Home » Tag Archives: श्रीलंका

Tag Archives: श्रीलंका

आबादी नियंत्रण : संघ के सांप्रदायिक तरकश का एक और तीर

rajendra sharma

श्रीलंका के संकट का, जो राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के इस्तीफे (Sri Lankan President Gotabaya Rajapaksa resigns) और कामचलाऊ राष्ट्रपति सह प्रधानमंत्री, रनिल विक्रमसिंघे के अवश्यंभावी इस्तीफे के बाद भी, आसानी से हल होता नजर नहीं आता है, एक सबक भुक्तभोगी और प्रेक्षक, सभी लगभग एक राय से मान रहे हैं। सबक यह है कि मजबूत तथा ताकतवर राष्ट्र बनाने और …

Read More »

श्रीलंका के संकट के सबक : भारत को क्या करना चाहिए

Dr. Ram Puniyani

हमारे पड़ोसी देश श्रीलंका का संकट लगातार गहरा हो रहा है। श्रीलंका के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति का त्यागपत्र हो चुका है। जनता सड़कों पर उतर आई और राष्ट्रपति भवन पर कब्जा कर लिया। श्रीलंका के संकट से दुनिया चकित है। लेकिन सवाल यह है कि श्रीलंका का मौजूदा संकट किसकी देन है? क्या सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति श्रीलंका की बर्बादी …

Read More »

क्या श्रीलंका 90 से हावी जन कल्याण के वैश्वीकरण मंत्र की कब्र बनेगा?

opinion, debate

दो करोड़ बीस लाख की आबादी वाला भारत का पडोसी देश श्रीलंका, वित्तीय और राजनीतिक संकट से जूझ रहा है. प्रदर्शनकारी जनता सरकारी निकम्मेपन के विरोध में सड़कों पर है और सरकार के मंत्री सामूहिक इस्तीफ़े दे रहे हैं. सन् 1948 में स्वतंत्रता मिलने के बाद से श्री लंका, इस समय सबसे ख़राब आर्थिक स्थिति का सामना कर रहा है. …

Read More »

एक क्लिक में आज की बड़ी खबरें । 11 जुलाई 2022 की खास खबर

headlines breaking news

ब्रेकिंग : आज भारत की टॉप हेडलाइंस Top headlines of India today. Today’s big news 11 July 2022 भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड के 16,678 नए मामले आए, 26 मौतें प्राप्त जानकारी के मुताबिक भारत में सोमवार को कोविड-19 के 16,678 नए मामले सामने आए, जो पिछले दिन के 18,257 मामलों की तुलना में कम हैं। साथ ही …

Read More »

आ गई जनता और सिंहासन खाली हो गया : श्रीलंका में दुनिया ने सच होते देखा

Sri Lankan economic crisis in Hindi

श्रीलंका के हालात से भारत को क्यों चेतना चाहिए? वर्तमान श्रीलंकाई आर्थिक संकट पर संपादकीय हिंदी में (Editorial on present Sri Lankan economic crisis in Hindi) | देशबन्धु में संपादकीय आज (Editorial in Deshbandhu today) रामधारी सिंह दिनकर ने लिखा है- सदियों की ठंडी-बुझी राख सुगबुगा उठी, मिट्टी सोने का ताज पहन इठलाती है; दो राह, समय के रथ का …

Read More »

श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया में मोदी द्वारा अडानी की मदद की जांच ईडी क्यों नहीं करती?

Mohan Markam State president Chhattisgarh Congress

मोदी और उनके मित्रों पर ईडी क्यों मेहरबान? – कांग्रेस ने पूछा रायपुर/23 जून 2022। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की निष्पक्षता पर सवाल (Question on the impartiality of Enforcement Directorate (ED) खड़ा करते हुये कहा कि ईडी भारतीय जनता पार्टी के इशारों पर सिर्फ विपक्षी दलों के खिलाफ कार्यवाही करती है। भाजपा नेता और मोदी …

Read More »

भारत, श्रीलंका संकट के समय क्या कूटनीतिक भूल कर रहा है?

international news in hindi hastakshep

What diplomatic mistake is India making during the Sri Lanka Crisis? महिंद्रा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद श्रीलंका की स्थिति और खराब हुई 9 मई 2022 को लोकप्रिय जनउभार के माध्यम से श्रीलंका के प्रधान मंत्री महिंद्रा राजपक्षे को इस्तीफा देने के लिए मजबूर करने के बाद, स्थिति ने एक खतरनाक मोड़ ले लिया है। एक ओर, श्रीलंकाई सेना को …

Read More »

श्रीलंका के आर्थिक संकट का असली दोषी कौन?

international news in hindi hastakshep

Who is the real culprit of Sri Lanka’s economic crisis? श्रीलंका के संकट को भड़काने में क्या नवउदारवाद की भूमिका है? श्रीलंका के आर्थिक संकट पर इतना कुछ लिखा जा चुका है कि उससे संबंधित तथ्य काफी हद तक आम जानकारी में आ चुके हैं। मिसाल के तौर पर 22 अप्रैल के फ्रंटलाइन में प्रकाशित, सी पी चंद्रशेखर के लेख …

Read More »

139 मिलियन से अधिक लोग जलवायु संकट और कोविड-19 की चपेट में : नया विश्लेषण

climate change

More than 139 million people hit by climate crisis and COVID-19, new IFRC analysis reveals न्यूयॉर्क, जिनेवा, 18 सितंबर 2021: इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रिसेंट सोसाइटीज़ (IFRC) की एक रिपोर्ट के अनुसार, चरम मौसम की घटनाओं और महामारी ने एक साथ लाखों लोगों को बुरी तरह प्रभावित किया है। उनका कहना है कि जलवायु और कोविड संकट …

Read More »

जानिए साप्टा और साफ्टा के बारे में

general knowledge in hindi

SAPTA & SAFTA in Hindi दक्षिण एशियाई वरीयता व्यापार समझौता – South Asian Preference Trade Agreement (साप्टा) को 1995 में लागू किया गया। इस समझौते का लक्ष्य दक्षिण एशिया में व्यापार संबंधी बाधाओं (Trade barriers in South Asia) को दूर करना है और सार्क देशों के बीच अधिक उदार व्यापार व्यवस्था कायम किए जाने का प्रावधान है। इस उद्देश्य को …

Read More »