Home » Tag Archives: जलवायु

Tag Archives: जलवायु

विश्व स्तर पर नहीं हो रहा स्वच्छ ऊर्जा संक्रमण : नवीकरणीय 2022 वैश्विक स्थिति रिपोर्ट (आरईएन21)

Renewable energy

नवीकरणीय ऊर्जा के मामले में पूरे दुनिया में भारत  तीसरे स्थान पर है। नई दिल्ली, 16 जन 2022. रिन्यूएबल्स 2022 ग्लोबल स्टेटस रिपोर्ट (the Renewables 2022 Global Status Report REN21 in Hindi) की मानें तो वैश्विक स्तर पर क्लीन एनर्जी ट्रांज़िशन नहीं हो रहा है, जिससे यह संभावना भी नहीं बचती है कि दुनिया इस दशक के अंत तक महत्वपूर्ण …

Read More »

व्हेल मछली : दुनिया का सबसे बड़ा स्तनधारी जीव विलुप्ति के कगार पर !

fish

व्हेल मछली के बारे में जानकारी (information about whale fish in Hindi) प्रकृति कितनी बड़ी नियंता है जो अपने अनथक और सतत रूप से करोड़ों सालों से इस धरती रूपी प्रयोगशाला में स्थान, पर्यावरण और जलवायु के अनुसार उसने इसके लगभग हर भाग में करोड़ों-अरबों तरह के विभिन्न रंग-रूपों वाले अतिसूक्ष्म बैक्टीरिया से लेकर इस पृथ्वी के अब तक की …

Read More »

बॉन जलवायु सम्मेलन : आगामी COP27 की कर रहा है ज़मीन तैयार

bonn climate conference in hindi

The Bonn climate conference is preparing the ground for the upcoming COP नई दिल्ली, 14 जून 2022: फिलहाल जब आप और हम भारत में भीषण गर्मी से त्रस्त हैं, जर्मनी के बॉन शहर में दुनिया भर के तमाम देश देश एक बेहतर कल के लिए अपनी जलवायु प्रतिक्रिया पर चर्चा और सुधार (Discussing and improving climate response) करने के लिए …

Read More »

जलवायु संकट : कोई सार्वभौमिक समाधान नहीं, मगर अभी भी बाक़ी है उम्मीद

sticker of climate crisis attached in metal

There is no universal solution to the climate crisis, but there is still hope… The world is drifting towards a climate-induced catastrophe in its sleep... आईपीसीसी की ताजा रिपोर्ट (IPCC latest report) इस बात का साक्ष्य देती है कि दुनिया प्रदूषण उत्‍सर्जन न्‍यूनीकरण के लक्ष्‍यों (pollution emission reduction goals) को हासिल कर पाने की राह पर नहीं है। इस मार्ग …

Read More »

पहली ग्‍लोबल सिटिजंस असेम्‍बली की हुई शुरुआत

हाल ही में शुरू हो रही ग्‍लोबल असेम्‍बली का उद्देश्‍य धरती पर रहने वाले हर व्‍यक्ति को वैश्विक सुशासन में हिस्‍सा लेने के लिये एक व्‍यावहारिक रास्‍ता उपलब्‍ध कराना है। ग्‍लोबल असेम्‍बली के सदस्‍य सीओपी26 जलवायु सम्‍मेलन में नीति निर्धारकों के सामने अपने विचार प्रस्‍तुत करेंगे। First Global Citizens Assembly inaugurated COP26 के संदर्भ में वैश्विक सुशासन के लिये नयी …

Read More »

राहुल गांधी एक उम्मीद का नाम है जिसका अर्थ उम्मीद ही होना चाहिए

 यह तो नहीं हो सकता है कि राहुल गांधी दिल्ली में ‘क्रोनी कैपिटलिस्ट’ की निशानदेही करें और उनके एक मुख्यमंत्री क्रोनी कैपिटलिस्ट की सेवा में आतुर दिखें। Rahul Gandhi is a hope name which should mean hope एक प्रखर छात्र नेता रहे और अब कांग्रेस के मौजूदा नेतृत्व के करीबी सलाहकार संदीप सिंह ने आज एक ट्वीट में राहुल गांधी …

Read More »

महाराष्ट्र के 43 शहर और शहरी समूह हुए रेस टू ज़ीरो में शामिल

Climate change Environment Nature

43 cities and urban agglomerations in Maharashtra join the race to zero नई दिल्ली, 27 सितंबर 2021: इस साल की शुरुआत में, अपनी जलवायु कार्य योजना (climate action plan) को मज़बूत करने के लिए जलवायु समूह के अंडर2 गठबंधन में शामिल होने के बाद अब महाराष्ट्र के पर्यावरण और पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे ने एक कार्यक्रम में घोषणा की है …

Read More »

बिना मानसून देवभूमि नरक है

 Devbhoomi without monsoon is hell पलाश विश्वास शुभ सकाल। लगातार चौथी रात बिजली कटौती के कारण सो नहीं सके। बारिश न होने से खेतों को पानी चाहिए धन के लिए। बिजली के बिना सिंचाई अब होती नहीं। नदियां मार दी गईं। तालाब, कुंए और नहरें खत्म। गर्मी बढ़ती जा रही है। बादल बरस नहीं रहे। जलवायु और मौसम की मार …

Read More »

नयी नीतियां बनाने के साथ वर्तमान नीतियों का क्रियान्‍वयन भी जरूरी : विशेषज्ञ

health impact

Along with making new policies, implementation of existing policies is also necessary: Expert मुंबई, 2 मार्च 2021.. विशेषज्ञों, सिविल सोसायटी तथा महाराष्ट्र के पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग (Department of Environment and Climate Change of Maharashtra) के अधिकारियों ने मंगलवार को अपनी तरह के पहले वर्चुअल सार्वजनिक विचार-विमर्श के दौरान राज्य की हवा की गुणवत्ता में सुधार के लिए विस्तृत सुझाव दिए। ज्यादातर विशेषज्ञों ने माना …

Read More »

ग्लोबल सिटीजन असेंबली : जनता का साथ देगा जलवायु परिवर्तन को मात

Climate change Environment Nature

Global Citizen Assembly Supporting the public will defeat climate change अपनी तरह की एक अनूठी पहल के अंतर्गत, स्कॉटलैंड में अगले साल होने वाली COP26 क्लाइमेट समिट (COP26 Climate Summit) से पहले देश के नागरिकों को ग्लोबल सिटीजन असेंबली में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। इस पहल का उद्देश्य पूरी दुनिया के करोड़ों लोगों को एक साथ लाकर …

Read More »

ब्रिटेन में अगले दस साल ही बिक पाएंगी नई पेट्रोल/डीज़ल कार

भारतीय शेयर बाजार,Indian stock market,बंबई स्टॉक एक्सचेंज की ताजा खबर,Latest news of Bombay Stock Exchange,National Stock Exchange's latest news,Share Market Today, शेयर बाजार आज बंद, व्यापार, शेयर बाजार, वाणिज्य,Trade, stock exchange, commerce,

2030 तक जीवाश्म ईंधन को ब्रिटेन कर देगा बे ‘कार’! The UK to ban the sale of new diesel and petrol cars by 2030 By 2035 all-new cars, heating systems & major investments must be zero carbon -By 2021 the Treasury should review all investment decisions to align with net-zero –Govt adaptation teams should start making plans for a 4C …

Read More »

आधुनिक खेती ने खाद्य उत्पादन को ही जलवायु के लिए ख़तरा बना दिया : शोध

कृषि समाचार,agriculture newspaper articles,articles on agriculture in india,agriculture in india today,agriculture in india today in hindi,krishi news in hindi,Live Updates on Agriculture,Know about कृषि in Hindi, Explore कृषि with Articles,कृषि जगत से जुडी हुई ताजा ख़बरें,agriculture news in hindi,krishi latest news,

Modern farming has made food production a threat to climate: research नई दिल्ली, 09 अक्तूबर 2020. नेचर पत्रिका में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक नाइट्रोजन फ़र्टिलाइज़र जलवायु के लिए इस कदर ख़तरा बन गए हैं कि इनके चलते पेरिस समझौते के तहत जलवायु से जुड़े लक्ष्य पूरे होते नहीं दिखते। अमोनिया की खोज : वरदान या पूरी मानवजाति के लिए …

Read More »

नेट जीरो होने की प्रतिबद्धता सूची साल भीतर हुई दोगुनी

Environment and climate change

Momentum towards zero emissions accelerates alongside Climate Week नई दिल्ली, 22 सितंबर 2020. कोविड-19 (COVID-19) ने जिस तरह पूरी दुनिया को बेबस कर तमाम अर्थव्यवस्थाओं को बर्बाद किया है, उसके मद्देनज़र तमाम देशों और बड़े उद्योगपतियों ने अंततः प्रकृति के आगे सर झुका ही दिया है। इस बात की पुष्टि इसी बात से होती है कि महामारी के आर्थिक असर …

Read More »