जितने वजनदार उतने ही विनम्र थे स्वयं प्रकाश

Swayam Prakash

जितने वजनदार उतने ही विनम्र थे स्वयं प्रकाश श्रद्धांजलि/ संस्मरण- स्वयं प्रकाश Tribute / Memoir to Swayam Prakash  मैं लम्बे समय तक कहानियों का नियमित पाठक रहा हूं जिसका शौक कमलेश्वर के सम्पादन के दौर में निकलने वाली सारिका से लगा था। सारिका के समानांतर कथा आन्दोलन के दौर में जो कहानियां लिखी गयीं, उनके बारे