जहां हर मिनट में बलात्कार की घटनाएं होती हैं, वहां किस मुंह से कहें Happy World Daughters Day

daughter

World daughter’s day उन लोगों को भी शुभकामनाएं जो अपनी बेटी को, बेटी नहीं बल्कि खानदान की नाक समझ कर, उसके अरमानों को ताक पर रख महिमामंडन करते हैं समानता का।

इक अहम सवाल. उसको वेश्या नाम दिया किसने?

opinion

One important question. Who named her prostitute? एक बार किसी फेसबुक पोस्ट (Facebook post) पर मैंने कमेंट किया था कि राजनीति को लोग वेश्या की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं (People are using politics as a prostitute) जब चाहा जिस रूख से चाहा उस करवट में सुला लिया…… फिर क्या, एक सज्जन व्यक्ति ने कहा

अभी केन्द्र सरकार पहले ही डूबती अर्थव्यवस्था के नाम पर चंदा बटोर रही है, फिर राज्य सरकारें नई नौकरियों के नाम पर नंगा दौड़ाएंगी

Migrants On The Road

अभी केन्द्र सरकार पहले ही डूबती अर्थव्यवस्था (Sinking economy) के नाम पर चंदा बटोर रही है, वो दिन दूर नहीं जब राज्य सरकारें नई नौकरियों के नाम पर नंगा दौड़ाएंगी जैसे कि हम सब जानते हैं लॉकडाउन का चरण (Lockdown phase) लगभग खत्म हो चला है और लोगों को ज़रूरी कामों के रियायत दी जा

सरोगेसी महिला शोषण का नया हथियार, इसे मानव तस्करी से भी जोड़कर देखें

Pregnant woman. (File Photo: IANS)

कानून विशेषज्ञ नगीना खान का आलेख | Women have always been considered second-rate हर रोज़ महिलाओं को किसी ना किसी तरह घर के भीतर या घर के बाहर शोषण का शिकार होना पड़ता है। सम्पूर्ण विश्व की आबादी में लगभग 49.59 प्रतिशत महिलाएं हैं फिर भी पुरुष प्रधान देश (Male dominated country) और पितृसत्ता की सोच

पिछले 6 वर्षों में सरकार कितनी खरी उतरी है? एक लेखा-जोखा ऐतिहासिक तथ्यों के साथ

PM Modi Speech On Coronavirus

नगीना खान का बेहद प्रासंगिक लेख | Nagina Khan’s very relevant article महत्वपूर्ण सवाल यह है कि पिछली सरकारों की असफलताओं का रिपोर्ट कार्ड (Report card of failures of previous governments) दिखाकर वर्तमान सरकार जिन मुद्दों को आधार बनाकर, जिस प्रकार जनता के पूर्ण बहुमत से (2014) सत्ता में आई और 2019 में एक बार

‘अनसुनी आवाज’: एक जरूरी किताब

Ansuni Awaz

एक अच्छा लेखक वही होता है (Who is a good writer) जो अपने वर्तमान समय से आगे की समस्यायों, घटनाओं को न केवल भांप लेता है बल्कि उसे अभिव्यक्त करते हुए पाठक को सजग करता है। मास्टर प्रताप सिंह (Master Pratap Singh) ऐसे ही लेखक व पत्रकार रहे हैं। वे ‘मास्टर साहब’ के नाम से