Home » Tag Archives: फासीवाद

Tag Archives: फासीवाद

एजाज़ अहमद ने मार्क्सवाद के प्रति आस्था कभी न छोड़ी

Literature news

Aijaz Ahmad never gave up his faith in Marxism | एजाज़ अहमद का व्यक्तित्व और कृतित्व | Personality and Creativity of Aijaz Ahmed in Hindi मार्क्सवादी चिंतक एजाज़ अहमद की श्रद्धांजलि सभा का पटना में आयोजन | Tribute meeting of Marxist thinker Aijaz Ahmad organized in Patna पटना, 15 मार्च। विश्वप्रसिद्ध मार्क्सवादी चिंतक व लिटररी थियोरिस्ट एजाज़ अहमद के श्रद्धाजंलि …

Read More »

किसान आंदोलन को नुकसान ही पहुंचा रहे हैं बौद्धिक योगेन्द्र यादव

Yogendra Yadav

योगेन्द्र यादव की राजनीति और किसान आंदोलन के हित ! Yogendra Yadav‘s politics and the interests of the peasant movement! संयुक्त किसान आंदोलन के नेतृत्व में योगेन्द्र यादव एक ऐसा प्रमुख नाम है जिनके साथ कोई महत्वपूर्ण किसान संगठन नहीं होने पर भी वे आंदोलन में अपनी मेहनत और एक सधे हुए बौद्धिक के नाते आंदोलन के प्रवक्ता बने हुए …

Read More »

आरएसएस और मोदी का इतिहास और दिल्ली के दंगे

Arun Maheshwari - अरुण माहेश्वरी, लेखक सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक, सामाजिक-आर्थिक विषयों के टिप्पणीकार एवं पत्रकार हैं। छात्र जीवन से ही मार्क्सवादी राजनीति और साहित्य-आन्दोलन से जुड़ाव और सी.पी.आई.(एम.) के मुखपत्र ‘स्वाधीनता’ से सम्बद्ध। साहित्यिक पत्रिका ‘कलम’ का सम्पादन। जनवादी लेखक संघ के केन्द्रीय सचिव एवं पश्चिम बंगाल के राज्य सचिव। वह हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

प्रतिक्रांति का एक समग्र राजनीतिक प्रत्युत्तर ही क्रांति का रास्ता तैयार कर सकता है History of RSS and Modi and Delhi riots आरएसएस और मोदी के इतिहास से परिचित कोई साधारण आदमी भी दिल्ली के दंगों और आगे इनकी और पुनरावृत्तियों का बहुत सहजता से पूर्वानुमान कर सकता है। फिर भी कथित रूप से दूरगामी लक्ष्यों को सामने रखने वाले …

Read More »

2019 के शिखर से मोदी का ढलान शुरू हुआ दिल्ली ने उसमें एक जोरदार धक्का दिया है

Amit Shah Narendtra Modi

दिल्ली में आप की जीत क्रांतिकारी महत्व की है AAP’s victory in Delhi is of revolutionary importance 2019 के शिखर से मोदी के ढलान का रास्ता जो शुरू हुआ है, दिल्ली ने उसमें एक जोरदार धक्के का काम किया है। मोदी का दूत अमित शाह रावण के मेघनादों और कुंभकर्णों की तरह रणभूमि में आकर खूब गरजे-बरसे, पर ज्यादा देर …

Read More »

यह लड़ाई फासीवादी सरकार के विरुद्ध लोकतंत्र की है

Akhilendra Pratap Singh

नागरिकता संशोधन कानून और नागरिकता रजिस्टर के खिलाफ चल रहे आंदोलन में शरीक हुए सेंट स्टीफेंस कॉलेज दिल्ली के बच्चों की शिनाख्त कि यह लड़ाई केंद्र की फासीवादी सरकार के विरुद्ध लोकतंत्र की है, पूरी तौर पर सटीक है। दरअसल यह लड़ाई फासीवाद बनाम लोकतंत्र की (Battle of Fascism vs Democracy) है, जो कि संविधान बचाओ के माध्यम से व्यक्त …

Read More »