कोराना काल में नीरो की बंशी

narendra modi flute

Bansuri of Nero in the Corana era प्रेरणा अंशु मई अंक का अत्यंत प्रासंगिक सम्पादकीय | Very relevant editorial of Prerna Anshu May issue   पिछली 15 मार्च को जब हम लोग प्रेरणा-अंशु के वार्षिक समारोह व मास्साब की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर पर उनकी पुस्तक ‘गाँव और किसान‘ के विमोचन का कार्यक्रम आयोजित कर

कोरोना के कहर के बीच : तब्लीगी जमात से सिर पर ठीकरा फोड़ने की कवायद

डॉ. राम पुनियानी (Dr. Ram Puniyani) लेखक आईआईटी, मुंबई में पढ़ाते थे और सन्  2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं

ARTICLE IN HINDI BY DR RAM PUNIYANI – CORONA AND Tablighi Jamaat   इस समय भारत पूरी तरह से बंद है. सरकार, जनता और सामाजिक व अन्य संगठन, कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं. देश में अब तक लगभग 7,500 लोग इस जानलेवा बीमारी से ग्रस्त हो चुके हैं

अगर मोदी सरकार का लक्षित राजनीतिक निवेश सफल रहा, तो स्वास्थ्य कर्मचारियों के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे

PM Modi Speech On Coronavirus

कुछ चतुर उक्तियों का उपयोग करके जनता को बार-बार बेवकूफ बनाया है। भारतीयों को घर की लाइट बंद करके, मोमबत्तियाँ जलाकर या रविवार, नौ अप्रैल को  नौ बजे मोबाइल फोन की लाइट जलाकर कोरोना वायरस को हराने के लिए अपना सामूहिक दृढ़ संकल्प दिखाना होगा। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कल दिया गया एक वीडियो

कोरोना एक, मगर कारण अनेक हैं

Corona virus COVID19, Corona virus COVID19 image

Corona is one, but the reasons are many घर हो, चाहे देश, अपनी आर्थिक और सामाजिक स्थिति, सांस्कृतिक परंपराओं, भौतिक और मानव संसाधनों की क्षमताओं और आमजन में स्वास्थ्य व स्वच्छता को लेकर प्रचलित व्यवहार का आकलन कर निर्णय लेना ही दूरदर्शी सोच का परिचायक है। इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना (कोविड-19) वायरस के कहर

यह दुनिया के सबसे बड़े नरसंहार या सबसे बड़ी त्रासदी का ऐलान है, लॉकडाउन के साथ हमें #हंगरआउट भी चाहिए मोदीजी!

PM Modi Speech On Coronavirus

This is the announcement of the world’s biggest massacre or the biggest tragedy, along with the lockdown we need #HungeroutModiji! लॉकडाउन के साथ साथ हमें #हंगरआउट  भी चाहिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने आज आठ बजे फिर ऐलान फ़रमाया है कि आज ही रात बारह बजे से अगले इक्कीस दिन तक सम्पूर्ण देश में #लॉकडाउन से

मोदी जी, देश करोना से लड़ेगा भी और इसे हराएगा भी, कांग्रेस ने पूछे सवाल जिनके उत्तर पीएम के झोले में नहीं हैं

congress

Modi ji, the country will fight and do it too, the Congress asked the questions, whose answers are not in the PM’s bag नई दिल्ली, 24 मार्च 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा है कि आज (मंगलवार) रात 12 बजे से 21 दिन के लिए पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होगा।

अगर घर ही लक्ष्मण-रेखा है, तो मोदीजी किसान अपने खेत जा सकता है कि नहीं ? ये देश 21 दिन के लॉकडाउन के लिये तैयार नहीं

Narendra Modi in anger

If the house itself is Laxman-Rekha, then Modiji farmer can go to his field or not? This country is not ready for 21 days lockdown ये देश 21 दिन के #लाकडाउन के लिये तैयार नहीं है। सबसे बड़ी बात, ये सरकार 130 करोड़ जनता को, रोज़मर्रा को सुविधायें मुहैया कराते हुए, दिहाड़ी मज़दूरों तक बुनियादी

देश में 21 दिन कर्फ्यू जैसा लॉकडाउन तो कर दिया मोदीजी, लेकिन घर में कैद गरीब खाएगा क्या, यह भी तो बताते

PM Narendra Modi at 100 years of ASSOCHAM meet

Modiji made a lockdown like a curfew for 21 days in the country प्रधानमंत्री जी, देश आपसे सुनना चाहता था कि पहले से रसातल में पहुंची देश की आर्थिक स्थिति और जमींदोज न हो जाए, इसके लिए क्या कर रही है आपकी सरकार ? तसलीम खान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश को आज रात

प्रधानमंत्री ने फिर पिलाया भाषण, आज रात 12 बजे से पूरे देश में 21 दिन का पूर्ण लॉकडाउन

PM Modi Speech On Coronavirus

Prime Minister again feeds speech, full lockdown of 21 days from 12 o’clock tonight नई दिल्ली, 24 मार्च 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा है कि आज (मंगलवार) रात 12 बजे से 21 दिन के लिए पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का साइकिल तोड़ने के

देश भर में थाली पिटवाने, ताली बजवाने के बाद मोदी बोले लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं

PM Modi Speech On Coronavirus

After beating the plate, clapping all over the country, Modi said that many people are still not taking the lockdown seriously. नई दिल्ली, 23 मार्च 2020. जनता कर्फ्यू का आह्वान करने के बाद थाली पीटने और ताली बजाने का आव्हान कर पहले तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसे अपनी अति विराट उपलब्धि मान रहे थे, लेकिन