‘स्पीक अप इंडिया’ : कांग्रेस के बड़े नेताओं ने ही बैठा दिया कांग्रेस का भट्टा

congress

कोविड-19 के आगमन पर प्रधान सेवक के कहे ‘ कि आपदा में भी अवसर हो सकते हैं’, को कांग्रेस द्वारा मूलरूप से क्रियान्वित करने के प्रयास कल 28 मई को ‘स्पीक अप इंडिया‘ अभियान (Congress’ ‘Speak Up India‘ campaign,) के तहत किया गया। इसमें अचरज नहीं करना चाहिये कि जो प्रश्न 2019 के लोकसभा चुनाव

घर पहुंचकर भी प्रवासी मजदूरों को चैन नहीं

QUarantine centre Basantipur

भाई पद्दोलोचन इन दिनों खूब कविताएँ लिख रहा है। उसकी ताज़ा कविता इस कठिन और मुश्किल तारीख में वे तमाम-तमाम मेहनतकश मौत से पंजा लड़ते-लड़ते लौट रहे गांव. उन्हें देख कर डरो नहीं थोड़ा सम्मान थोड़ा प्यार थोड़ी समझदारी दो कोरोना हारेगा इस तरह इन दिनों गांव-गांव जाकर लोगों से सम्वाद कर रहा हूँ मित्र

भूख से बड़ा मजहब और रोटी से बड़ा ईश्वर हो तो बता देना मुझे भी धर्म बदलना है…

Azamgarh relief camp

आज़मगढ़ 14 मई 2020.  मुल्क में एक तरफ घर वापसी हो रही है दूसरी तरफ ऐसे बहुत से मज़दूर साथी हैं जिनके घर नहीं हैं, हैं भी तो वहां इससे भी बुरा हाल हो न जाए वो जहां हैं वहीं रह गए हैं. आज़मगढ़ के सलारपुर, जगदीशपुर में कूड़ा बीनने वाले (Garbage Pickers) और घूम-घूमकर

प्रवासी मजदूरों के खिलाफ मोदी सरकार का युद्ध : असंवेदनशीलता को कृपा मनवाने का अहंकार

PM Modi Speech On Coronavirus

हरेक आपदा कोई न कोई सबक जरूर देती है। कोविड-19 महामारी का एक बड़ा सबक (A big lesson of the COVID-19 epidemic) यह भी है कि मजदूरों और खासतौर पर शहरों के प्रवासी मजदूरों के प्रति मोदी सरकार की संवेदनहीनता (Modi government’s insensitivity towards migrant laborers) का मुकाबला सिर्फ और सिर्फ एक चीज कर सकती

तेलंगाना-छत्तीसगढ़ के बॉर्डर पर तीन दिनों से फंसे हैं झारखंड के 30 प्रवासी मजदूर : वहीं रास्ते में हो गई रवि मुंडा की मौत, हैदराबाद में मजदूरों को बनाया बंधक

30 migrant laborers from Jharkhand stranded at Telangana and Chhattisgarh border for three days

These news are presenting a black picture of our perverted politics and stifling system. रांची, 08 मई 2020. जहां पूरे विश्व में कोरोना की महामारी सुर्खियों में है, वहीं भारत में मजदूरों के बीच भूख का भय, बेरोजगारी की चिंता, अपनों से मिलने की बेताबी से पैदा हो रही अफरा—तफरी से उत्पन्न हो रहे माहौल

कारपोरेट लॉबी का सरकार पर जबर्दस्त दबाब, मजदूरों को उनके घर न जाने दिया जाए

दिनकर कपूर Dinkar Kapoor अध्यक्ष, वर्कर्स फ्रंट

केन्द्र सरकार का प्रवासी मजदूरों के प्रति अमानवीय रूख जारी – दिनकर कपूर Inhumane attitude of central government towards migrant workers continues – Dinkar Kapoor घर वापसी में मजदूरों की मदद ही उनमें बहाल करेगा विश्वास लखनऊ 5 मई 2020 : प्रवासी मजदूरों से किराया वसूली (Fare recovery from migrant laborers) के सवाल के राजनीतिक

प्रकाश अंबेडकर ने सरकार से पूछा – प्रवासी मजदूर किराए के लिए पैसे कहाँ से लायेंगे ?

Prakash Ambedkar

Prakash Ambedkar asked the government – From where will the migrant laborers get the money for fare? नई दिल्ली, 04 मई 2020.  वंचित बहुजन आघाड़ी के राष्ट्रीय अध्यक्ष (National President of Vanchit Bahujan Aaghadi) प्रकाश अंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने कहा है कि प्रवासी मजदूर किराए के लिए पैसे कहाँ से लायेंगे ? सरकार उन्हें तुरंत

मजदूरों को भूख से मनरेगा ही बचा सकती है        

How many countries will settle in one country

Only MNREGA can save the workers from hunger जब केंद्र सरकार के पहल पर अन्य राज्यों में फंसे राज्य के मजदूरों को लाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है और पहली खेप में 1250 प्रवासी मजदूर (immigrant workers,) झारखंड लाए गए हैं। तब सवाल उठता है कि अपने घर आकर ये लोग अपने परिवार की

दिनकर कपूर ने पीएम को लिखा खत, मजदूरों की सकुशल वापसी को मुफ्त ट्रेन चलाओ

दिनकर कपूर Dinkar Kapoor अध्यक्ष, वर्कर्स फ्रंट

Dinkar Kapoor wrote a letter to PM, run free train for the safe return of laborers लखनऊ, 30 अप्रैल 2020. वर्कर्स फंट के अध्यक्ष दिनकर कपूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की है कि प्रवासी मजदूरों की सकुशल वापसी के लिए फ्री ट्रेन चलाई जाएं। खत का मजमून निम्न है- दिनांक- 30.04.2020

लॉकडाउन- 2 के दौर की चुनौतियां : नये भाषण में अपनी पुरानी गलतियों पर पर्दा डालते नजर आये मोदी

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

Challenges of Lockdown 2 : Modi was seen covering his old mistakes in his new speech जैसी कि अपेक्षा थी प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 14 अप्रैल की प्रातः एक टीवी भाषण के जरिये 19 दिनों के लॉकडाउन-2 की घोषणा (19-day lockdown-2 announcement) कर दी। 3 मई 2020 तक के लिये घोषित इस