स्टे होम में लोग स्टे सेफ नहीं हैं : सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों व आम जनता पर राजकीय दमन

freelance journalist Rupesh Kumar Singh

People are not stay safe in stay home: state repression on socio-political activists, journalists and general public जनपक्षधर स्वतंत्र पत्रकार रूपेश कुमार सिंह ने 12 मई 2020 को देश भर में हो रहे पत्रकारों, राजनीतिक-समाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों-नौजवानों, व आम जनता पर किये जा रहे राजकीय दमन पर छात्र संगठन ‘इन्कलाबी छात्र मोर्चा (इलाहाबाद)’ के फेसबुक

सरकार लॉक डाउन का गलत इस्तेमाल जेलों में ठूंसने की साजिश के तहत कर रही – रिहाई मंच

Rajeev Yadav

पत्रकारों-छात्र नेताओं पर कार्रवाई लोकतान्त्रिक आवाज़ों का दमन- रिहाई मंच Action on journalists and student leaders suppression of democratic voices – Rihai Manch लखनऊ 22 अप्रैल 2020। रिहाई मंच ने कश्मीरी पत्रकारों और दिल्ली के छात्र नेताओं पर मुकदमे को सत्ता द्वारा उत्पीड़न की कार्रवाई (Oppression action by power) बताया है. मंच ने पत्रकार मसरत