योगी राज में ‘लॉ एंड आर्डर’ पर लॉक डाउन, अपराधियों का राज, जिनसे अपना जिला नहीं संभल रहा वो प्रदेश क्या संभालेंगे – रिहाई मंच

Rajeev Yadav

कानपुर, गोंडा, गोरखपुर समेत यूपी में अपहरणकर्ताओं के हौसले बुलंद Lockdown on ‘Law and Order’ in Yogi Raj, the rule of criminals. बहन-बेटियों के बाद सूबे में बच्चे तक सुरक्षित नहीं हैं लखनऊ, 29 जुलाई 2020. रिहाई ने उत्तर प्रदेश में कानपुर, गोंडा के बाद गोरखपुर में हुए अपहरण और हत्या पर बोला कि योगी

जीडीपी शून्य से नीचे है, तो इसका 20% कितना होगा? हिन्दूराष्ट्र का एजेंडा पूरा हुए बिना न कोरोना खत्म होगा और न लॉक डाउन

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

नीरो खूब बजाता था और हिटलर से बेहतर कोई बोल नहीं सकता Nero played a lot and no one could speak better than Hitler बीस लाख करोड़। जीडीपी का दस प्रतिशत। आत्मनिर्भर अर्थ व्यवस्था। जीडीपी शून्य से नीचे है। तो इसका बीस प्रतिशत कितना होगा? कारोबार और उद्योग धंधे को दो महीने में जो नुकसान

मोदी सरकार का देश बेचो अभियान : लॉक डाउन के बाद काला दिन मनाएंगे 15 लाख बिजली कर्मचारी

Shailendra Dubey, Chairman - All India Power Engineers Federation

नेशनल कोआर्डिनेशन कमेटी ऑफ इलेक्ट्रिसिटी इम्पलॉईज़ एंड इंजीनियर्स- National Coordination Committee of Electricity Employees and Engineers (एनसीसीओईई ) के बैनर तले देश के 15 लाख बिजली कर्मचारी व इंजीनियर इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 (Electricity (Amendment) Bill 2020) के विरोध में लॉकडाउन के बाद काला दिन मनाएंगे बिजली सेक्टर के सभी बड़े फेडरेशनों ने ऑन लाइन

कर्मचारियों के वेतन पर सरकार का हमला गलत

Modi in Gamchha

Government attack on employees’ salary तेलंगाना, आंध्रा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, तमिलनाडु के बाद अब केंद्र सरकार ने भी अपने लगभग 60 लाख कर्मचारियों और 40 लाख पेंशनधारियों से कोरोना से लड़ने की कीमत वसूलने के आदेश (Order to recover the cost of fighting Corona) निकाल दिए हैं। यदि कोई चाहे तो इसे संकीर्णता कह सकता है

कोरोना से प्रभावित इन समस्याओं के जंजाल से किसान ही बाहर निकाल सकता है

More than 50 bighas of wheat crop burnt to ashes of 36 farmers of village Parsa Hussain of Dumariyaganj area

Only the farmer can get out of these problems affected by Corona आज के हालात में समझदार आदमी की समझ में आ गया होगा कि कोरोना वायरस के रूप में दुनिया के दूसरे देशों के साथ ही हमारे देश पर भी कितना बड़ा संकट आ गया है। भले ही हमारे देश में दूसरे देशों के

भारत अमेरिका नहीं बनेगा : भुखमरी इतिहास बदल देती है साहेब, चीन की भुखमरी की कोख से क्रांति का जन्म हुआ था

Donald Trump and Xi Jinping

India will not become America: starvation changes history Saheb, revolution was born from the hunger of Chinese starvation अभी लॉक डाउन लम्बा चलेगा। घरों में बन्द आप नोबेल विजेता लेखिका पर्ल बक की चीन की भुखमरी और क्रांति पर केंद्रित क्लासिक उपन्यास गुड अर्थ (The refugee story by Pearl S Buck in Hindi) जरूर पढ़ लें। चीन

माकपा ने पूछा : प्रधानमंत्रीजी, जनता के प्रति राज्य के कर्तव्यों को कौन पूरा करेगा? अनियोजित लॉक डाउन के कारण हुई 200 से ज्यादा मौतों की जिम्मेदारी कौन लेगा?

CPIM

प्रधानमंत्री के संबोधन पर माकपा की प्रतिक्रिया | CPI-M’s response to Prime Minister’s address रायपुर, 14 अप्रैल 2020. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPI-M) ने प्रधानमंत्री मोदी के आज के संदेश (Modi speech today) पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि तीन सप्ताह के लॉक डाउन (तीन सप्ताह के लॉक डाउन) के त्रासद अनुभव से उन्होंने

भयंकर मानसिक तनाव से जूझ रहा है भारतीय मध्यम वर्ग मगर शान्त बैठी हैं सरकारें ?

#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

Indian middle class is struggling with severe mental stress but governments are silent? कभी आपने सोचा है कि विश्व में सबसे बड़े पांच उद्योग कौन से हैं (What are the top five industries in the world) ? शस्त्र उद्योग, नशा उद्योग, दवाई उद्योग, खनिज उद्योग और भोजन उद्योग है। सोचने या चिंता वाली बात यह

वर्क फ्रॉम होम की जगह वर्क आउट फ्रॉम होम करें और स्वस्थ रहें : फ़िज़ियोथेरेपिस्ट डॉ. मुबारक 

गाजियाबाद के फिजियोथेरेपी एवं रिहैबिलिटेशन डिपार्टमेंट के फिजियोथैरेपिस्ट (Physiotherapist in Delhi/NCR,) डॉ मुबारक,

Work out from home instead of work from home and stay healthy: Physiotherapist Dr. Mubarak नई दिल्ली, 07 अप्रैल 2020. विश्व स्वास्थ्य दिवस (World health day) के अवसर पर लॉक डाउन एवं वर्क फ्रॉम होम के दौरान यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, कौशांबी, गाजियाबाद के फिजियोथेरेपी एवं रिहैबिलिटेशन डिपार्टमेंट के फिजियोथैरेपिस्ट (Physiotherapist in Delhi/NCR,) डॉ मुबारक,