Home » Tag Archives: तीनों नए कृषि कानूनों का विश्लेषण (page 3)

Tag Archives: तीनों नए कृषि कानूनों का विश्लेषण

मजदूरों की गुलामी के दस्तावेज हैं मोदी सरकार के लेबर कोड

Narendra Modi flute

Labor codes of Modi government are documents of slavery of laborers काम के घंटे 12, सैकड़ों साल के संघर्ष से हासिल अधिकार का खात्मा 12 hours of work, ending rights achieved by hundreds of years of struggle     जमाखोरी, न्यूनतम समर्थन मूल्य के खात्मे, ठेका खेती के जरिए जमीनों पर कब्जा करने और देश की खाद्य सुरक्षा को खतरे में …

Read More »

तीन नए कृषि कानूनों के बारे में जानिए सब कुछ, कैसे ये देश के लिए हानिकारक हैं

CITU

तीन नए कृषि कानूनों का एक विश्लेषण | An analysis of three new agricultural laws इस आलेख में सुप्रसिद्ध अर्थशास्त्री जया मेहता (Economist Jaya Mehta) समझा रही हैं कि तीन नए कृषि कानूनों का विरोध किया जाना क्यों जरूरी है (Why it is important to oppose three new agricultural laws), मौजूदा किसान संघर्ष की पृष्ठभूमि क्या है (What is the …

Read More »

अगर आप को लगता है कि नया कृषि कानून केवल किसानों का ही अहित करेगा तो जनाब जरा सावधान हो जाएं

Farmers Protest

नए कृषि कानूनों के विधिक परीक्षण की आवश्यकता है Farm bills 2020 explained | new bill for farmers in hindi अगर आप को लगता है कि नया कृषि कानून केवल किसानों का ही अहित करेगा तो यह आप का भ्रम है। कृषि और किसानों के विषय पर नियमित अध्ययन और लेखन करने वाले पत्रकार, पी साईंनाथ ने द वायर में …

Read More »

जानिए नये कृषि कानून में शर्मनाक जमाखोरी को क्यों वैध बनाया गया है ?

CITU

Know why hoarding has been legalized under the new agricultural law? : Vijay Shankar Singh 8 दिसंबर, को किसानों ने अपनी मांगों के समर्थन में भारत बंद (Bharat Bandh) का आह्वान किया था। बंद सफल रहा। सबसे उल्लेखनीय बात थी कि, इस बंद में देश मे कहीं से भी हिंसा के समाचार नहीं मिले। लंबे समय के बाद, देश में …

Read More »

नए कृषि कानून : नये दौर की ग़ुलामी के आसार

Today's Deshbandhu editorial

New Agricultural Laws: New era of slavery expected देशबन्धु में संपादकीय आज. Today’s Deshbandhu editorial मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग पर कई दिनों से आंदोलनरत किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया था, जिसका व्यापक असर देश में देखने मिला। बंद पूरी तरह सफल और शांतिपूर्ण रहा। कई जगह रास्ते …

Read More »

उत्तर प्रदेश आज जंगलराज का यथार्थ बन गया है : महिला संगठन

Mahila Hinsa ke khilaf Abhiyan

Uttar Pradesh has become the reality of Jungle Raj today: Women’s organization Mahila Hinsa ke khilaf Abhiyan लखनऊ, 09 दिसंबर 2020. यूपी के प्रमुख महिला संगठनों ने कहा है कि उत्तर प्रदेश आज जंगलराज का यथार्थ बन गया है, उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बिल्कुल ध्वस्त है। उत्तर प्रदेश में महिला हिंसा और योगी सरकार द्वारा लाए गए लव जिहाद …

Read More »

#नहीं_चाहिए_भाजपा : अखिलेश यादव का आरोप, भाजपा सरकार बुजुर्ग किसानों को अपमानित कर रही

Akhilesh Yadav with Sunil Singh of Hindu Yuva Vahini

किसान आंदोलन पर अखिलेश यादव का ट्वीट | Akhilesh Yadav’s tweet on peasant movement नई दिल्ली 9 दिसंबर 2020. समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार बुजुर्ग किसानों को अपमानित कर रही है। अखिलेश यादव ने आज ट्वीट कर कहा कि, “भाजपा सरकार बुजुर्ग किसानों को बार-बार, अलग-अलग …

Read More »

ताकि भारत पाखंडी-राष्ट्र न बने!… उदारीकरण-निजीकरण देश के शासक-वर्ग का साझा एजेंडा है

Bharat Bandh against anti-farmer law Hundreds of Congress leaders arrested in UP

Liberalization-privatization is the common agenda of the ruling class of the country तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसान आंदोलन (Farmer movement in protest against three new agricultural laws) के शुरू से ही केंद्र की भाजपानीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार और विपक्षी पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोपों का सिलसिला चल रहा है. किसान संगठनों द्वारा 8 दिसंबर को …

Read More »

पीयूसीएल की अपील – किसान विरोधी कानून निरस्त करें

Farmers Protest

PUCL appeal – repeal anti-farmer law विरोध जाहिर करने के लोकतांत्रिक अधिकार का सम्मान करें – पीयूसीएल नई दिल्ली, 08 दिसंबर 2020. पीपुल्स यूनियन फ़ॉर सिविल लिबर्टीज- People’s Union for Civil Liberties, (पीयूसीएल) नागरिक स्वतंत्रता की रक्षा और उसे सशक्त करने के लिए प्रतिबद्ध संगठन है। राजनीतिक और आर्थिक वैचारिक मतभेदों के बावजूद वे सभी लोग इसके सदस्य बन सकते …

Read More »

किसानों के समर्थन में राहुल गांधी का पीएम मोदी पर जोरदार हमला, “मोदी जी, किसानों से चोरी बंद करो!”

Rahul Gandhi strongly attacks PM Modi in support of farmers, “Modi ji, stop stealing from farmers!” नई दिल्ली, 08 दिसंबर 2020. तीन नए कृषि कानूनों को वापिस लिए जाने की मांग को लेकर किसान संगठनों के आव्हान पर आज भारत बंद है। इस बीच किसानों के समर्थन में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर जोरदार हमला बोलते …

Read More »

किसान आंदोलन और 8 दिसंबर का भारत बंद के बीच जस्टिस काटजू का रास्ता

Farmers Protest

Farmer movement and Bharat Bandh on 8 December: Vijay Shankar Singh 8 दिसंबर, को किसानों ने अपनी मांगों के समर्थन में भारत बंद का आह्वान किया है। किसानों का यह आंदोलन, केंद्र सरकार द्वारा तीन कृषि कानूनों के खिलाफ लम्बे समय से चल रहा है। पहले यह कानून एक अध्यादेश के रूप में जून 2020 में लाये गए, जिसे बाद …

Read More »

किसान आंदोलन : कांग्रेस बोली भाजपा ने धोखाधड़ी की है

Congress Logo

8 दिसंबर को किसानों के भारत बंद को कांग्रेस ने दिया समर्थन Congress gave support to farmers’ Bharat Bandh on 8 December नई दिल्ली, 6 दिसंबर. केंद्र सरकार के साथ कई दौर की वार्ता विफल होने बाद किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान किया है। इस बीच, विपक्षी कांग्रेस ने रविवार को कहा कि पार्टी तीन …

Read More »

ब्राज़ील में बह रही उल्टी गंगा : वर्षावनों की कटाई ऊपर, पर्यावरण संरक्षण बजट नीचे

Climate change Environment Nature

Brazil: Rainforest harvesting up, environmental protection budget down Brazil is the world’s 5th-largest GHG (GHG) emitter. भले ही ब्राज़ील में अमेज़न वर्षावनों की कटाई 2008 के बाद से उच्चतम स्तर पर हो, लेकिन वहां के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो को शायद इसकी परवाह नहीं। उन्होंने तो ब्राज़ील कांग्रेस को एक ड्राफ्ट बजट बिल भेजा है, जिसे यदि अनुमोदन मिल जाता है, …

Read More »

देश के अन्य राज्यों में भी पंजाब और हरियाणा जैसा खुशहाल किसान क्यों न हो ?

Farmers Protest

Why should there not be a happy farmer like Punjab and Haryana in other states of the country? – Vijay Shankar Singh अक्सर यह बात कही जाती है कि, पंजाब, हरियाणा का किसान खुशहाल है। वे एक बेहतर जीवन जीते हैं। वे जम कर खाते पीते हैं। होमसिकनेस जैसी कोई चीज उनके मन या समाज में नहीं होती है। वे …

Read More »

किसान आंदोलन के आह्वान पर बदायूँ के अम्बेडकर पार्क में लुटेरे कॉरपोरेट अम्बानी अडानी का पुतला जलाया

कृषि समाचार,agriculture newspaper articles,articles on agriculture in india,agriculture in india today,agriculture in india today in hindi,krishi news in hindi,Live Updates on Agriculture,Know about कृषि in Hindi, Explore कृषि with Articles,कृषि जगत से जुडी हुई ताजा ख़बरें,agriculture news in hindi,krishi latest news,

Burning effigy of corporate Ambani Adani at Ambedkar Park in Badaun on the call of the farmers’ movement मोदी सरकार के तीन काले कृषि कानूनों के विरुद्ध दिल्ली बार्डर पर जारी किसान आंदोलन का लोकमोर्चा ने किया समर्थन बड़े पूँजीघरानों की गुलाम है मोदी सरकार – अजीत यादव बदायूँ, 5दिसम्बर, संघ -भाजपा की मोदी सरकार लुटेरे कॉरपोरेट घरानों अम्बानी -अडानी …

Read More »

कृषि पर महात्मा गांधी का कहा कोविड कालखण्ड में सिद्ध हो चुका

Mahatma Gandhi महात्मा गांधी

पालनहार होने के बावजूद उपेक्षित क्यों कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था? Why are agriculture and rural economy neglected despite being sustainable? भारतीय अर्थव्यवस्था की सबसे महत्वपूर्ण और प्रभावपूर्ण विशेषता (The most important and influential feature of the Indian economy) इसका कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था होना है। एक तरफ यह इसकी विशेषता एवं उपलब्धि है, तो दूसरी ओर यह एक बड़ी चिंता …

Read More »

जन आंदोलनों को धर्म के चश्मे से देखना आत्मघाती और राष्ट्रघाती… जब आप जैसी जनता होगी तो कोई भी शासक, तानाशाह बन ही जायेगा

Farmers Protest

Seeing mass movements through the prism of religion is suicidal अब एक नया तर्क गढ़ा जा रहा है कि इन किसानों को भड़काया जा रहा है। यह भड़काने का काम कांग्रेस कर रही है। कांग्रेस एक विपक्षी दल है और इन कृषि कानूनों को चूंकि सरकार जो भाजपा की है, पारित किया है, तो यह इल्ज़ाम आसानी से कांग्रेस के …

Read More »

मोदी हिटलर के अनुगामी हैं, किसान आंदोलन की आग मोदी-शाह और भाजपा के पूरे कुनबे को ही जला कर खाक कर देगी

Narendra Modi flute

Modi is a follower of Hitler, the fire of peasant movement will burn down the entire clan of Modi-Shah and BJP. दिल्ली पहुंचे किसान बुराड़ी नहीं गए, इसके बावजूद मोदी सरकार दो दिन पहले ही किसानों से वार्ता के लिए तैयार हो गई। बुराड़ी की खुली जेल में खुद ही घुस कर बंदी गुलामों के रूप में हुजूर के दरबार …

Read More »

मौजूदा किसान आंदोलन की दिशा : मोदी सरकार कृषि को पूरी तरह कॉरपोरेट घरानों के हवाले करने पर आमादा

Farmers Protest

The direction of the current farmer movement भारत में ‘गोदी मीडिया‘ ही नहीं, ‘गोदी राजनीति’ भी अपने चरम पर किसान संसार का अन्नदाता है लेकिन आज की व्यवस्था में वह स्वयं प्राय: दाने-दाने को तरस जाता है. उसकी कमाई से कस्बों से लेकर नगरों में लोग फलते-फूलते हैं पर उसके हिस्से में आपदाएं ही आती हैं. सूखे की मार से …

Read More »

किसानों ने बुराड़ी में एकत्र होने की सरकार की तजवीज फिर ठुकराई, जस्टिस काटजू किसानों से सहमत लेकिन…

Chhattisgarh Kisan protest 26 November 2020. Farmers protest against agricultural laws on November 26. देशव्यापी किसान आंदोलन में जगह-जगह किसानों के प्रदर्शन

Justice katju is agreed with farmers but… नई दिल्ली, 30 नवंबर 2020. भारत के सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति मार्कंडेय काटजू ने किसानों के साथ सहमति व्यक्त की है कि वार्ता को फिर से शुरू करने के लिए सरकार की शर्त उचित नहीं है। न्यायमूर्ति काटजू ने इस संबंध में अपने सत्यापित फेसबुक पेज पर एक पोस्ट लिखी। उन्होंने …

Read More »

किसानों का आंदोलन : SC के पूर्व जज की सलाह – बचा जाए टकराव से

Justice Markandey Katju

Farmers’ Movement: Avoid Conflict जस्टिस मार्कंडेय काटजू, पूर्व न्यायाधीश, सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया हरियाणा पुलिस द्वारा कई बाधाओं और रोकने के बावजूद, भारतीय संसद द्वारा हाल ही में पारित किए गए तीन किसान कानून के खिलाफ ‘दिल्ली चलो’ के नारे के साथ किसानों ने पंजाब से दिल्ली की ओर कूच किया। कुछ अन्य राज्यों के किसान भी आंदोलन में शामिल …

Read More »