Home » Tag Archives: लॉकडाउन में कवि

Tag Archives: लॉकडाउन में कवि

लॉकडाउन है, मोरल डाउन नहीं ! तम से क्या घबराना, सूरज रोज निकलता है

लॉकडाउन में कवि, लॉकडाउन, लॉकडाउन है, मोरल डाउन नहीं, वर्क फ्रॉम होम, Poet in lockdown, lockdown, There is lockdown, not moral down, work from home,

Lockdown, not Moral Down! नई दिल्ली, 27 अप्रैल 2020.  मंच के लोकप्रिय कवियों ने ‘वर्क फ्रॉम होम’ करते हुए एक (सीक्वल) सकारात्मक ऊर्जा से परिपूर्ण एक वीडियो तैयार किया है। शिशुपाल सिंह ‘निर्धन’ जी के इस गीत को डॉ. विष्णु सक्सेना और सुश्री मुमताज़ नसीम ने स्वरबद्ध किया है। श्री अरुण जैमिनी का समन्वय; चिराग़ जैन का  संयोजन/निर्देशन और डॉ. …

Read More »