Home » Tag Archives: नैनीताल

Tag Archives: नैनीताल

प्लूटो पर वायुमंडलीय दबाव पृथ्वी से 80 हजार गुना कम

space

Atmospheric pressure on Pluto is 80 thousand times less than on Earth पृथ्वी के समुद्र तल के औसत वायुमंडलीय दबाव की तुलना में प्लूटो की सतह पर वायुमंडलीय दबाव (Atmospheric pressure on Pluto’s surface compared to Earth’s mean atmospheric pressure at sea level) नई दिल्ली, 17 अक्तूबर: एक नये अध्ययन में भारत और अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों की टीम ने प्लूटो की …

Read More »

उत्तराखंड की राजधानी का प्रश्न : जन भावनाओं से खेलता राजनैतिक तंत्र

gairsain

Question of the capital of Uttarakhand: Political system playing with public sentiments उत्तराखंड आंदोलन की विशेषता उत्तराखंड आन्दोलन में तमाम खामियों के बावजूद एक बात जिसने मुझे बहुत प्रभावित किया वह था राजधानी का सवाल और ये इसलिए क्योंकि अन्य राज्यों में जहां राजधानियों के सवाल को लेकर लोग उस क्षेत्र के बड़े शहरों को लेकर आश्वस्त थे वहीं उत्तराखंड …

Read More »

खिलता हुआ इंद्रधनुष और भावनाओं की राजनीति

Blooming Rainbow and the Politics of Emotions पलाश विश्वास दफ्तर से बसन्तीपुर लौटते हुए हरिदासपुर से गांव के रास्ते पैदल चलते हुए हल्की बूंदाबांदी और सांझ की धूप में हिमालय की छनव में आसमान के एक छोर से दूसरे छोर तक अर्धचन्द्राकार इंद्रधनुष खिलते दिखा। मेरे मोबाइल से ज़ूम नहीं जो सकता, फिर भी सिर्फ दृष्टि के भरोसे नौसिखिए हाथों …

Read More »

हिंदी पत्रकारिता दिवस : उत्तराखंड के जनांदलनों का प्रतिबिंब रहा है ‘नैनीताल समाचार’

nainital samachar

उत्तराखंड नैनीताल समाचार | Uttarakhand Nainital Samaachaar पण्डित युगुल किशोर शुक्ल ने 30 मई 1826 को हिन्दी समाचार पत्र उदन्त मार्तण्ड का प्रकाशन आरम्भ किया था । उसी ऐतिहासिक दिन की याद में और हिंदी पत्रकारिता को बढ़ावा देने के लिए हर वर्ष 30 मई को हिंदी पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है। उदन्त मार्तण्ड के बाद से सैंकड़ों हिंदी समाचार …

Read More »

बस्तर का दण्डकारण्य : चर्चित धरोहर भोंगापाल

Things you should know

भारत के उत्तरी एवं दक्षिणी भागों को जोड़ने में महत्वूपर्ण भूमिका निभाता आया है बस्तर का दण्डकारण्य Bastar’s Dandakaranya has played an important role in connecting the northern and southern parts of India. बौद्ध चैत्यगृह तथा मंदिरों के भग्नावशेष बस्तर में बौद्ध भिक्षुओं के आवागमन तथा निवास के प्रमाणों को पुष्टि प्रदान करते हैं। बस्तर का दण्डकारण्य (Bastar Dandakaranya) भारत …

Read More »

बेकार नहीं, कुदरत का करिश्मा है काई, बन सकती है आपके गले का हार

नैनीताल में मॉस गार्डन,गूगल में काई के बारे में पड़ताल,Google explores about Moss, Moss, Kaai,

Nature’s miracle is Moss काई के गुणों की पहचान कर पश्चिमी देशों में इस पर काफी प्रयोग किए जा रहे हैं। यूरोप में शहरों के बीच पेड़ों पर काई उगाने (Growing moss on trees between cities in Europe) से लेकर मॉस वॉल (Moss wall) तक बनाने के प्रयोग किए गए हैं। जापान में काई कई तरह से इस्तेमाल में लाई …

Read More »