मोदी सरकार की कोयला नीति को करारा झटका, यूएन महासिव ने कहा भारत को अब कोयला में नये निवेश करने की ज़रूरत नहीं

एंटोनियो गुटेरेस संयुक्त राष्ट्र के महासचिव, António Guterres Secretary-General of the United Nations

UN Chief Urges India To Kill Fossil Fuel Subsidies, End Coal Pledges After 2020 नई दिल्ली, 28 अगस्त 2020. भारत में अगस्त महीने का यह आख़िरी हफ़्ता जलवायु परिवर्तन के ख़िलाफ़ छिड़ी जंग (Rust against climate change) की दशा और दिशा निर्धारित करने की नज़र से बेहद महत्वपूर्ण साबित हो रहा है। जहाँ आज, 28

14 देशों के 42आस्था संस्थाओं ( फेथ इंस्टिट्यूट) ने की जीवाश्म ईंधन से निवेश हटाने की घोषणा

Environment and climate change

Faith institutions from 14 countries announce divestment from fossil fuels बेलआउट (सुधार) और रिकवरी (राहत) पैकेज से प्रदूषक को सशक्त नहीं करना चाहिए अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, ब्राज़ील, कोलंबिया, एक्वदोर, इंडोनेशिया, आयरलैंड, इटली, केन्या, म्यांमार, स्पेन,यूनाइटेड किंगडम और यूनाइटेड स्टेट्स आदि 14 देशों के “ग्लोबल कैथोलिक क्लाइमेट मूवमेंट, ग्रीन फेथ , ग्रीन एंजलिकन चर्च, ऑपरेशन नूह