Home » Tag Archives: जगदीश्वर चतुर्वेदी

Tag Archives: जगदीश्वर चतुर्वेदी

जाति को नष्ट कैसे करें ?

jagdishwar chaturvedi

How to destroy caste? जितने बड़े पैमाने हम जाति-जाति चिल्लाते रहते हैं, उसकी तुलना में यदि आधा समय भी नागरिक चेतना अर्जित करने, जाति से नागरिक के रूप में तब्दील करने पर खर्च किया होता तो भारत का नक्शा ही बदल जाता। सामाजिक विकास में सबसे बड़ा रोड़ा है जाति चेतना जाति चेतना सामाजिक विकास में सबसे बड़ा रोड़ा है। …

Read More »

पंडित जवाहरलाल नेहरू और धर्मनिरपेक्षता की चुनौतियाँ

jawahar lal nehru

Pandit Jawaharlal Nehru and the challenges of secularism in Hindi लोकतंत्र बचाना है तो क्या करना होगा? साम्प्रदायिकता के औजार क्या हैं? भारत जब आजाद हुआ तो उसकी नींव साम्प्रदायिक देश-विभाजन पर रखी गयी। फलतः साम्प्रदायिकता हमारे लोकतंत्र में अंतर्गृथित तत्व है। लोकतंत्र बचाना है तो इसके खिलाफ समझौताहीन रवैया रखना होगा। साम्प्रदायिकता के औजार हैं आक्रामकता और मेनीपुलेशन। इसने …

Read More »

आरएसएस-मोदी ने लोकतंत्र व स्वतंत्रता को हमेशा के लिए नष्ट कर दिया

the prime minister, shri narendra modi addressing at the constitution day celebrations, at parliament house, in new delhi on november 26, 2021. (photo pib)

लोकतंत्र के ज़रिए चुनकर आए मोदी ने जनता से लोकतंत्र और सुशासन ही छीन लिया आरएसएस-मोदी पाकर लोकतंत्र खोया ! नरेन्द्र मोदी लोकतंत्र के ज़रिए चुनकर आए। लोकतंत्र-लोकतंत्र ! सुशासन-सुशासन ! का नारा देकर आए और विगत आठ सालों में उन्होंने भारत की जनता से लोकतंत्र और सुशासन ही छीन लिया। अब देश में मोदी का शासन है, आरएसएस का …

Read More »

मीर तक़ी ‘मीर’ और आत्मकथा लेखन की चुनौतियां

jagdishwar chaturvedi

Mir Taqi ‘Mir’ and the Challenges of Writing Autobiography इन दिनों आत्मकथा पर बहुत बातें हो रही हैं,लेखक-लेखिकाएं आत्मकथा लिखने में व्यस्त हैं, आत्मकथा की परंपरा और विधागत संस्कारों को अधिकतर आत्मकथा लेखक जानते ही नहीं हैं, उनके आत्मकथा लेखन में निजी जीवन इस कदर छाया हुआ है कि आपको लेखक का समकालीन समाज और इतिहास नजर ही नहीं आएगा। …

Read More »

कश्मीर फाइल एक्सपोज्ड : द कश्मीर फाइल्स ट्रू फाइल क्यों नहीं है?

कश्मीर फाइल, जनसंहार और फिल्म मीडियम

कश्मीर फाइल एक्सपोज्ड Kashmir File exposed कश्मीर फाइल, जनसंहार और फिल्म मीडियम Kashmir File, Massacre and Film Medium बुनियादी तौर पर प्रोपेगंडा फिल्म है। द कश्मीर फाइल्स ट्रू फाइल क्यों नहीं है? कश्मीरी मुसलमानों ने आतंकवादियों से कैसे लोहा लिया? कैसे मुसलमानों ने आतंकवादियों को घरों में घुसने से रोका? जस्टिस बीएम ताकुंडे की रिपोर्ट में क्या कहा गया? कश्मीर …

Read More »

यूपी में बाबा माने मोदीतंत्र की पांच शैतानी आयतें

up men baba

प्रो. जगदीश्वर चतुर्वेदी का संवाद चारण और प्रोटेस्ट राइटर में फर्क यूपी में का बा, यूपी में बाबा मोदीतंत्र की चर्चा मोदी ने क्या काम किया है? अमित शाह कौन सी भाषा बोल रहे हैं? देश कैसे चलता है? देश नीयत से नहीं नीतियों से चलता है मोदीतंत्र की शैतानी आयतें मोदीतंत्र में कानून का भय नहीं होता। नेहा सिंह …

Read More »

आरएसएस का मिथकीय माया संसार

jagdishwar chaturvedi

आरएसएस की सबसे बड़ी वैचारिक मुश्किल क्या है? | What is the biggest ideological difficulty of RSS? आरएसएस की सबसे बड़ी वैचारिक मुश्किल यह है कि वह मिथकों को ही जीवन का सर्वस्व मानता है। समस्त सांस्कृतिक-राजनीतिक-आर्थिक समस्याओं के समाधान मिथकों में ही खोजता है। संघियों का दिमाग या तो विकसित नहीं है या फिर धूर्त है ! सामाजिक विकास …

Read More »

मिर्जा ग़ालिब (पहला एपिसोड) : वर्चुअल युग में दस्तम्बू के मूल्यांकन से जुड़े नए सवाल

mirza ghalib (1st episode) new questions related to the assessment of dastambu in the virtual era.

मिर्जा ग़ालिब (पहला एपिसोड) : वर्चुअल युग में दस्तम्बू के मूल्यांकन से जुड़े नए सवाल। प्रोफेसर जगदीश्वर चतुर्वेदी का संवाद Mirza Ghalib (1st episode) : New questions related to the assessment of Dastambu in the virtual era. Dialogue of Professor Jagdishwar Chaturvedi in Hindi दस्तम्बू क्या है? मिर्ज़ा गालिब की डायरी में 1857 के स्वतंत्रता संग्राम का चित्रण. गालिब को …

Read More »

देश कष्ट में है लेकिन मोदी जी मस्त! मोदीजी का कोई बाल बांका नहीं कर पाएगा, क्योंकि…

Narendra Modi flute

मोदीजी का कोई बाल बांका नहीं कर पाएगा, क्योंकि… हर चीज हास्य और एब्सर्ड में तब्दील कर रहे हैं पीएम! देश कष्ट में है लेकिन मोदी जी मस्ती और परपीड़क आनंद ले रहे हैं! वाह मोदी आह मोदी !  मोदीजी जब भी बोलते हैं अद्भुत बोलते हैं, ऐसा तो पहले कभी किसी ने नहीं बोला, निर्मल विचार, निर्मल मन, निर्मल …

Read More »

बंगाल में हिंसा की नींव रखी है मोदी के प्रचार अभियान ने, हिंसा का गोमुख है मोदी गैंग और आरएसएस!

mamata modi

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव बाद हिंसा | Violence after West Bengal assembly elections मोदी-अमित शाह सोनार बांग्ला बनाकर दिल्ली आ गए हैं। अब बंगाल नहीं जाएंगे, अब तक भाजपा के पांच कार्यकर्ताओं की गुंडों ने हत्या कर दी, जगह-जगह भाजपा के लोगों पर हमले हो रहे हैं। क्रमशः गुंडों की हिंसा बढ़ रही है। सवाल यह है अमित शाह-मोदी अपने …

Read More »

देश को किसने बनाया मजदूरों ने या हरामखोरों ने ?

may day

मई दिवस पर विशेष- Special on may day in Hindi मीडिया में आए दिन हर तरह के पर्व और उत्सव पर कवरेज मिलेगा लेकिन मजदूर दिवस पर मजदूरों के ऊपर, मजदूरों की बस्ती या मजदूरों की समस्याओं पर कवरेज नहीं मिलेगा। मीडिया को मजदूरों से इतना परहेज और घृणा क्यों है? | Why does the media have so much disdain …

Read More »

वैक्सीन श्वेतपत्र जारी करे मोदी सरकार, मास्क मुहैय्या कराए बिना गीता के ज्ञान की तरह मास्क ज्ञान देना बंद करे

narendra modi

Modi government to issue vaccine whitepaper जिन गरीबों के पास कभी एक रुमाल नहीं देखा, वे कभी रुमाल नहीं खरीद पाते, उनसे मोदी सरकार कह रही है मास्क लगाओ तब घर के बाहर निकलो। इस बुद्धिहीन सरकार को कौन समझाए कि वह गरीबों की झोपड़ी में जाकर हर एक को पहले मास्क मुहैय्या कराए। भूखे लोग कहाँ जाएँ ? मास्क …

Read More »

मोदी मोह माने बाजार की तबाही

Narendra Modi Dr. Manmohan Singh

Modi’s fascination is the destruction of the market Understand what is the difference in the market between Manmohan Singh’s era and Modi’s era. मनमोहन सिंह के युग और मोदी युग में बाजार में क्या अंतर है, इसे समझें। मनमोहन युग में फ्रिज लेने गया तो तीन-चार घंटे बाद घर पर सप्लाई हो गई। कल फिर फ्रिज लेने गया तो हैरत …

Read More »

मोदी सरकार के हिन्दी प्रेम के खतरे और सीमाएं

Narendra Modi Addressing the nation from the Red Fort

Dangers and limitations of Modi government’s Hindi love हिंदी दिवस पर विशेष – Special on Hindi Diwas लेखकों-बुद्धिजीवियों में एक बड़ा तबका है जो हिन्दी के नाम पर सरकारी मलाई खाता रहा है। इनमें वे लोग भी हैं जो कहने को वाम हैं, इनमें वे भी हैं जो सोशलिस्ट हैं, ये सब मोदी के हिन्दीप्रेम के बहाने सरकारी मलाई के …

Read More »

बोलते नहीं सिहरन पैदा करते हैं जगदीश्वर चतुर्वेदी, उनकी बातें चेतना की गहराई में धँस जाती हैं

Jagadishwar Chaturvedi जगदीश्वर चतुर्वेदी। लेखक कोलकाता विश्वविद्यालय के अवकाशप्राप्त प्रोफेसर व जवाहर लाल नेहरूविश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष हैं। वे हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

जगदीश्वर चतुर्वेदी : व्यक्तित्व एवं विचारधारा | Jagdishwar Chaturvedi: Personality and Ideology Professor Jagadishwar Chaturvedi is an example for the education world आज हम ऐसे दौर में हैं जहां ज्ञानवान, ईमानदार, बेबाक, समय के पाबंद, विद्यार्थियों के साथ उदार एवं मित्रवत व्यवहार रखने वाले, समस्या के समय विद्यार्थियों को सही परामर्श देने वाले मर्मज्ञ शिक्षकों का घोर अभाव है। ऐसे …

Read More »

रामचरित मानस कालजयी रचना है आप इसकी जितनी आलोचना करें, इससे उसका दर्जा घटने वाला नहीं

Sant Goswami Tulsidas

सनातनी मथुरा और तुलसीदास | Sanatani Mathura and Tulsidas यह जनश्रुति है तुलसीदास कभी मथुरा आए थे (Tulsidas ever came to Mathura) और मथुरा के किसी प्रसिद्ध मंदिर में दर्शन करने गए, वहां श्रीकृष्ण का बड़ा सुंदर श्रृंगार किया गया था, तुलसीदास उस मूर्ति को देखकर विमुग्ध हो गए। वे श्रीकृष्ण के आनंद में डूब गए, लेकिन भगवान के सामने …

Read More »

ज्योतिषशास्त्र की राजनीति जानिए

ज्योतिषी के तर्क और अविवेकवाद | Astrologer’s Logic and Indiscretion ज्योतिष में फलादेश के नियम | Fundamental principles of astrology in hindi फलादेश की संरचना में अविवेकवाद पृष्ठभूमि में रहता है। सतह पर जो भविष्यफल होता है वह तार्किक प्रतीत होता है। भविष्य में आने वाले खतरों की भविष्यवाणियां इस तरह की जाती हैं कि वे पाठक को भयभीत न …

Read More »