अच्छे दिन : अमेरिका ने भारत को दुनिया के असहिष्णु देशों की कतार में खड़ा कर दिया

अमेरिका ने धार्मिक असहिष्णुता के लिए बदनाम मुल्कों में भारत को भी जोड़ा America also added India in countries notorious for religious intolerance अमेरिका की धार्मिक स्वतंत्रता वाली रिपोर्ट (धार्मिक असहिष्णुता की ताज़ा ख़बर, ब्रेकिंग,) में फिर भारत को घेरने की कोशिश की गई है। सीएए और मुसलमानों के प्रति हिंसा (Violence against muslims) के

सीएए : नागरिकता का पता नहीं पर बढ़े पत्रकारों पर हमले, अकेले दिल्ली में 2.5 माह में 3 दर्जन पत्रकारों पर हमला, पुलिस भी हमलावरों में शामिल

Assault on Journalists

CAA: Attacks on journalists increased, 3 dozen journalists attacked in 2.5 months in Delhi alone, police also included in attackers नई दिल्ली, 09 मार्च इन दिनों देश में प्रेस की आजादी गंभीर खतरे में आ गई है। पूरे देश में पिछले कुछ दिनों में पत्रकारों पर हमले बढ़े हैं (Attacks on journalists have increased)। अकेले

मुश्किल में संघ का ड्रीम प्रोजेक्ट, सीएए का विरोध कर रहे लोगों के समर्थन में आया अकाल तख्त

Guwahati News, Citizenship Act protests LIVE Updates, Anti-CAA protests, News and views on CAB,

Akal Takht came in support of people opposing CAA चंडीगढ़, 15 फरवरी 2020. सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त (Akal Takht, the highest institution of Sikhism) ने नागरिकता संशोधन कानून –Citizenship amendment act (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे मुस्लिम समूहों को अपना समर्थन दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ स्पष्ट शब्दों में विधानसभा में प्रस्ताव पारित करें छत्तीसगढ़ सरकार : माकपा

CPIM

Chhattisgarh government should pass a resolution against the Citizenship Amendment Act in clear terms: CPI-M रायपुर, 31 जनवरी 2020. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार से विधानसभा के आगामी सत्र में नागरिकता कानून के खिलाफ स्पष्ट शब्दों में प्रस्ताव पारित करने की मांग की है, जैसा कि केरल विधानसभा में माकपा के नेतृत्व

छत्तीसगढ़ की आबादी 2.5 करोड़ पर भाजपा का तीन करोड़ लोगों से छत्तीसगढ़ में संपर्क का दावा, मोदी है तो मुमकिन है !

Shailesh Nitin Trivedi

नफरत फैलाने वाले नागरिकता संशोधन कानून (Hateful citizenship amendment act) को शांति सद्भाव और भाईचारे के प्रदेश छत्तीसगढ़ में नहीं मिलेगा कोई समर्थन रायपुर/29 जनवरी 2020। कांग्रेस ने कहा है कि नोटबंदी में प्रचलन से ज़्यादा नोट बैंक में एकत्रित कर चुकी भाजपा सरकार अब छत्तीसगढ़ में आबादी से अधिक लोगों से संपर्क करेगी। प्रदेश

सीएए/एनआरसी/एनपीआर विरोधी आंदोलन : आशा और संभावनाएं, मुसलमान न होते तो मोदी शायद ही भारत के प्रधानमंत्री होते और शाह गृहमंत्री.

Amit Shah Narendtra Modi

Anti-constitutional posture of Government is causing irreparable loss of Indian nation-state and national life. 1. कश्मीर-समस्या, मंदिर-मस्जिद विवाद, असम-समस्या (राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) और नागरिकता संशोधन कानून पर सरकार के फैसलों की चार बातें स्पष्ट हैं : (1) फैसले साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की नीयत से प्रेरित हैं. (2) फैसलों में लोकतांत्रिक संस्थाओं और प्रक्रियाओं का इस्तेमाल भर

यह लड़ाई फासीवादी सरकार के विरुद्ध लोकतंत्र की है

Akhilendra Pratap Singh

नागरिकता संशोधन कानून और नागरिकता रजिस्टर के खिलाफ चल रहे आंदोलन में शरीक हुए सेंट स्टीफेंस कॉलेज दिल्ली के बच्चों की शिनाख्त कि यह लड़ाई केंद्र की फासीवादी सरकार के विरुद्ध लोकतंत्र की है, पूरी तौर पर सटीक है। दरअसल यह लड़ाई फासीवाद बनाम लोकतंत्र की (Battle of Fascism vs Democracy) है, जो कि संविधान

सीएए, एनआरसी, एनपीआर की नीयत, बुनियाद और तरीका गलत — तीस्ता सीतलवाड

Seminar at CAA, NRC, and NPR in Ranchi

Seminar at CAA, NRC, and NPR रांची से विशद कुमार 20 जनवरी 2020. सीएए, एनआरसी, और एनपीआर की नीयत गलत है, बुनियाद गलत है, और तरीका भी गलत है। यह बात जानी मानी और साहसी मानवाधिकार कार्यकर्ता तीस्ता सेतलवाद जो गुजरात में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के पीड़ितों के लिए संघर्षरत हैं, ने 20 जनवरी को

कार के पीछे दौड़ने वाले कुत्ते सी हो गई है मोदी सरकार की दशा : मोदी के क्योटो में बोले कन्नन गोपीनाथन

Anti CAA Protest at Varanasi

The condition of the Modi government has become like a dog running behind the car: Kannan Gopinathan said in Modi’s Kyoto एनपीआर से ही करनी होगी विरोध की शुरुआतः योगेंद्र यादव वाराणसी, 20 जनवरी 2020. स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship amendment act) को सरल भाषा में समझाते हुए कहा

अब चाहिए सच बोलने वाली सरकार

“दि हैपीनेस गुरू” के नाम से विख्यात, पी. के. खुराना दो दशक तक इंडियन एक्सप्रेस, हिंदुस्तान टाइम्स, दैनिक जागरण, पंजाब केसरी और दिव्य हिमाचल आदि विभिन्न मीडिया घरानों में वरिष्ठ पदों पर रहे। वे मीडिया उद्योग पर हिंदी की प्रतिष्ठित वेबसाइट “समाचार4मीडिया” के प्रथम संपादक थे।

The statement made by Microsoft CEO Satya Nadella related to the Citizenship Amendment Act requires an in-depth analysis. माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने नागरिकता संशोधन क़ानून से जुड़ा जो बयान दिया है उसके गहन विश्लेषण की आवश्यकता है। उन्होंने देश के वर्तमान हालात को दुखद बताते हुए कहा जो है उसका भावार्थ है कि