देश के लिए खतरनाक है सार्वजनिक उपक्रमों की उपेक्षा और उनका निजीकरण

Hastakshep new

इस समय सरकार को कृषि और एमएसएमई सेक्टर पर ही पूरा ध्यान फोकस करना चाहिए। इससे बाजार एवं अर्थव्यवस्था में तरलता, खपत एवं मांग बढ़ेगी, तभी अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट सकेगी।

कोरोना बढ़ रहा है, सीमा पर मामला संवेदनशील होता जा रहा है, मन्दिर, तीन तलाक, धारा 370 से अब लोगों को बरगलाया नहीं जा सकता।

Narendra Modi flute

पूंजीवादी व्यवस्था में किसी व्यापारी, किसी उद्योगपति की कोई सामाजिक भूमिका नहीं होती। उसका काम केवल अधिक से अधिक मुनाफा कमाना होता है। जब मुनाफा कम होने लगता है तो वह उस व्यापार से हाथ खींच लेता है और उद्योगों में तालाबन्दी (Lockout in industries) कर देता है।

स्कूली शिक्षा की बदहाली और सरकारी स्कूलों सामने नाकारा प्राइवेट स्कूल

opinion

शिक्षा और स्वास्थ्य दो ऐसे बुनियादी क्षेत्र हैं जिन्हें आप सौदे की वस्तु नहीं बना सकते हैं. इन्हें लाभ-हानि के गणित से दूर रखना होगा. शिक्षा में “अवसर की उपलब्धता और पहुँच की समानता” बुनियादी और अनिवार्य नियम है जिसे बाजारीकरण से हासिल नहीं किया जा सकता है.

पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण के निर्णय के विरोध में  दूसरे दिन हुई प्रदेशव्यापी विरोध सभाएं

Statewide protest meetings held on the second day to protest against the decision of privatization of Purvanchal Vidyut Vitran Nigam

उपभोक्ता विरोधी एवं कर्मचारी विरोधी निजीकरण का फैसला निरस्त करने की मांग Statewide protest meetings held on the second day to protest against the decision of privatization of Purvanchal Vidyut Vitran Nigam Demand to cancel decision of anti-consumer and anti-employee privatization लखनऊ, 19 सितंबर 2020. विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति, उत्तर प्रदेश के आह्वान पर

यह गांधी के रामराज्य की नहीं, शंबूक वध और सीता वनवास वाले रामराज्य की तैयारी है

PM Modi Speech On Coronavirus

वंचितों को बाहर कैसे करते हैं? मोदी राज के छ: साल में आंकड़ों की विश्वसनीयता का जैसा ध्वंस हुआ है, उसकी तुलना आजादी की लड़ाई में से निकले, शासन के धर्मनिरपेक्ष, जनतांत्रिक स्वरूप के ध्वंस से ही की जा सकती है। फिर भी आंकड़ों की विश्वसनीयता (Data reliability) के इन प्रश्नों को अगर उठाकर भी

निजीकरण करने पर आमादा मोदी क्या कोरोना काल के बाद सरकारी क्षेत्र की ओर लौटेंगे : मोदी के समक्ष कहाँ है बाधा! 

PM Modi Speech On Coronavirus

Will Modi return to the government sector after the Corona period: where is the obstacle before Modi! गत 14 अप्रैल को सरकार समर्थित देश के सबसे बड़े अखबार में छपी एक खबर ने मोदी सरकार की विनिवेश नीतियों (Disinvestment policies of Modi government) से त्रस्त लोगों को सुखद आश्चर्य में डाल दिया। ‘एयर इंडिया के

बात सिंधिया की ही नहीं है ! कांग्रेस की गलती भी समझिये, लौटना होगा नेहरू के रास्ते पर

congress

It is not only about Scindia! Also understand the mistake of Congress, will have to return to Nehru’s way बात सिंधिया की ही नहीं है ! कांग्रेस की गलती भी समझिये। कांग्रेस ने गांधी नेहरू के नेतृत्व में भारत के स्वतंत्रता आंदोलन को बहुआयामी बना दिया था। वह सिर्फ विदेशी दासता से मुक्ति का उद्योग नहीं