Home » Tag Archives: पूछता है भारत

Tag Archives: पूछता है भारत

पूछता है भारत रिपब्लिक भारत, पूछता है भारत आज का समाचार, पूछता है भारत न्यूज, पूछता है भारत आज की न्यूज, आज का पूछता है भारत. पूछता है भारत आज की न्यूज़. पूछता है भारत खबर. पूछता है भारत आज की ताजा खबर. Poochta Hai Bharat with Arnab Goswami | Arnab goswami की ताज़ा ख़बर Republic Bharat Poochta Hai Bharat. Arnab Goswami’s programme ‘Poochta Hai Bharat’

बिना ऑक्सीजन और बिना दवाई के होने वाली हत्याएं हैं : पूछता है भारत; काली टोपी नेकरधारी बटुक कहाँ हैं !!

RSS Half Pants

चुनाव के बीच भी जब नरेंद्र मोदी दलबदल सहित बंगाल में कोरोना की घर घर डिलीवरी करने में लगे थे तब चुनाव के बावजूद वहां की जनवादी नौजवान सभा, एसएफआई और जनवादी महिला समिति के रेड वालंटियर्स संक्रमण से पीड़ित लोगों को अस्पताल पहुंचाने, उनके लिए बैड और ऑक्सीजन के बंदोबस्त के लिए जूझ रहे थे। केरल, जहां की पिनाराई …

Read More »

पूछता है भारत : राष्ट्रवाद के स्वांग से खोखला होता गणतंत्र

arnab goswami,

Poochta Hai Bharat : Republic becomes hollow due to nationalism drama रिपब्लिक टीवी के मुख्य कर्ताधर्ता और मोदी सरकार का विशेष संरक्षणप्राप्त समाचार टीवी संपादक/ एंकर, Arnab Goswami (अर्णव गोस्वामी) और टीवी रेटिंग एजेंसी, ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (Broadcast Audience Research Council -बीएआरसी या बार्क) के मुखिया, पार्थो दासगुप्त की व्हाट्सएप के जरिए बातचीत का, भारत के बहत्तरवें गणतंत्र दिवस …

Read More »

उत्तर प्रदेश का धर्मपरिवर्तन कानून : निर्दोषों का जीना हराम करने का हथियार

yogi adityanath

उत्तर प्रदेश में एक बहुत खतरनाक कानून लागू कर दिया गया है. इसका नाम है ‘उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020‘ (Prohibition of Unlawful Religious Conversion Ordinance 2020 in Hindi). यह नया कानून हिन्दू राष्ट्रवादियों के इस आरोप पर आधारित है कि मुस्लिम पुरुष षड़यंत्र के तहत हिन्दू महिलाओं को अपने प्रेमजाल में फंसा कर सिर्फ इसलिए …

Read More »

मुद्दा : क्या खोए फौजी का भी कोई मानवाधिकार है?

Opinion, Mudda, Apki ray, आपकी राय, मुद्दा, विचार

Issue: Do lost soldiers also have human rights? जब हम अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस (International Human Rights Day) का जश्न मना रहे हैं, यह पूछना लाजिमी है कि देश के किसी खोए फौजी का भी कोई अधिकार है, जिसे हम धड़ल्ले से कह सकें। यह सवाल उस देश में शर्मिंदगी का सबब हो सकता है, जो अपने फौजियों की जिंदगी और …

Read More »

झारखंड में जारी है अर्द्धसैनिक बलों की गुंडागर्दी !

झारखंड में जारी है अर्द्धसैनिक बलों की गुंडागर्दी ! Hooliganism of paramilitary forces continues in Jharkhand

Hooliganism of paramilitary forces continues in Jharkhand! झारखंड: गिरिडीह जिला के ढोलकट्टा गांव में सीआरपीएफ ने अंत्येष्टि में जुटे ग्रामीणों को पीटा झारखंड में सरकार बदल गयी है, लेकिन अर्द्धसैनिक बलों (सीआरपीएफ) की गुंडागर्दी जारी है। सीआरपीएफ जब भाकपा (माओवादी) के खिलाफ अभियान चलाने के लिए जंगलों में जाती है, तो वहाँ ग्रामीणों को भी बेवजह पीटने व गाली-गलौज करने …

Read More »

शादी कोई गुड्डे गुड़िया का खेल नहीं : दुनिया के एक तिहाई बालविवाह भारत में

Women's Health

‘Marriage: No Child’s Play’ According to a report by UNICEF, 45 crore women and girls in the world are married in childhood. यूनिसेफ की एक रिपोर्ट के अनुसार विश्व में ६५ करोड़ महिलाओं और लड़कियों की शादी बचपन में ही कर दी जाती है। इनमें से एक तिहाई से अधिक भारत में हैं जो बाकी सब देशों से अधिक है। …

Read More »

लोकहित के मामले चुनावी मुद्दे क्यों नहीं बनते हैं ?

India News in Hindi, इंडिया न्यूज़, Hindi News, हिंदी समाचार, India News in Hindi, Read Latest Hindi News, Breaking News, National Hindi News, हिंदी समाचार, National News In Hindi, Latest National Hindi News Today,todays state news in Hindi, international news in Hindi, all Hindi news, national news in Hindi live, Aaj Tak Hindi news, BBC Hindi, Hindi news paper, today's state news in Hindi, Bihar breaking news live, Rashtriya khabren,

Why do public interest matters not to become electoral issues? बिहार विधानसभा 2020 के चुनाव प्रचार (Bihar Assembly 2020 election campaign) में एक दिलचस्प परिवर्तन दिख रहा है। यह परिवर्तन एन्टी इनकम्बेंसी (Anti-incumbency) का नहीं, जाति और धर्म के ध्रुवीकरण का नहीं, किसी के प्रति सहानुभूति की लहर का नहीं, डीएनए टाइप भाषणों के विरोध का नहीं और न ही …

Read More »

पितृसत्ता और राजनीति का गठजोड़

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

Patriarchy and politics nexus 2012 में निर्भया के साथ हुए दुष्कर्म के बाद जिस तरह जनता ने सड़कों पर आकर विरोध प्रकट किया और फिर रेप कानून की भी बनाया गया और आगे अपराधियों को सजा दिलवाने और पीड़िता को न्याय दिलवाने के लिए निर्भया फंड बनाया गया तो ऐसा लगा कि अब इस तरह की वारदातें आगे नहीं होंगी, …

Read More »

बाजार में मोदीजी का ताजा जुमला, वे किसानों को उद्यमी बनाना चाहते हैं

Narendra Modi flute

वे किसानों को उद्यमी बनाना चाहते हैं, यह एक ताजा जुमला है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने इशारों-इशारों में अपनी सरकार की मंशा (BJP government’s intention) अब साफ कर दी है। भाजपा, खेती-किसानी के पक्ष में वैसे भी कभी रही ही नहीं, आज भी नहीं है। भाजपा, खेती-किसानी को, जो एक समृद्ध ग्रामीण संस्कृति (Rich rural culture) …

Read More »

सत्ताधारियों का गोडसेवादी हिंदुत्व न तो संतों की परंपरा का है और ना गांधी की

Mahatma Gandhi

गाँधी और गोडसे : विरोधाभासी राष्ट्रवाद Hindi Article By Dr. Ram Puniyani -Gandhi and Godse– Contrasting Nationalism इस वर्ष गांधी जयंती (2 अक्टूबर 2020) पर ट्विटर पर ‘नाथूराम गोडसे जिन्दाबाद‘ के संदेशों का सैलाब आ गया और इसने इसी प्लेटफार्म पर गांधीजी को दी गई श्रद्धांजलियों को पीछे छोड़ दिया. इस वर्ष गोडसे पर एक लाख से ज्यादा ट्वीट किए …

Read More »

पूछता है भारत – रिया को जमानत मिलने की खबर पिछले पृष्ठों पर कम जगह में क्यों छपी ?

TRP ke liye murgon ki ladai

रिया चक्रवर्ती को जमानत के बड़े परिप्रेक्ष्य | Big meaning of bail to Rhea Chakraborty कुछ टीवी चैनलों, और लगभग भोंकने काटने के अन्दाज में चिल्लाने वाले टीवी एंकरों ने सुशांत सिंह की दुखद मृत्यु (Tragic death of Sushant Singh) को जानबूझ कर सनसनीखेज बनाया था। यह कहना सही नहीं होगा कि रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत (Rhea Chakraborty gets …

Read More »

शासक तय करें वे गांधी के साथ हैं या गोडसे के – राम पुनियानी

Dr. Ram Puniyani - राम पुनियानी

जानिए संयुक्त राष्ट्र संघ गांधी के जन्मदिवस को अहिंसा दिवस के रूप में मनाता है Know the United Nations celebrates Gandhi’s birthday as Ahimsa Day | Report on world non-violence day The International Day of Non-Violence is marked on 2 October, the birthday of Mahatma Gandhi, leader of the Indian independence movement and pioneer of the philosophy and strategy of …

Read More »

हाथरस गैंगरेप, बलात्कार कानून और राजनीति : समझिए हाथरस गैंगरेप घटना की क्रोनोलॉजी

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

Hathras gang rape, rape law and politics अंत में तमाम हंगामों और आरोप-प्रत्यारोप के बाद, उत्तर प्रदेश सरकार ने हाथरस गैंगरेप की जांच सीबीआई को (CBI to investigate Hathras gang rape) सुपुर्द कर दी। यह निर्णय पहले ही हो जाना चाहिए था फिर भी देर से हुए इस निर्णय का स्वागत है। सीबीआई को जांच सौंपने के पहले 1 अक्टूबर …

Read More »

पूछता है भारत : क्या भाजपा के रामराज्य में यौन हिंसा एक तरह का यज्ञ है जिसमें स्त्री को आहुति देनी ही पड़ेगी

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

न्यायालय की अवधारणा और पुलिस तंत्र का न्याय | Concept of Court and Justice of Police System 5 अगस्त को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम जन्म भूमि का शिलान्यास (Foundation stone of Ram Janmabhoomi in Ayodhya) किया गया और उत्तर प्रदेश में रामराज्य की स्थापना (Establishment of Ram Rajya in Uttar Pradesh) हुई। इसी रामराज्य में प्रतिदिन महिलाओं से …

Read More »

पूछता है भारत : क्या आप अपनी संतान को गोडसे बनाना चाहेंगे ?

It is necessary to bring back the lost politics

The nation wants to know: Would you like to make your child Godse? भटक चुकी राजनीति को पटरी पर लाना ज़रूरी है, Hathras gang rape case should be studied as a model case राहुल गांधी और प्रियंका गांधी कल 3 अक्टूबर हाथरस गैंगरेप की पीड़िता के घर (Hathras gang rape victim’s house) में थे। वे वहां अन्य विपक्षी सांसदों के …

Read More »

कानून – जानिए बलात्कार की धारा 375 आईपीसी

Law and Justice

धारा 375 क्या है, IPC Section 376. Punishment for rape, 375 धारा क्या है, सरकार ने कहा है कि, हाथरस गैंगरेप (Hathras gangrape) मामले में उसके घर वालों वादी और अन्य का नार्को टेस्ट (Narco test) कराया जाएगा। नार्को टेस्ट किसी व्यक्ति के झूठ को पकड़ने के लिये कराया जाता है पर वह उस झूठ को पकड़ने के लिये जिसे …

Read More »

पूछता है भारत – ऐसी फजां में दम नहीं घुटता ?? मगर वो है कि कुर्सी से नहीं उठता

Poochhata hai Bharat

…………बुझा दो ……… इन रेप की मोमबत्तियों से कुर्सियाँ नहीं जलतीं, मोम के आंसुओं से सरकारें नहीं पिघलतीं, ख़बर फिर से वहीं उठाईगीरों ने सर उठाकर चलने वाली को दुनिया से उठा दिया लोग कोसने लगे सत्ता को किसे कुर्सी पर बिठा दिया दुख किसको कितना हुआ है, सब दिखाने में लग गये। तमाम सोये हुए लोग, इक दूजे को …

Read More »

नवउदारवादी शिकंजे में आजादी और गांधी

Mahatma Gandhi

यह लेख पाँच वर्ष पुराना है, गांधी जयंती के अवसर पर पुनः प्रकाशित किया जा रहा है 1. Independence and Gandhi in neo-liberal clutches आरएसएस ने आजादी के संघर्ष में हिस्सा नहीं लिया; और वह गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार है – ये दो तथ्य नए नहीं हैं। आजादी के बाद से आरएसएस के खिलाफ इन्हें अनेक बार दोहराया …

Read More »

बढ़ते अपराध, पुलिस के समक्ष साख का संकट और जज लोया का रास्ता

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

Increasing crime, credit crisis in front of police and judge Loya‘s way हाथरस गैंगरेप के मामले में एक महत्वपूर्ण अपडेट (An important update in the case of Hathras gangrape) यह है कि, इलाहाबाद उच्च न्यायालय (Allahabad High Court) ने इस मामले में स्वतः संज्ञान ले लिया है। पीड़िता की रात में, हाथरस जिला प्रशासन (Hathras District Administration) द्वारा चुपचाप अंतिम …

Read More »

दरोगाजी दे रहे थे अमानवीय प्रताड़ना, महिला संगठनों ने पुलिस आयुक्त से की शिकायत, अब होगी जाँच

Mohan Police Post, Commissioner of Police

Policemen were giving inhuman torture, women’s organizations complained to the police commissioner, now will be investigated लखनऊ, 28 सितंबर 2020. आज एडवा, ऐपवा, साझी दुनिया, भारतीय महिला फेडेरेशन सहित सामाजिक कार्यकर्ता नाइश हसन के साथ एक प्रतिनिधिमंडल पुलिस आयुक्त सुजीत पांडे से मिला तथा उन्हें मोहान पुलिस चौकी द्वारा स्थानीय निवासी फखरूद्दीन अली अहमद को दी गई अमानवीय प्रताड़ना से …

Read More »

भारत में अधिकतर पुलिस जातिवादी और सांप्रदायिक क्यों है

ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय प्रवक्ता और अवकाशप्राप्त आईपीएस एस आर दारापुरी (National spokesperson of All India People’s Front and retired IPS SR Darapuri)

Why Police is Casteist and Communal Sometime back a video of a police officer from Maharashtra, Bhagyashree Navtake had gone viral wherein she is seen bragging about how she files false cases against Dalits and Muslims and tortures them. It represents a crude but true picture of social prejudices in India’s police force. दिसंबर 2018 में, महाराष्ट्र के एक पुलिस …

Read More »