इस मजदूर दिवस पर जानें झारखंड के एक ‘प्रतिबंधित’ मजदूर यूनियन के बारे में

कामरेड सत्यनारायण भट्टाचार्य उर्फ सत्तो दा, Comrade Satyanarayan Bhattacharya alias Satto da

Learn about a ‘banned’ labor union of Jharkhand on this Labor Day Capitalism is moving towards its destruction all over the world अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस (International Labor Day) हमें प्रत्येक वर्ष याद दिलाता है कि किस तरह से मजदूरों ने अपने अधिकारों को पाने के लिए संघर्ष किया और अपने प्राणों तक की आहुति दी।

गरीब मजदूरों के सच्चे दोस्त थे मजदूर नेता व जनपक्षधर अधिवक्ता कामरेड सत्तो दा

कामरेड सत्यनारायण भट्टाचार्य उर्फ सत्तो दा, Comrade Satyanarayan Bhattacharya alias Satto da

Comrade Satto da, the labor leader and public advocate was true friend of poor laborers ‘कामरेड सत्यनारायण भट्टाचार्य उर्फ सत्तो दा (Comrade Satyanarayan Bhattacharya alias Satto da) गरीब मजदूरों के सच्चे दोस्त थे। वे ताउम्र गरीबों के हक-अधिकार की रक्षा के लिए लड़ते रहे। वे इस अन्यायी व लुटेरी व्यवस्था के घोर विरोधी थे। वे मार्क्सवाद-लेनिनवाद-माओवाद