भारतीय राष्ट्रवाद का घिनौना चेहरा : सारे विश्व को कुनबा मानने वाले हमारे देश के निर्लज्ज प्रवासी शासक

How many countries will settle in one country

Disgusting face of Indian nationalism: the shameless migrant ruler of our country who considers the whole world a family राजनीति शास्त्र के छात्र के तौर पर मैंने सेम्युएल जॉनसन (Samuel Johnson) का यह कथन पढ़ा था कि देश-भक्ति के नारे दुष्ट चरित्र वाले लोगों के लिए अंतिम शरण (कुकर्मों को छुपाने का साधन) होते हैं।