वामपंथ का काम अब ऑफिस केंद्रित हो गया है, लोहिया के प्रयोग का पतन अंततोगत्वा जातिवाद में ही हो गया

Akhilendra Pratap Singh

मौजूदा परिस्थिति में जरूरी राजनीतिक पहलकदमी के बारे में अखिलेन्द्र प्रताप सिंह की वरिष्ठ पत्रकार संतोष भारतीय से वार्ता के आधार पर कुछ बातें Now the work of the Left has become office-centric, the use of Lohia eventually collapses into casteism. On the basis of Akhilendra Pratap Singh’s talks with senior journalist Santosh Bhartiya about the political

नई शिक्षा नीति : लागू करने से पहले के कर्तव्य

new education policy

New education policy: duties before implementation मेरे एक मित्र ने आग्रह किया था कि मुझे नई शिक्षा-नीति के लिए सरकार द्वारा मांगे गए सुझावों में योगदान (Contribution of suggestions sought by the government for new education policy) करना चाहिए. उन्होंने मुझे याद दिलाया कि मैंने अटलबिहारी वाजपेयी द्वारा गठित अम्बानी-बिड़ला समिति की रपट की विस्तृत

पुलिस-स्टेट की ओर भारत?

Police

(1) पुलिसकर्मी अपने कार्यों, शक्तियों और कर्तव्यों का उपयोग सामान्य जनता और मौजूदा सरकार के निष्पक्ष सेवक के रूप में करेंगे। … किसी भी पुलिसकर्मी को, उसके कार्यों या शक्तियों, या पुलिस संसाधनों का उपयोग करते वक्त, किसी भी राजनीतिक पार्टी या हित-समूह, अथवा वैसी पार्टी या समूह के किसी भी सदस्य को बढ़ावा देने या

समाजवादी आंदोलन के दो महान पुरोधा, जिन्होंने संघ का अछूतोद्धार किया, क्या समाजवादी कभी अपनी इन ऐतिहासिक भूलों को स्वीकार करेंगे?

Dr. Lohia

यह तस्वीर, वह तस्वीर है जिसने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का अछूतोद्धार किया। 1966-67 में समाजवादी चिंतक डॉ. राममनोहर लोहिया देश में कांग्रेस के एकछत्र साम्राज्य को समाप्त करने के लिये एक थीसिस लेकर आये थे। उन्होंने सबसे पहले यह बताया कि कांग्रेस की जीत का सबसे बड़ा कारण (The biggest reason for the victory of