बिहार चुनाव : लोकतंत्र की खूबी की मिसाल

Bihar assembly election review and news

कहना न होगा कि भारत के लोकतंत्र की महागाथा दुखों और विडंबनाओं से भरी है. यहां लोकतंत्र की खूबी के बूते जो भी सत्ता में आता है, उसका गला घोंटने पर आमादा हो जाता है. पार्टियों/नेताओं की येन-केन-प्रकारेण सत्ता से चिपके रहने की तानाशाही प्रवृत्ति ने भारतीय लोकतंत्र को गहराई तक विकृत किया है.

मितरों ! विकास से सावधान

Nitish Kumar Bihar CM

इस बीच ’विकास के गुजरात मॉडल’ शोर ने नरेंद्र मोदी को एक ऐसा सुपर हीरो बना दिया है जिससे चमत्कृत होकर लोग उन्हें बेहद ताकतवर प्रधानमंत्री बना दिए. जहां तक नीतीश का सवाल है, उन्हें भी सवर्णवादी मीडिया द्वारा विकास का शोर मचाने का लाभ मिला और वह विकास के नाम पर चुनाव पर जीतने में सफल हुए.

बिहार विधानसभा चुनाव : अब बदलने लगे हैं चुनावी मुद्दे

Bihar assembly election review and news

बिहार की राजनीति में यह अहम चुनाव इसलिए भी हैं क्योंकि युवाओं को लेकर जिस आक्रामकता से रैलियों में बातचीत हो रही है, रोज़गार की बात हो रही है, व्यवसाय की बात हो रही है वह बिहार के संदर्भ में जेपी के आंदोलन के बाद शायद ही सुनी गई हो।

गुलामी से मुक्ति : बिहार विधानसभा चुनाव में सबसे बड़े मुद्दे की अनदेखी!

Bihar assembly election review and news

Freedom from slavery: Biggest issue ignored in Bihar assembly elections! बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण (First phase of Bihar assembly election) का वोट पड़ चुका है और पार्टियां अगले चरणों के चुनाव के प्रचार में जुट चुकी हैं. अब तक के चुनाव प्रचार में जितने भी मुद्दे उठाए गए हैं, उनमें तेजस्वी यादव द्वारा

नीतीश कुमार मुख्य ‘मौका’ मंत्री और मोदी उप मुख्य ‘धोखा’ मंत्री !

Lalu Prasad Yadav

लालू प्रसाद यादव के ट्विटर हैंडल से एक कार्टून भी पोस्ट किया गया है, जिसमें नीतीश, सुशील मोदी को मौका मांगते दिखाया गया है, जबकि जनता उनसे कितना मौका देने की बात कह रही है।

नीतीश कुमार की खाट खड़ी कर सकते हैं जदयू और भाजपा से बगावत कर चुनाव लड़ रहे नेता

Nitish Kumar Bihar CM

बिहार विधानसभा चुनाव पर पटना से वरिष्ठ पत्रकार चरण सिंह राजपूत की रिपोर्ट Report of senior journalist Charan Singh Rajput from Patna on Bihar assembly election बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) का बिगुल बज चुका है। सभी दल पूरी तरह से चुनावी समर में उतर चुके हैं। यह चुनाव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए