Home » Tag Archives: तीनों नए कृषि कानूनों का विश्लेषण (page 2)

Tag Archives: तीनों नए कृषि कानूनों का विश्लेषण

किसान आंदोलन : 40 दिन 60 मौतें, और सरकार में सन्नाटा

Farmers Protest

Kisan agitation: 40 days 60 deaths, and silence in government – Vijay Shankar Singh किसान आंदोलन : सरकारें इतनी अहंकारी क्यों हो जाती हैं दुनियाभर के जन संघर्षों की कथा (Story of mass struggles around the world) पढ़ते-पढ़ते अक्सर यह सवाल मन मे कौंध जाता है कि आखिर सरकारें इतनी ठस और अहंकारी क्यों हो जाती हैं और कैसे जनता …

Read More »

खेती किसानी नहीं, देश की जनता खतरे में है… भक्त अवश्य सुनें

खेती किसानी why farmers are agitating

देश की खाद्यान्न सुरक्षा खतरे में है किसान सभा, एपीएमसी एक्ट, एमएसपी क्या है, नए कृषि कानून, किसान आंदोलन, खेती किसानी खतरे में नहीं है, देश की जनता खतरे में है किसान सभा के संयुक्त सचिव बादल सरोज ने सरल भाषा में समझाया किसान आंदोलन क्यों कर रहे हैं, एपीएमसी एक्ट क्या है, खेती-किसानी की समस्याएं क्या हैं ? क्या …

Read More »

सरकार की प्राथमिकताएं कॉरपोरेट हित हैं, न कि जनहित या लोक कल्याण / विजय शंकर सिंह

Narendra Modi flute

The government’s priorities are corporate interests, not public interest or public welfare : Vijay Shankar Singh What is the economic policy of the government after 2014? सरकार की प्राथमिकताएं आखिर क्या हैं ? विकास हो रहा है तो जीडीपी क्यों गिर रही है। अर्थव्यवस्था में तमाम गिरावट के बाद पिछले छह सालों में केवल यही एक ‘उपलब्धि’ हुयी है कि …

Read More »

सत्याग्रह से सत्याग्रह तक : 2020 की तीन तस्वीरें

Happy New Year 2021

From Satyagraha to Satyagraha: Three pictures of 2020 Happy New Year 2021 गुजरे साल, 2020 की विरासत (Legacy of 2020) को बहुत हद तक सिर्फ तीन छवियों में पकड़ा जा सकता है। इनमें पहली छवि तो, जिससे यह साल शुरू हुआ था, शाहीन बाग (Shaheen bagh) में दिन-रात के धरने पर बैठी, महिलाओं की ही थी। नागरिकता संशोधन कानून- Citizenship …

Read More »

पुराना साल खत्म, नया साल शुरू हो गया, किसानों का समर अभी शेष है

Farmers Protest

The old year is over, the new year has started, the struggle of the farmers is yet to go / Vijay Shankar Singh पुराना साल खत्म, नया साल शुरू हो गया है, परन्तु किसान आंदोलन जारी है। लोग समझना चाहते हैं कि सरकार तीनों कानून वापिस लेना क्यों नहीं चाहती और नया साल किस तरह से शुरूआत से ही नए …

Read More »

सौ से अधिक पूर्व आईएएस, आईपीएस, आईएफएस का योगी को पत्र, अंतर-धार्मिक विवाह संबंधी अध्यादेश को वापस लिया जाए

yogi adityanath

A group of former civil servants has written an open letter to the Chief Minister of Uttar Pradesh demanding the withdrawal of the ordinance on interfaith marriage नई दिल्ली, 29 दिसंबर 2020. सौ से अधिक भूतपूर्व सिविल सेवकों, जिनमें कई सचिव स्तर के अवकाशप्राप्त अधिकारी हैं, ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक खत लिखकर मांग की है …

Read More »

मोदीजी ! क्या 29 दिसंबर की सरकार-किसान वार्ता, तथ्य और तर्क पर हो पाएगी ?

Narendra Modi PM Kisan Samman Nidhi

Will the government-farmer talks of December 29 be held on facts and logic? – Vijay Shankar Singh 30 दिन के शांतिपूर्ण धरने और लगभग 35 किसानों की अकाल मृत्यु के बाद, सरकार ने किसानों से बातचीत शुरू करने के लिये किसानों को ही बातचीत का एजेंडा सुझाने के लिये एक पत्र लिखा इसके पहले सरकार के संयुक्त सचिव विवेक अग्रवाल …

Read More »

किसान आंदोलन के समर्थन में मालवा-निमाड़ में ट्रैक्टर-ट्रॉली यात्रा

Tractor-trolley trip in Malwa-Nimar in support of farmer movement

Tractor-trolley trip in Malwa-Nimar in support of farmer movement इंदौर, 26 दिसंबर : 21-22 दिसम्बर 2020 अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वयक समिति, संयुक्त किसान मोर्चा के तत्वाधान में दो दिवसीय ट्रेक्टर ट्राली यात्रा निकाली गई। मेधा पाटकर के नेतृत्व में निकाली गई इस यात्रा में मध्य  प्रदेश के मालवा-निमाड़ अंचल के गाँवों के किसानों के अलावा महाराष्ट्र के किसान और …

Read More »

बिके हुए पत्रकार से तवायफ़ की इज़्ज़त ज्यादा होती है, प्रेस काउंसिल के पूर्व चेयरमैन ने फिर याद दिलाया

Justice Markandey Katju

The prostitute has more respect than a sold-out journalist, the former chairman of the Press Council again reminded नई दिल्ली, 26 दिसंबर 2020. पूरे देश के किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत हैं और 130 करोड़ भारतवासी इन किसानों के साथ खड़े हैं, लेकिन जनविरोधी गोदी मीडिया के नाम से मशहूर हो गया तथाकथित मुख्यधारा का मीडिया इन किसानों …

Read More »

राहुल ने पूछा -लोकतंत्र कहां है? जो भी सरकार के खिलाफ बोलता है, वह राष्ट्रविरोधी है

Rahul Gandhi

Rahul Gandhi asked – Where is the democracy? Whoever speaks against the government is anti-national नई दिल्ली, 24 दिसंबर । कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi, former Congress president and MP from Wayanad, Kerala) ने आज तीन कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। श्री गांधी ने कहा कि …

Read More »

योगी सरकार चीनी मिल मालिकों से मिलीभगत कर गन्ना किसानों से कर रही धोखाधड़ी, भूख हड़ताल पर बैठे अजीत यादव

Lok Morcha convenor Ajit Singh Yadav arrested

लोकमोर्चा संयोजक अजीत सिंह यादव ने जिला गन्ना अधिकारी कार्यालय पर भूख हड़ताल शुरू की  यदु शुगर मिल पर गन्ना किसानों के गन्ना बकाया के भुगतान, सूबे में गन्ना मूल्य घोषित करने और तीन कृषि कानूनों की वापसी को उठाई आवाज बदायूँ, 23 दिसम्बर, बदायूँ जनपद में यदु शुगर मिल (Yadu sugar mill in Badaun district) समेत चीनी मिलों पर …

Read More »

कांग्रेस का आरोप, सरकार कर रही शाहीनबाग जैसे हालात पैदा करने की कोशिश

Congress Logo

चिल्ला बॉर्डर बंद करने का कोई मायने नहीं Congress charges, the government is trying to create conditions like Shaheen Bagh There is no point in closing the CHILLA border नई दिल्ली, 22 दिसंबर 2020. नए कृषि कानूनों के खिलाफ मंगलवार को किसानों का विरोध प्रदर्शन 27वें दिन भी जारी है। इस बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार के कृषि कानूनों के …

Read More »

किसान आंदोलन और कृषि कानूनों पर राजहठ

Modi government is Adani, Ambani's servant. Farmers and workers will uproot it - Randhir Singh Suman

Raj persistence on peasant movement and agricultural laws – Vijay Shankar Singh दिल्ली की सिंघू सीमा (Singhu border of delhi) पर जन आंदोलनों के इतिहास (History of mass movements) का एक सुनहरा अध्याय लिखा जा रहा है। 26 नवम्बर 2020 को जब किसानों के कई जत्थे सरकार द्वारा बनाये गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सरकार को अपनी व्यथा से …

Read More »

Farmers Protest : पीएम मोदी के नाम किसानों का खुला पत्र, कहा तथ्यहीन बातें न करें प्रधानमंत्री

Farmers Protest

Farmers open letter to PM Modi, said PM should not say factless things नरेंद्र मोदी, नरेंद्र तोमर के नाम किसानों का खुला पत्र, पीएम के आरोपों का किया खंडन Open letter of farmers to Narendra Modi and Narendra Tomar, PM’s allegations denied नई दिल्ली, 20 दिसंबर 2020.  केंद्र की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा लागू नए कृषि कानूनों …

Read More »

नए कृषि कानून और उसकी वैधानिकता

Farmers Protest

New Agricultural Laws and its Legalities : Vijay Shankar Singh नए कृषि कानूनों को लेकर 26 नवम्बर से किसानों का आंदोलन चल रहा है और तब से किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर हज़ारों की संख्या में इस सर्दी में बैठे हैं। लोग उन कानूनों पर बहस भी कर रहे हैं और सरकार की किसानों से बातचीत भी चल रही …

Read More »

सभ्यता के इतिहास के पैमानों पर भारत का किसान संघर्ष

Farmers Protest

India’s peasant struggle on the scale of history of civilization भारत का किसान (Farmer of india) लगता है जैसे अपनी कुंभकर्णी नींद से जाग गया है। अपने इतने विशाल संख्या-बल के बावजूद संसदीय जनतंत्र (Parliamentary democracy) में जिसकी आवाज का कोई अलग मायने नहीं रह गया था, फिर भी वह गांव के शांत जीवन में अपनी आत्मलीन चौधराहट की ठाठ …

Read More »

राष्ट्रहित सर्वोपरि : किसान जीतेगा तो देश जीतेगा, 130 करोड़ भारतवासी जीतेंगे

Farmers Protest

National interest is paramount: if the farmer wins then the country wins, 130 crore Indians will win तीन कृषि कानूनों और बिजली संशोधन विधेयक की वापसी के मुद्दे पर, सरकार और किसानों के बीच गतिरोध खत्म होने के फिलहाल कोई आसार नहीं हैं। प्रधानमंत्री के विशेष रूप से विश्वस्त, गृहमंत्री अमित शाह के प्रत्यक्ष हस्तक्षेप के बाद, जब यह साफ …

Read More »

उपवास पर अन्नदाता और छप्पन भोग पर सरकार

Today's Deshbandhu editorial

देशबन्धु में संपादकीय आज | Today’s Deshbandhu editorial भारत विकास की कैसी राह पर चल पड़ा है, इसकी व्याख्या इस एक वाक्य से की जा सकती है कि देश का पेट भरने वाले अन्नदाता किसान सोमवार को एक दिन के उपवास पर रहे। 2014 में सत्ता संभालने से पहले जब यूपीए सरकार की नीतियों (UPA Government Policies) को महापाप की …

Read More »

घूमता हुआ आईना News of the week | इस रात की सुबह नहीं !

घूमता हुआ आईना

घूमता हुआ आईना | News of the week | इस रात की सुबह नहीं ! Kisan rally | farmers protest | hastakshep | हस्तक्षेप घूमता हुआ आईना : देशबन्धु के समूह संपादक राजीव रंजन श्रीवास्तव का साप्ताहिक स्तंभ बीते एक साल में देश और दुनिया में काफी कुछ बदल गया है। एक अनजान से वायरस ने पूरी दुनिया को नाक-मुंह …

Read More »

कृषि क्रांति की दिशा : कारपोरेट हमले के खिलाफ जुझारू किसान

Modi government is Adani, Ambani's servant. Farmers and workers will uproot it - Randhir Singh Suman

The peasant movement has shaken the foundation of the Modi government. किसान आंदोलन ने मोदी सरकार की बुनियाद हिला दी है। उसके फासीवादी दमन की धज्जियां उड़ा दी हैं। अमेरिका, विश्व व्यापार संगठन (WTO) और कारपोरेट पूंजीपतियों के दबाव में आरएसएस/भाजपा द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलित हैं। इन कानूनों के कारण लाखों गरीब और छोटे …

Read More »

जस्टिस काटजू का लेख : विशाल जागरण है, किसान आंदोलन ने हमारी एकता की नींव रखी

Farmers Protest

The giant is awakening: The ongoing farmers’ agitation has laid the foundation of our unity. सोते हुए विशाल काय ( giant ) को सोने दो, जब वह जागेगा, तो दुनिया को हिला देगा” उपरोक्त नेपोलियन का कथन चीन के बारे में था। लेकिन यह अब भारतीय महाद्वीप पर भी लागू होता है। मैं निराश हो गया था, क्योंकि मैं सोचता …

Read More »