Home » Tag Archives: फिल्म समीक्षा

Tag Archives: फिल्म समीक्षा

रुद्र : पर मनोरंजन के नाम पर गाली गलौज कब तक!!

film review

रुद्र वेब सीरीज़ की समीक्षा | Rudra The Edge of Darkness Review in Hindi | Rudra Web Series Review रुद्र का फ़िल्म स्कोर सबसे बेहतरीन है जो पूरी वेब सीरीज़ में रोमांच जगाए रखता है और इसे देखने का मज़ा दोगुना भी करता है रुद्र वेब सीरीज़ की कहानी रुद्र वेब सीरीज़ की कहानी अंग्रेज़ी वेब सीरीज़ लूथर का रीमेक …

Read More »

कमाठीपुरा बाज़ार में खड़ी ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’

film review

Gangubai Kathiawadi Review in Hindi | गंगूबाई काठियावाड़ी समीक्षा हिंदी में ‘कहते हैं कमाठीपुरा में कभी अमावस की रात नहीं होती।’ यह संवाद सुनते हुए निर्माता, निर्देशक ‘संजय लीला भंसाली’ की फ़िल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी‘ के लिए जोर से तालियां बजाने का दिल करता है। दिल तो तब भी करता है तालियां बजाने का जब ‘विजय राज’ पर्दे पर रजियाबाई बनकर …

Read More »

जानिए ‘जय भीम’ क्यों देखें! पूरी फिल्म इतनी लाउड और नाटकीय होने के बावजूद आपको छू क्यों नहीं पाती?

film review

‘जय भीम’ फिल्म समीक्षा | फिल्म रिव्यू: जय भीम | Jai Bhim movie review Jai Bhim Review in Hindi by Abhishek Srivastava शुरुआती आधे घंटे की जबरदस्त चटान के बाद किसी तरह लय बनी, तक जाकर ‘जय भीम’ निपटी। इस बीच बार-बार गोविंद निहलानी के किरदार (Characters of Govind Nihalani) भीखू लहानिया, भास्कर कुलकर्णी, दुशाने, भोंसले, डॉक्टर पाटील आदि याद …

Read More »

द ग्रेट इंडियन किचन : भारतीय पुरुषों के पाखंड को बेपर्दा करती एक फ़िल्म

Bollywood news, Upcoming movies, Exclusive Report, Entertainment news in Hindi, बॉलीवुड की ख़बरें, बॉलीवुड समाचार, आगामी फिल्में, विशेष रिपोर्ट, मनोरंजन समाचार हिंदी में, Bollywood ki taza khabar hindi men,

फिल्म समीक्षा  – श्वेता राजेन्द्र और विश्वनाथ कुमार The Great Indian Kitchen Review In Hindi The Great Indian Kitchen (द ग्रेट इंडियन किचन) 2021 में मलयाली भाषा में बनी है, लेकिन अंग्रेजी सबटाइटल में उपलब्ध है। निर्देशक हैं जियो बेबी (JEO BABY) । दुनियाभर में खास कर भारत में घर और रसोई महिलाओं के लिये कैदखाना से कम नहीं है, …

Read More »

इंसानी मन की दमित इच्छाओं का ‘आखेट’

aakhet

‘आखेट’ फ़िल्म समीक्षा | ‘Aakhet’ film review फ़िल्म के पटकथा लेखक, निर्देशक रवि बुले यूँ तो पेशे से फ़िल्म समीक्षक है लेकिन पहली बार ‘आखेट’ फ़िल्म से उन्होंने फिल्म निर्देशक के रूप में डेब्यू किया है। ‘आखेट’ फ़िल्म की कहानी कुणाल सिंह की लिखी कहानी ‘आखेटक’ पर आधारित है। फ़िल्म जंगलों से खत्म हो रहे बाघों पर बात करती है। …

Read More »

चुड़ैल से प्यार? हंसाने और डराने में नाकाम है ये रूही

roohi

फिल्म समीक्षा – रूही | Movie Review – Roohi कोरोना काल की भयावहता से गुजरने के बाद आखिरकार सिनेमा हॉल खुल चुके हैं और फ़िल्म रिलीज़ हुई है रूही। इस फ़िल्म को स्त्री फ़िल्म के समक्ष बताकर प्रचारित किया गया था। लेकिन यह फ़िल्म  जब अपनी परतें खोलती है तो निकलकर कुछ और ही आता है। कई भाषाओं के सम्मिश्रण …

Read More »

फिल्म निःशब्द की भूमिका की तरह थी एक दिन अचानक

Ek Din Achanak

गत शताब्दी के नब्बे के दशक में जो श्रेष्ठ फिल्में बनीं, उनमें से एक सुप्रसिद्ध निर्देशल मृणाल सेन के निर्देशन में बनी फिल्म ‘एक दिन अचानक’ भी है। जिस फिल्म में जब श्रीराम लागू, अपर्णा सेन, शबाना आज़मी, मनोहर सिंह (Shreeram Lagoo, Aparna Sen, Shabana Azmi, Manohar Singh) आदि समानांतर सिनेमा (Parallel cinema) के लिए प्रसिद्ध उन कलाकारों ने अभिनय …

Read More »