ण नेट जीरो लक्ष्यों के लिए प्रतिबद्ध हैं। ख़ास तौर से इसलिए क्योंकि पेरिस समझौते की वार्ताओं के …

Read More »

G20 देशों की सरकारों को 1.5 संरेखित जीवन शैली को सक्षम करना चाहिए : हॉट ऒर कूल रिपोर्ट

Governments in G20 countries must enable 1.5 aligned lifestyles इन नौ G20 देशों में जनजीवन से जुड़े कार्बन फुटप्रिंट हैं बहुत अधिक मंगलवार 5 अक्टूबर, बर्लिन : एक जनहित थिंक टैंक हॉट ऒर कूल इंस्टीट्यूट (Hot or Cool Institute) द्वारा किये गये एक नए शोध में पाया गया है कि G20 समूह में विश्लेषण किए गए सभी देशों ने 2050 के …

Read More »

600 कंपनियों ने किया जी-20 का आह्वान, कहा बंद हो कोयला बिजली का वित्तपोषण

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों समेत सैकड़ों कारोबारी नेतृत्वकर्ताओं ने G-20 और COP-26 की बेहद महत्वपूर्ण बैठकों में अपने-अपने राष्ट्रीय जलवायु लक्ष्यों (national climate goals) को और मजबूत करने के लिए सामूहिक रूप से सहमति देने की अपील की है। 600 companies called for G-20, said that financing of coal power should be stopped नई दिल्ली, 02 अक्तूबर 2021. जी-20 …

Read More »

सौर ऊर्जा द्वारा स्वच्छ हाइड्रोजन और अमोनिया उत्पादन की राह हुई आसान

हाइड्रोजन और अमोनिया दोनों के उत्पादन में बड़ी मात्रा में ऊष्मीय ऊर्जा की खपत (thermal energy consumption) होती है और ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन (greenhouse gas emissions) भी होता है। स्वच्छ ऊर्जा का स्रोत है हाइड्रोजन | Hydrogen is the source of clean energy Clean hydrogen and ammonia production made easy by solar energy नई दिल्ली, 30 सितंबर 2021: हाइड्रोजन …

Read More »

मौजूदा वैश्विक जलवायु लक्ष्यों के साथ 16 फीसदी बढ़ेगा उत्सर्जन​​​​​

Emissions will increase by 16 percent with current global climate targets.विकसित देशों की ज़िम्मेदारी है कि वे विकासशील देशों में जलवायु कार्रवाई के लिए धन मुहैया करें Emissions will increase by 16 percent with current global climate targets संयुक्त राष्ट्र की जलवायु मामलों की संस्था UNFCCC की ताज़ा रिपोर्ट (The latest report of the UN’s climate affairs body UNFCCC) निराश …

Read More »

‘खतरे में’ है ग्रेट बैरियर रीफ़, जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग बढ़ा रहे परेशानी

 The Great Barrier Reef is ‘in danger’, climate change and global warming are increasing problems बात दुनिया भर में प्रति व्यक्ति ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन की हो तो इस उत्सर्जन के उच्चतम स्तरों वाले देशों में ऑस्ट्रेलिया एक प्रमुख नाम है। उत्सर्जन के इस स्तर का सीधा असर ऑस्ट्रेलिया की विश्वप्रसिद्ध धरोहर ग्रेट बैरियर रीफ़ (great barrier reef in hindi) पर …

Read More »

कुल वैश्विक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के 76फीसदी के लिए अकेले G20 देश ज़िम्मेदार

 G20 countries alone are responsible for 76% of total global greenhouse gas emissions नई दिल्ली, 12 जुलाई 2021. अकेले चीन वैश्विक उत्सर्जन के एक चौथाई से ज़्यादा के लिए ज़िम्मेदार, मगर सभी G20 देशों को निभानी होगी महत्वपूर्ण भूमिका क्योंकि दुनिया के कुल ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन के 76 फीसद हिस्से के लिए अकेले G20 देश ज़िम्मेदार हैं, इसलिए अगर इन …

Read More »

जलवायु निष्क्रियता की कीमत नेट ज़ीरो होने के खर्चे से कहीं ज़्यादा

Climate change Environment Nature

Climate Inactivity Costs More Than Net Zero Costs नई दिल्ली, 01 अप्रैल 2021. जलवायु कार्रवाई (Climate action) को रोकने या टालने के इरादे से राजनेता अक्सर तर्क देते हैं कि इसमें बहुत अधिक लागत आएगी। कभी-कभी वे उन आर्थिक मॉडलों का उल्लेख करते हैं जो 1990 के दशक से जलवायु क्रिया के विभिन्न स्तरों बनाम वार्मिंग के विभिन्न स्तरों के …

Read More »

पर्यावरण की बेहतरी के नाम पर कार्बन न्यूट्रल एलएनजी कहीं छलावा तो नहीं?

Environment and climate change

Is carbon neutral LNG sparring in the name of betterment of the environment? आजकल ऑयल और गैस के क्षेत्र में एक नया ट्रेंड जोर पकड़ रहा है। और ये है कार्बन न्यूट्रल एलएनजी का। शेल और गैज़प्रोम जैसी कम्पनियों ने यूरोप में पहला कार्बन न्यूट्रल एलएनजी कार्गो बेचने का दावा भी किया है। उधर जापान में 15 गैस खरीदारों ने …

Read More »

सिकुड़ती प्रकृति, वन्यजीव एवं पक्षियों की दुनिया

nature meaning in hindi,nature news in Hindi,nature news articles,nature news and views, nature news latest,प्रकृति अर्थ हिंदी में, प्रकृति समाचार हिंदी में, प्रकृति समाचार लेख, प्रकृति समाचार और विचार, प्रकृति समाचार नवीनतम,

World of shrinking nature, wildlife and birds मनुष्य इस दुनिया का एक हिस्सा है या उसका स्वामी? वर्तमान परिप्रेक्ष्य में यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न बन गया है क्योंकि मनुष्य के कार्य-व्यवहार से ऐसा मालूम होने लगा है, जैसे इस धरती पर जितना अधिकार उसका है, उतना किसी और का नहीं है- न वृक्षों का, न पशुओं का, न पक्षियों …

Read More »

मानव इतिहास का सबसे गर्म साल था 2020

Climate change Environment Nature

2020 tied with 2016 as the hottest year on record फ़िलहाल मानव इतिहास में अब तक का सबसे गर्म साल 2016 को माना जाता था। लेकिन अब, 2020 को भी अब तक का सबसे गर्म साल कहा जायेगा। The Copernicus Climate Change Service, the EU’s Earth Observation Programme, has just announced that 2020 was the warmest year ever recorded tying …

Read More »

अंततः वैश्विक अर्थव्यवस्था को संवारता दिख रहा है पेरिस समझौता

No country in the world is right to meet the goals of the Paris Agreement

Finally, the Paris Agreement is seen to be helping the global economy India’s journey under the Paris Agreement, 2015-2020 कोविड महामारी के बीच पर्यावरण (environment), जलवायु परिवर्तन (Climate change), और अर्थव्यवस्था पर इन सबके असर के हवाले से एक बढ़िया ख़बर आ रही है। और खबर ये है कि पेरिस समझौते का असर शामिल देशों की कथनी और करनी में …

Read More »

पर्यावरण अनुकूल निवेश ला सकते हैं उत्सर्जन में 25 फीसद तक कमी : संयुक्त राष्ट्र

Climate change Environment Nature

UNEP’s global analysis looks at the gap between the actions we’re taking and what’s required to keep the climate within agreed thresholds. “UNEP’s Emissions Gap Report 2020” is the leading analysis on the gap between anticipated emissions levels in 2030 compared to levels consistent with a 2°C/1.5°C target How do we stop climate change | हम जलवायु परिवर्तन को कैसे …

Read More »

पेरिस समझौते के लक्ष्यों को पूरा करने की कसौटी पर भारत समेत खरा नहीं है दुनिया का कोई भी मुल्क

No country in the world is right to meet the goals of the Paris Agreement

क्लाइमेट चेंज परफॉरमेंस इंडेक्स 2021: भारत दस सबसे अव्वल देशों में शामिल No country in the world is right to meet the goals of the Paris Agreement पेरिस समझौते के पांच साल बाद भी दुनिया का कोई भी मुल्क इसके लक्ष्यों को पूरा करने की कसौटी पर खरा नहीं है। हालाँकि विश्लेषण किए गए 57 देशों में से आधे से …

Read More »

अक्षय ऊर्जा अपनाने से वर्ष 2050 तक 50 लाख उत्‍तर भारतीयों को मिल सकता है रोजगार – रिपोर्ट

Environment and climate change

नयी दिल्‍ली, 8 सितम्‍बर, 2020: फिनलैंड की लापीनराटा-लाटी यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्‍नॉलॉजी– lappeenranta-lahti university of technology finland (एलयूटी- LUT University) और दिल्‍ली स्थित क्‍लाइमेट ट्रेंड्स (Climate Trends based in Delhi) के आज जारी एक अध्‍ययन में दावा किया गया है कि वर्ष 2050 तक उत्‍तर भारत की ऊर्जा प्रणाली (North India’s energy system) को 100 फीसद अक्षय ऊर्जा आधारित प्रणाली में …

Read More »

मोदी सरकार की कोयला नीति को करारा झटका, यूएन महासिव ने कहा भारत को अब कोयला में नये निवेश करने की ज़रूरत नहीं

एंटोनियो गुटेरेस संयुक्त राष्ट्र के महासचिव, António Guterres Secretary-General of the United Nations

UN Chief Urges India To Kill Fossil Fuel Subsidies, End Coal Pledges After 2020 नई दिल्ली, 28 अगस्त 2020. भारत में अगस्त महीने का यह आख़िरी हफ़्ता जलवायु परिवर्तन के ख़िलाफ़ छिड़ी जंग (Rust against climate change) की दशा और दिशा निर्धारित करने की नज़र से बेहद महत्वपूर्ण साबित हो रहा है। जहाँ आज, 28 अगस्त, को संयुक्त राष्ट्र महासचिव …

Read More »

फॉसिल फ्यूल उद्योग में नेट-ज़ीरो प्रतिबद्धताएँ

Coal

Net-zero commitments in the fossil fuel industry नई दिल्ली, 18 अगस्त 2020. बढ़ते निवेशक और खराब वित्तीय प्रदर्शन ने यूरोपीय तेल कंपनियों को अधिक महत्वाकांक्षी नेट ज़ीरो (यानी अपने कार्बन उत्सर्जन को शून्य करने) लक्ष्यों को अपनाने के लिए प्रेरित किया है। नेट ज़ीरो योजनाओं की घोषणा छह सबसे बड़े यूरोपीय तेल प्रमुखों – शेल (Shell) , बीपी (BP), टोटल, …

Read More »