Home » Tag Archives: जैव विविधता

Tag Archives: जैव विविधता

कारोबार पर जलवायु परिवर्तन का असर साफ़ ज़ाहिर, डीकार्बोनाइज़ेशन के लिए समय मुफ़ीद : सर्वे

The impact of climate change on business is clear, time for decarbonisation is favourable

The impact of climate change on business is clear, time for decarbonisation is favourable महाराष्ट्र के औद्योगिक समुदाय पर किए गए सर्वे में खुलासा Revealed in survey conducted on Maharashtra’s industrial community नई दिल्ली, 20 मार्च 2021. भारत का प्रवेश द्वार कहा जाने वाला राज्य महाराष्ट्र (Maharashtra) भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक और औद्योगिक केंद्रों में से एक है। इस …

Read More »

फुदकते हुए आंगन में लौट आओ गौरैया!

Sparrow, घरेलू गौरैया, Domestic sparrow,House sparrow,

विश्व गौरैया दिवस (20 मार्च) पर विशेष| world sparrow day in hindi नई दिल्ली, 19 मार्च 2021 : मानव जीवन प्रकृति के सह-अस्तित्व पर ही निर्भर है। प्रकृति सभी जीवों एवं वनस्पतियों के जीवन का आधार है। मानव, पशु-पक्षी,  सागर-सरिताएं, गिरि-कानन आदि सभी से मिलकर एक जैव-पारिस्थितिकी तंत्र निर्माण होता है। इस पारिस्थितिकी तंत्र में संतुलन (Balance in the ecosystem) …

Read More »

सिकुड़ती प्रकृति, वन्यजीव एवं पक्षियों की दुनिया

nature meaning in hindi,nature news in Hindi,nature news articles,nature news and views, nature news latest,प्रकृति अर्थ हिंदी में, प्रकृति समाचार हिंदी में, प्रकृति समाचार लेख, प्रकृति समाचार और विचार, प्रकृति समाचार नवीनतम,

World of shrinking nature, wildlife and birds मनुष्य इस दुनिया का एक हिस्सा है या उसका स्वामी? वर्तमान परिप्रेक्ष्य में यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न बन गया है क्योंकि मनुष्य के कार्य-व्यवहार से ऐसा मालूम होने लगा है, जैसे इस धरती पर जितना अधिकार उसका है, उतना किसी और का नहीं है- न वृक्षों का, न पशुओं का, न पक्षियों …

Read More »

जानिए जैव विविधता के संरक्षक राजस्थान के राज्य पुष्प रोहिड़ा (रोहेड़ा) के बारे में

Know Your Nature

Know all about Rohira Flower & Tree in Hindi | Know Your Nature रोही अर्थात रेगिस्तान के जंगल में पनपने के कारण ही इस वृक्ष का नाम Tecomella (रोहेड़ा) रहा होगा। Tecomella (रोहेड़ा) थार का रेगिस्तानी वृक्ष है। शुष्क और अर्ध शुष्क जलवायु क्षेत्र में इसका जीवन पनपता है। स्थानीय स्तर पर प्रचलित नाम Tecomella (रोहेड़ा) तथा वनस्पतिक नाम टेकोमेला …

Read More »

वैश्विक रवैये में बदलाव लाए बिना महामारियों के युग से बचना मुश्किल : विशेषज्ञ

Health News

Difficult to survive the era of epidemics without changing global attitudes: experts नई दिल्ली, 31 अक्तूबर 20202.  दुनिया के 22 शीर्ष विशेषज्ञों का दावा है कि अगरसंक्रामक बीमारियों से लड़ने के लिये वैश्विक रवैये में अगर आमूल-चूल बदलाव नहीं किये गये तो भविष्‍य में महामारियां जल्‍दी-जल्‍दी उभरेंगी। साथ ही वे ज्‍यादा तेजी से फैलेंगी, दुनिया की अर्थव्‍यवस्‍था को और ज्‍यादा …

Read More »

काजल की कोठरी : छतीसगढ़ में कोयला खदानों की लिस्ट बदली, लेकिन स्थिति जस की तस

Coal

Kajal cell: List of coal mines changed in Chhattisgarh, but the situation remains the same नई दिल्ली, 18 सितंबर 2020.  कोयले का खनन (Coal mining) काजल की कोठरी में जाने से कम नहीं। कुछ ऐसी ही स्थिति छतीसगढ़ में हो रही है। दरअसल जैव विविधता और पर्यावरण संरक्षण के नाम पर सरकार ने वहां खनन के लिए प्रस्तावित कोयला खण्डों …

Read More »

आंखों में आंखें डाल कर देखता है किसानों का मित्र संकटाग्रस्त मरुभूमि का रोबदार स्याहगोश

Know all about Caracal in Hindi | जानिए स्याहगोश के बारे में

प्रकृति में कई प्रकार के पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) हैं, जिनकी अपनी-अपनी जैव-विविधता (Biodiversity) के कारण एक विशिष्ट पहचान होती है। एक ऐसा ही पारिस्थितिकी तंत्र जो न केवल शुष्क होता है बल्कि उसमें वर्षा जल व आर्द्रता का भी अभाव होता है। दिन में इसका तापमान 52 डिग्री सेंटीग्रेड से ऊपर व रात्रि को शून्य से नीचे हो सकता है। …

Read More »

जीना है तो महासागरों को बचाना ही होगा

World Oceans Day is celebrated worldwide on June 8. जीवन में महासागरों के महत्व (Importance of oceans in life,) को समझते हुए पर हम पृथ्वीवासियों का ध्यान महासागरों के अस्तित्व को अक्षुण्ण बनाए रखने की ओर अवश्य ही जाना चाहिए। वर्तमान में मानवीय गतिविधियों का असर समुद्रों पर (The impact of human activities on the seas) भी दिखने लगा है। …

Read More »

विश्लेषण: ब्राजील, रूस भारत, इंडोनेशिया और मैक्सिको का पैसा प्रमुख प्रदूषकों को जा रहा है

Environment and climate change

Analysis : Brazil, Russia India, Indonesia and Mexico stimulus handing money to major polluters नई दिल्ली, 17 मई 2020 (अमलेन्दु उपाध्याय) : बीते दो महीने में दुनिया भर में लोगों ने कोविड-19 के जवाब में अभूतपूर्व सरकारी वित्तीय हस्तक्षेप देखे हैं। भारत को छोड़कर पूरी दुनिया में सरकारों की पहली प्राथमिकता अपने नागरिकों पर ध्यान केंद्रित करना रहा, जिसके तहत …

Read More »