बलात्कार : स्त्री देह में ‘मजा’ और ‘सजा’ की संस्कृति

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

धर्मशास्त्रों में स्त्री के लिए किसी स्वर्ग का प्रावधान नहीं है, पति के चरणों में ही स्त्री का स्वर्ग बताया गया है। हमारा शास्त्र, हमारा साहित्य और हमारा मीडिया लगातार स्त्री की इस छवि को पुष्ट करते हैं।