हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार, बचता तानाशाह भी नहीं है। उसका अंत तो और भी दारुण होता है

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का चुपके से रात के अंधेरे में समस्त मानवीय और वैधानिक मूल्यों को दरकिनार कर किया गया अंतिम संस्कार अनुचित है और बचता तानाशाह भी नहीं है। उसका अंत तो और भी दारुण होता है …. बता रहे हैं अवकाशप्राप्त आईपीएस अफसर विजय शंकर सिंह

शर्मनाक ज़ुबांबंदी का प्रतीक है उच्च सदन का म्यूट हो जाना

Parliament of India

Mutation of the Upper House is a sign to be silent The suspension of eight members from the Rajya Sabha is also illegal. मीडिया की एक खबर के अनुसार, सभापति राज्यसभा द्वारा किया गया राज्यसभा से आठ सदस्यों का निलंबन भी अवैधानिक है, क्योंकि जिन्हें निलंबित किया गया है उनका पक्ष तो सुना ही नहीं

कृषि विधेयक : नोटबन्दी, जीएसटी, तालाबंदी के बाद अब यह चौथा मास्टरस्ट्रोक, जो अर्थव्यवस्था की रही सही कमर तोड़ेगा

More than 50 bighas of wheat crop burnt to ashes of 36 farmers of village Parsa Hussain of Dumariyaganj area

2 farm bills clear Rajya Sabha hurdle amid protests रविवार को राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे (Opposition uproar in Rajya Sabha) के बीच कृषि विधेयक ध्वनिमत से पारित हुए। इसके साथ ही मोदी सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में तथाकथित नए सुधार के कार्यक्रमों को अमलीजामा पहनाने के लिए लाए गए कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य