Home » Tag Archives: प्रेमचंद

Tag Archives: प्रेमचंद

तुम तो बिलकुल हम जैसे निकले … जिन बातों पर हंसी आती थी, उन पर रोना आ रहा है

debate

आज आर के लक्ष्मण जिंदा होते, तो जरूर ‘वॉलंटरी रिटायरमेंट’ लेते (Had RK Laxman been alive today, he would have taken ‘voluntary retirement’) रवीन्द्र रुक्मिणी पंढरीनाथ सेवा में, आदरणीय मुख्यमंत्री, महाराष्ट्र राज्य महोदय, एक सच्चे हिन्दू के नाते आप से एक अनुरोध कर रहा हूँ। आशा है, आप भी उसी भावना से उस का सम्मान करोगे। यह हिन्दू राष्ट्र है …

Read More »

सआदत हसन मंटो : जिसने भारत विभाजन को पागलपन करार देते हुए इसका कड़ा विरोध किया था, जस्टिस काटजू का लेख

Saadat Hasan Manto was a Pakistani writer, playwright and author born in Ludhiana, British India. Writing mainly in the Urdu language, he produced 22 collections of short stories, a novel, five series of radio plays, three collections of essays and two collections of personal sketches.

Saadat Hasan Manto strongly opposed Partition of India calling it madness, writes Justice katju सआदत हसन मंटो (1912-1955) तीन दिन पहले, 18 जनवरी को, सआदत हसन मंटो (1912-1955) की पुण्यतिथि थी, जिन्हें मैं दुनिया के महानतम कहानीकारों में से एक मानता हूं, और जिनकी तुलना मोपसां ( Maupassant ), सोमरसेट  मौघम ( Somerset Maugham ), डी एच लॉरेंस ( D.H.Lawrence …

Read More »

प्रेमचंद घर में – शिवरानी देवी | साहित्य से इतर प्रेमचंद | प्रो. सुधा सिंह का संवाद |hastakshep | हस्तक्षेप | उनकी ख़बरें जो ख़बर नहीं बनते

Munshi premchand

“Premchand: Ghar Mein by Shivrani Devi” review by Prof. Sudha Singh Shivrani Devi Premchand | Munshi Premchand wife Shivrani Devi लेखिका शिवरानी देवी का व्यक्तित्व कैसा था ? प्रेमचंद का निजी जीवन कैसा था? प्रेमचंद एक पति के रूप में कैसे थे ? प्रेमचंद एक पुरुष के रूप में कैसे थे ? घर गृहस्थी के लिहाज से प्रेमचंद कैसे थे …

Read More »

प्रेमचन्द का संसार एक गरीब का घर-संसार था, उन्हें ‘घृणा का प्रचारक’ ‘कलम घसीटू मुन्शी’ और क्या-क्या नहीं कहा गया

Munshi premchand

प्रेमचन्द : एक प्रेरणादायी व्यक्तित्व (Premchand: an inspiring personality) प्रेमचंद की पुण्यतिथि (8 October History) पर सरला माहेश्वरी का आलेख (Sarala Maheshwari’s article on Premchand’s death anniversary) प्रेमचन्द के जीवन और व्यक्तित्व के बारे में जो भी तथ्य (Facts about Premchand’s life and personality) मिलते हैं उनसे अन्ततोगत्वा इसी निष्कर्ष पर पहुँचा जा सकता है कि वे एस असाधारण साधारण …

Read More »