Home » Tag Archives: दयानंद सरस्वती

Tag Archives: दयानंद सरस्वती

जन साधारण के राज की बात करते हैं रैदास जी

रैदास जी जन साधारण के राज की बात करते हैं। एक ऐसे लोकतांत्रिक गणराज्य की जिसमें जनता की भौतिक, सामाजिक, सांस्कृतिक सभी जरूरतें पूरी हों। रैदास की बेगमपुरा रचना प्लेटो, थामस मूर के विचार की तरह यूटोपियन नहीं है, यह ठोस व व्यावहारिक है तथा लोगों की आवश्यकता के अनुरूप है।  संत रैदास वाणी ऐसा चाहूँ राज मैं जहाँ मिलै सबन …

Read More »