आवास सबका मौलिक अधिकार है : ‘कहां है जहां झुग्गी वहां मकान, मोदी जी पूरा करो अपना काम’

Fundamental right to housing

Fundamental right to housing. सरकारी नीतियों के कारण बेघरों की संख्या बढ़ती जा रही है। आवास का अधिकार लोगों की मौलिक अधिकार रोटी-कपड़ा-मकान में शामिल है जो देना सरकार का काम है।

झुग्गियां तोड़ना समस्या है या समाधान?

People living on the railway side

Destroy Slum is the problem or solution? दिल्ली में 140 किलोमीटर तक की रेल पटरियों के किनारे करीब 48,000 झुग्गियां हैं, जिन्हें यहां से हटाने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया है (Supreme Court order to remove around 48,000 slums along the 140-km railway tracks in Delhi – Slum Demolition Order)। जब से यह आदेश

देश के हाथ में कटोरा थमाने पर उतारू प्रधानमंत्री, गरीबों का सबसे बड़ा दुश्मन है मोदी ?

narendra modi flute

यह मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के संकल्प का समय Prime Minister to take the bowl in the hands of the country. This is the time of resolve to overthrow the Modi government जो लोग रोजी रोटी की समस्या कोरोना काल तथा कोरोना वायरस मरने की वजह पूरी दुनिया में महामारी फैलने की बात कर

योगी राज में उत्तर प्रदेश में दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के ऊपर  दमन तेज हुआ है : भाकपा माले

CPI ML

लखनऊ, 19 जून 2020. “मुख्यमंत्री के नाक के नीचे लखनऊ के हरदासी खेड़ा में भाजपा के द्वारा गरीब मुन्नी देवी की झुग्गी कब्जा करके भाजपा ऑफिस बनाया गया, जिसका मुन्नी देवी के द्वारा   विरोध किया गया मुन्नी देवी और उनका नाबालिक बेटे ने मिलकर भाजपा के झंडे बैनर को हटा दिया गया साथ ही पुलिस

यह 20वीं बार है जब लल्लू को एक डरी हुई अलोकतान्त्रिक सरकार ने हिरासत में लिया है : प्रियंका गांधी वाड्रा का आलेख

aJAY lALLU PRIYANKA GANDHI

Unbowed and and invincible ‘Lallu’: Priyanka Gandhi Vadra’s article अडिग और अजय ‘लल्लू’ : प्रियंका गांधी वाड्रा का आलेख उन्नाव रेप कांड, जिसमें बलात्कार पीड़िता को बलात्कारियों ने जिंदा जला दिया, ने हम सबको झकझोर दिया था। मैं पीड़ित परिवार से मिलना चाहती थी। ठंड और कुहासे से भरी एक सुबह हम उन्नाव के लिए

सर्वप्रथम सरकार की कथनी और करनी में अंतर को पहचानने वाला वर्ग मज़दूर वर्ग

Lockdown, migration and environment

The working class, which first recognized the difference between the words and actions of the government दुनिया के 100 से अधिक देश कोविड-19 नाम के वायरस से जूझ रहे हैं, भारत में अभी तक 1 लाख से अधिक कोरोना के कन्फ़र्म केस आए हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, मुख्य रूप से प्रभावित राज्य हैं। Public Health

कृपया इस महाआपदा पर राजनीति न करें, क्या मनुष्य विलुप्त हो जाएगा? इस सवाल पर गौर जरूर कीजियेगा

super cyclone Amphan

Please do not do politics on this great disaster, will man become extinct? Definitely consider this question अच्छी खबर यह है कि अम्फान तूफान से दीघा और ओडिशा को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। अच्छी खबर यह भी है कि प्रधानमंत्री बंगाल की मुख्यमंत्री का अनुरोध मानकर बंगाल और ओडिशा के तूफान पीड़ित इलाकों का दौरा

अथ लॉक डाउन कथा : दुखों का लॉकअप (हृदयविदारक कथा)

Migrants On The Road

Lock Down Story: Lockup of Sorrows (Heartbreak Story) (अपने गांव से 1200 किलोमीटर दूर गुजरात के एक गांव में फंसे रायबरेली के एक मजदूर के जीवन की सत्य घटना पर आधारित कहानी- ) Story based on the true incident of the life of a laborer of Rae Bareli stranded in a village in Gujarat, 1200

भूख के विरुद्ध, भात के लिये : किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर सैकड़ों गांवों में ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

Kisan Sabha

Villagers protest in hundreds of villages on the nationwide call of Kisan Sabha रायपुर 21 अप्रैल 2020 : कोरोना महामारी और अनियोजित लॉक डाउन (Corona Epidemic and Unplanned Lock Down) के कारण किसानों, ग्रामीण गरीबों, दिहाड़ी और प्रवासी मजदूरों तथा आदिवासियों के समक्ष उत्पन्न समस्याओं को हल करने के लिए केंद्र सरकार की उदासीनता के

उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य आपातकाल के दौरान सकारात्मक – रचनात्मक विपक्ष की भूमिका और उम्मीदें 

covid19 photo hindi 1

‘विपक्ष- विरोध करने की स्थिति (सरकार का)’ एक शाब्दिक अर्थ या सामान्य विचार है, हालाँकि राजनीतिक रूप से इसे ‘वैचारिक रूप से विपरीत’ होने की पहचान होने देना है और भारत की संसद और राज्य विधानसभाओं में, विपक्ष होने का एक प्रमुख कारण सरकार के फैसलों पर नज़र रखना भी है। रचनात्मक आलोचना और नागरिकों के अधिकारों और स्वतंत्रता