Home » Tag Archives: मीडिया

Tag Archives: मीडिया

बाल यौन अत्याचार : नए सिरे से एक बहस

Say no to Sexual Assault and Abuse Against Women

Sexual torture in children: a fresh debate यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम, 2012, (POCSO ) अधिनियम, के तहत मुंबई में गठित अदालत की एक स्पेशल जज ने पिछले दिनों एक अहम फैसला सुनाया। अपने फैसले में सुश्री भारती काले ने उस यौन अत्याचार (Sexual harassment) के उस अभियुक्त को जमानत देने से भी मना किया जिसने पांच साल …

Read More »

पूछता है भारत – रिया को जमानत मिलने की खबर पिछले पृष्ठों पर कम जगह में क्यों छपी ?

TRP ke liye murgon ki ladai

रिया चक्रवर्ती को जमानत के बड़े परिप्रेक्ष्य | Big meaning of bail to Rhea Chakraborty कुछ टीवी चैनलों, और लगभग भोंकने काटने के अन्दाज में चिल्लाने वाले टीवी एंकरों ने सुशांत सिंह की दुखद मृत्यु (Tragic death of Sushant Singh) को जानबूझ कर सनसनीखेज बनाया था। यह कहना सही नहीं होगा कि रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत (Rhea Chakraborty gets …

Read More »

मीडिया संस्थानों के नाम खुला पत्र, आपदा में अवसर न तलाशें, पत्रकारों की सेलरी न मारें

media

भोपाल, 06 अक्तूबर 2020. इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य लज्जाशंकर हरदेनिया, एवं इंडियन जर्नलिस्ट यूनियन सदस्य राजु कुमार,  ने मीडिया संस्थानों के नाम खुला पत्र लिखकर आपदा में अवसर न तलाशने को कहा है। पत्र का मजमून निम्न है मीडिया संस्थानों के नाम खुला पत्र दिनांक: 06 अक्टूबर, 2020 प्रिय, 24 मार्च 2020 के बाद अपने देश के …

Read More »

संजय घोष मीडिया अवार्ड-2020 की घोषणा

media

Announcement of Sanjay Ghosh Media Award-2020 नई दिल्ली 27 सितंबर 2020, दिल्ली स्थित एक गैर-लाभकारी संगठन चरखा डेवलपमेंट कम्युनिकेशन नेटवर्क ने “संजय घोष मीडिया अवार्ड -2020” में आवेदन की घोषणा की है। यह उन लेखकों के लिए एक मंच प्रदान करेगा जो ग्रामीण महिलाओं की छिपी प्रतिभा को उजागर करने का साहस रखते हैं। कुल पांच महीनों के लिए, पांच …

Read More »

अमेरिका के हालात से अपने हालात की तुलना कर लें, वहां जो हो रहा है,हू-ब-हू भारत में वही हो रहा है

Donald Trump

Compare your situation with the situation in America, what is happening there is happening exactly in India. अमेरिका के हालात से अपने हालात की तुलना कर लें। वहां जो हो रहा है,हू-ब-हू भारत में वही हो रहा है। सिर्फ मृतकों की संख्या वहां 81 हजार पार है। बेरोज़गार दस करोड़। हमारे यहां आंकड़े सच बोल रहे हैं? वहां भी गरीब …

Read More »

कहानी अधूरी छोड़कर जाने वाला नायक इरफान ख़ान

Irrfan Khan

The protagonist, leaving the story incomplete, Irrfan Khan “दुख सबको माँजता है / और चाहे स्वयं सबको मुक्ति देना वो न जाने / किन्तु जिनको माँजता है/ उन्हें ये सीख देता है कि सबको मुक्त रखे” – अज्ञेय नई दिल्ली, 29 अप्रैल 2020. जैविक बीमारी कोरोना नें हमें हमारे दुख में भी अकेला कर दिया है। अपने-अपने घरों में रहते …

Read More »

जब-जब यह सोच सरकार बनाती है विचारों का खुलापन सीलेपन की बदबू से घिर जाता है,

Rajeev mittal राजीव मित्तल वरिष्ठ पत्रकार हैं।

इतिहास, शिक्षा, साहित्य और मीडिया।  (History, education, literature and media । ) ये चार ऐसे शक्तिशाली हथियार हैं, जो किसी भी समाज को लंबे समय तक कूपमंडूक और बौरा देने की क्षमता रखते हैं। युद्ध में हुई क्षति के घाव तो देर-सबेर भर जाते हैं, लेकिन ज़रा बताइये कि उन घावों जख्मों का क्या किया जाए, जो मनुस्मृतियों, वेद पुराण …

Read More »