Home » Tag Archives: शिक्षा

Tag Archives: शिक्षा

भारत में ट्रांसजेंडर : सतत विकास के लिए लैंगिक समानता ज़रूरी

Gender equality is essential for sustainable development

बगिया के सभी फूल सुन्दर हैं : सतत विकास के लिए लैंगिक समानता ज़रूरी भारत में ट्रांसजेंडर की स्थिति २०११ की जनगणना के अनुसार, भारत में ४.९ लाख ट्रांसजेंडर हैं (जिनमें से मात्र ३०००० चुनाव आयोग में पंजीकृत हैं), लेकिन उनकी वास्तविक संख्या इससे कई गुना ज़्यादा अनुमानित है। भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा २०१४ में दिए गए ऐतिहासिक फैसले …

Read More »

राष्ट्रीय शिक्षा-नीति 2020 : सार्वजनिक शिक्षा-प्रणाली को ध्वस्त करने वाला दस्तावेज़

new education policy

राष्ट्रीय शिक्षा-नीति 2020 : नव-उपनिवेशीकरण की दिशा में छलांग National education policy 2020: leap towards neo-colonization नई राष्ट्रीय शिक्षा-नीति 2020 (यहां से आगे शिक्षा-नीति) में शिक्षा के निजीकरण से आगे शिक्षा का निगमीकरण (कारपोरेटाइजेशन) करते हुए, भारतीय शिक्षा के नव-उपनिवेशीकरण (नियो-कोलोनाइजेशन) की दिशा में एक लंबी छलांग लगाई गई है. शिक्षा-नीति के इस नए आयाम को समझने की जरूरत है. …

Read More »

2020 : राष्ट्रीय शिक्षा दिवस और मौलाना आजाद की शिक्षा

Maulana Abul Kalam Azad

2020: National Education Day and Maulana Azad’s education National Education Day 2020: क्यों मनाया जाता है राष्‍ट्रीय शिक्षा दिवस? जानिए देश के पहले शिक्षा मंत्री के बारे में अहम बातें मौलाना अबुल कलाम आजाद के जन्म दिवस 11 नवम्बर (Maulana Abul Kalam Azad’s Birthday 11 November) को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाने का निर्णय 2008 में लिया गया …

Read More »

हिन्दू समाज के ठेकेदारों ने ईश्वर चन्द्र विदयासागर को बार-बार जान से मारने की कोशिश की

Ishwar Chandra Vidyasagar,ईश्वर चंद्र विद्यासागर,ईश्वर चन्द्र विदयासागर,

ईश्वर चंद्र विद्यासागर पर निबंध | Essay on Ishwar Chandra Vidyasagar in Hindi 250 words essay on Ishwar Chandra Vidyasagar आभार सुबीर वन्दना दास। तुमने हिन्दू धर्म के महान समाज सुधारक को याद किया। जिन्होंने शिक्षा आंदोलन चलाया। बेमेल और बहू विवाह, सती प्रथा पर रोक लगवाई। विधवा विवाह का प्रचलन किया और मनुस्मृति के मुताबिक सारे अधिकारों से वंचित …

Read More »

यह गांधी के रामराज्य की नहीं, शंबूक वध और सीता वनवास वाले रामराज्य की तैयारी है

PM Modi Speech On Coronavirus

वंचितों को बाहर कैसे करते हैं? मोदी राज के छ: साल में आंकड़ों की विश्वसनीयता का जैसा ध्वंस हुआ है, उसकी तुलना आजादी की लड़ाई में से निकले, शासन के धर्मनिरपेक्ष, जनतांत्रिक स्वरूप के ध्वंस से ही की जा सकती है। फिर भी आंकड़ों की विश्वसनीयता (Data reliability) के इन प्रश्नों को अगर उठाकर भी रख दिया जाए तब भी, …

Read More »

इस सृष्टि ने सिर्फ और सिर्फ इंसान बनाया…!

आकांक्षा कुरील बी.एड., महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा (महाराष्ट्र)

इंसान न हिंदू बनाया, न मुसलमान बनाया न सिक्ख बनाया, न ईसाई बनाया न बौद्ध बनाया और न जैन बनाया इस सृष्टि ने सिर्फ और सिर्फ इंसान बनाया…! जब तू इस सृष्टि में आया न ऊँच-नीच था न भेदभाव नाही अत्याचार मिलजुल कर सब रहते थे खुशहाल…!! लेकिन समाज के कुछ तथाकथित लोगों ने बांटा इस समाज को वर्णों और …

Read More »

इस्लाम ने शिक्षा को बताया कामयाबी की राह

imran khan and sheikh hasina

पाकिस्तान और बंग्लादेश इस्लामिक देश, एक ने आतंक को चुना तो दूसरे ने शिक्षा और विज्ञान। Pakistan and Bangladesh are Islamic countries, one chose terror and the other education and science. आधुनिक समाज में इस्लाम के बारे में सबसे बड़ी यह गलत धारणा (The biggest misconception about Islam in modern society) बन गई है कि ये एक आतंकवादी धर्म है …

Read More »

जब-जब यह सोच सरकार बनाती है विचारों का खुलापन सीलेपन की बदबू से घिर जाता है,

Rajeev mittal राजीव मित्तल वरिष्ठ पत्रकार हैं।

इतिहास, शिक्षा, साहित्य और मीडिया।  (History, education, literature and media । ) ये चार ऐसे शक्तिशाली हथियार हैं, जो किसी भी समाज को लंबे समय तक कूपमंडूक और बौरा देने की क्षमता रखते हैं। युद्ध में हुई क्षति के घाव तो देर-सबेर भर जाते हैं, लेकिन ज़रा बताइये कि उन घावों जख्मों का क्या किया जाए, जो मनुस्मृतियों, वेद पुराण …

Read More »