सत्ताधारियों का गोडसेवादी हिंदुत्व न तो संतों की परंपरा का है और ना गांधी की

Mahatma Gandhi

आरएसएस का गोडसे प्रेम : गोडसे के भारत के सामने गांधी का भारत कमजोर पड़ रहा है. गांधी का भारत एकता, समावेशिता, स्नेह और करूणा पर आधारित है. आज के सत्ताधारियों द्वारा इन मूल्यों की अवहेलना की जा रही है