शेष नारायण सिंह : एक यायावर!

शेष नारायण सिंह अचानक और असमय चले गए। परिजनों और मित्रों तथा चाहने वालों की विशाल संख्या को शोकाकुल छोड़ गए। हिंदी पत्रकारिता को, जिसमें

Read More

शेष जी अद्वितीय थे, उन जैसा न कोई हुआ न होगा

कल रात इत्मीनान से सोया। noida पुलिस कमिश्नर आलोक जी ने जानकारी दी कि Shesh भैया के लिए प्लाज़्मा की अतिरिक्त व्यवस्था भी लोकल स्तर

Read More

शेष जी पर लिखने लगूं तो जगह कम पड़ जाएगी

1993 में दिल्ली आने से पहले तक बीबीसी सुनने का जबरदस्त रोग था..उन्हीं दिनों सुबह के कार्यक्रम में अखबारों की समीक्षा का एक कार्यक्रम आना

Read More