ऋषि सुनक : फोकट का गर्व, या असली?

ऋषि सुनक पर गर्व क्यों? हम तो हम हैं। किसी भी बात पर गर्व कर सकते हैं। भगवान को लोक बनाकर भी और अयोध्या में दीपोत्सव का कीर्तिमान बनाकर भी। हम क्षुधा सूची में 101 वें स्थान पर आकर भी कहां दुखी होते हैं?

Read More