श्रद्धा वाल्कर के गिद्ध-भोज के लिए जुटान

क्या श्रद्धा वाल्कर अकेली है? यह पक्का किया जाना चाहिए कि उन्नाव और बदायूं के ऐसे ही अपराधियों की तरह श्रद्धा वाल्कर के अपराधी छूट नहीं जाएंगे। हाथरस और कठुआ के वहशियों की तरह सम्मानित नहीं किये जायेंगे।

Read More

भारत जोड़ो यात्रा : ऐ भाई राहुल! जाना किधर है ? मंजिल कहाँ है ?

यात्राएं वही सफल होती हैं जो अपनी मंजिल ठीक तरह से चुनती हैं और उसके अनुरूप मार्ग निर्धारित करती है। अभी तक नहीं लगता कि भारत जोड़ो यात्रा की कोई निश्चित मंजिल है,

Read More

हिन्दी; ई की जगह ऊ की मात्रा : हिंदी के हिन्दुत्वीकरण की साजिश

अमित शाह की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति की रिपोर्ट (Report of the parliamentary committee headed by Amit Shah) ने भाषा के संबंध में अब तक की मान्य, स्वीकृत और संविधानसम्मत नीति को उलट कर पूरे देश पर जबरिया हिंदी थोपने का रास्ता खोलने की आशंका साफ़-साफ़ सामने ला दी है। 

Read More

मदमस्त दरबारी पर्यटक राजा, धूमधड़ाके से बज रहा संविधान का बाजा

यह राजा भी वैसा ही है। पूरी तरह निर्वसन और नंगा। अडानी – अम्बानी और अमरीकी ठगों द्वारा तैयार की गयी नयी नयी पोशाकों में वह जितना इतराता है उतना ही अपनी नंगई को उघारता है।

Read More

दो फैसले, एक सजा और एक पैरोल

मोदी और खट्टर की और बाकी भाजपा सरकारें आशाओं और उम्मीदों पर भले कभी खरी न उतरें, आशंकाओं पर हमेशा खरी उतरती हैं।

Read More

आरएसएस : “तुम इतना जो बहका रहे हो; क्या जुर्म है जिसको छुपा रहे हो।”

एक ही समय में कई कई जुबानों से बोलने में सिद्धहस्त राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तरफ से अब एक और शिगूफा उछाला गया है।

Read More

मस्जिद की चौखट पर भागवत : क्या मिला अर्जे मुद्दआ करके, बात भी खोई इल्तज़ा करके

आरएसएस प्रमुख की मस्जिद विजिट (RSS chief’s mosque visit) एक नयी घटना है, और यह जियारत नहीं है साफ़ साफ़ सियासत है। इससे पहले मस्जिदों तक पहुँचने के मामले में आरएसएस का नाम मालेगाँव, मक्का मस्जिद और ऐसे ही दीगर मामलों में आता रहा था। कहने की जरूरत नहीं कि ये सभी मामले मस्जिदों में जाकर इमामों और मौलवियों और हाफिजों के साथ मिलने मिलाने के नहीं थे। इस बार सरसंघचालक खुद पहुंचे।

Read More

हैरी पॉटर और चम्बल किसानों की जीत उसके चार सबक

क्या अब कभी सूर्योदय नहीं होगा? “अब कुछ नहीं हो सकता” का प्रभावी सिंड्रोम इन दिनों की ख़ास बात “क्या हो रहा है नहीं है”,

Read More

उदयपुर : बर्बरता की गला काट होड़

राजस्थान के उदयपुर में एक दर्जी कन्हैयालाल की दो उन्मादियों द्वारा अत्यंत बर्बरता के साथ की गयी हत्या (Kanhaiyalal, a tailor, was brutally murdered by

Read More