मनमोहन सिंह के बच्चे : विदेशी धन का यह फंदा काटना ही होगा

Children of Manmohan Singh

यह लेख हिंदी मासिक ‘युवा संवाद’ के दिसंबर 2012 अंक में ‘समय संवाद‘ स्तंभ के अंतर्गत छपा था। ‘भ्रष्‍टाचार विरोध : विभ्रम और यथार्थ’ (वाणी प्रकाशन) पुस्‍तक में भी संकलित है। मौजूदा सरकार द्वारा देश बेचने का काम (Selling the country by the current government) देश के ही नाम पर तेज़ी से किया जा रहा