Home » Tag Archives: डॉ. राम पुनियानी का आलेख

Tag Archives: डॉ. राम पुनियानी का आलेख

स्वाधीनता संग्राम में कहीं नहीं थे आरएसएस और मुस्लिम लीग

Dr. Ram Puniyani

RSS and Freedom Movement: Glossing Over the Non Participation RSS‘s participation in freedom struggle | आरएसएस की स्वाधीनता संग्राम में हिस्सेदारी  हमारे देश के सत्ताधारी दल भाजपा के पितृ संगठन आरएसएस के स्वाधीनता संग्राम में कोई हिस्सेदारी न करने पर चर्चा होती रही है. पिछले कुछ वर्षों में संघ की ताकत में आशातीत वृद्धि हुई है और इसके साथ ही …

Read More »

भारत में जाति प्रथा का उदय, जानिए सत्य क्या है

Dr. Ram Puniyani

जाति प्रथा का उदय भारत में “राजनीति की बलिवेदी पर इतिहास की बलि” शीर्षक डॉ. राम पुनियानी का यह आलेख हस्तक्षेप पर मूलतः 27 अक्तूबर 2014 को प्रकाशित हुआ था। राम पुनियानी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे में बायोमेडिकल इंजीनियरिंग में प्रोफेसर थे, और उन्होंने दिसंबर 2004 में भारत में सांप्रदायिक सद्भाव के लिए पूरे समय काम करने के लिए स्वैच्छिक …

Read More »

तथ्यात्मक इतिहास लेखन से साम्प्रदायिक राष्ट्रवाद की चुनौती का मुकाबला

Dr. Ram Puniyani

History Writing to the Rescue against Sectarian Nationalism: A Tribute to Prof D.N. Jha Combating the challenge of communal nationalism with factual history writing: Dr Ram Puniyani’s article in Hindi प्रोफेसर डी. एन. झा को श्रद्धांजलि भारत इन दिनों ‘निर्मित की गई नफरतों’ की चपेट में है. इस नफरत के नतीजे में समाज के कमजोर वर्गों, विशेषकर दलितों और धार्मिक …

Read More »

उन्हें ‘जन गण मन’ से परहेज है, उन्होंने पाठ्यपुस्तकों से टैगोर को हटाने की सिफारिश की, वे टैगोर को पूज रहे !

rabindranath tagore

रबीन्द्रनाथ टैगोर (Rabindranath Tagore) : मानवतावाद और राष्ट्रवाद पश्चिम बंगाल में चुनाव (Elections in West Bengal) नजदीक हैं। भाजपा ने बंगाल के नायकों को अपना बताने की कवायद शुरू कर दी है। जहां तक भाजपा की विचारधारा का प्रश्न है, बंगाल के केवल एक नेता, श्यामाप्रसाद मुखर्जी, इस पार्टी के अपने हैं। वे भाजपा के पूर्व अवतार जनसंघ के संस्थापक …

Read More »

अब नेताजी पर कब्ज़ा ज़माने की विफल हिन्दू राष्ट्रवादी कवायद – डॉ. राम पुनियानी का लेख

Subhas Chandra Bose

Now Hindu nationalist exercise failed to capture Netaji – article by Dr. Ram Puniyani नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती- 125th birth anniversary of Netaji Subhash Chandra Bose (23 जनवरी) के अवसर पर देश भर में अनेक आयोजन हुए. राष्ट्रपति भवन में उनके तैल चित्र का अनावरण किया गया. केंद्र सरकार ने घोषणा की कि नेताजी का जन्मदिन हर …

Read More »

मेरा धर्म मुझे चुनने दो

Dr. Ram Puniyani - राम पुनियानी

स्वतंत्रता पर चोट हैं धर्म स्वातंत्र्य कानून  DR RAM PUNIYANI’S ARTICLE IN HINDI – RELIGIOUS CONVERSION LAWS Choosing My Religion: ‘Freedom of Religion Laws’ to Curb Liberty भारत का संविधान हम सब को अपने धर्म में आस्था रखने, उसका आचरण करने और उसका प्रचार करने का हक़ देता है. यदि कोई नागरिक किसी भी धर्म का पालन करना नहीं चाहता …

Read More »

बंधुत्व को बढ़ावा : अदालतें आगे आईं, सुदर्शन टीवी पर नफरत फैलाने वाले कार्यक्रम पर रोक

Dr. Ram Puniyani - राम पुनियानी

Promoting Fraternity: Courts to the Rescue – डॉ. राम पुनियानी का आलेख Stay on Transmission of Hate Program of Sudarshan TV प्रतिबद्ध व सत्यनिष्ठ विधिवेत्ता प्रशान्त भूषण (Prashant Bhushan) ने हाल में न्यायपालिका को आईना दिखलाया. इसके समानांतर दो मामलों में न्यायपालिका ने आगे बढ़कर प्रजातांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने की अपनी भूमिका और जिम्मेदारी का शानदार निर्वहन किया. इनमें से …

Read More »

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण …

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … डॉ. राम पुनियानी का आलेख | hastakshep | हस्तक्षेप | उनकी ख़बरें जो ख़बर नहीं बनते ‘Hatred’ is being created against religious minorities and its objective is to weaken Indian democracy and constitution. शाहीन बाग का आन्दोलन (Shaheen …

Read More »

गोली मारो सालों को : हिंसा और घृणा का निर्माण … डॉ. राम पुनियानी का आलेख

Nirmala Sitharaman and Anurag Thakur

नोम चोमस्की (Noam Chomsky), दुनिया में शांति की स्थापना के लिए काम करने वाले शीर्ष व्यक्तित्वों में से एक हैं. कई साल पहले, वियतनाम पर अमरीका के हमले के समय उन्होंने ‘सहमति के निर्माण’ का अपना अनूठा सिद्धांत प्रतिपादित किया था. नोएम चोमस्की का कहना था कि अपनी नीतियों और निर्णयों को वैधता प्रदान करने के लिए राज्य जनमत को …

Read More »