सावरकर-विवाद : ताकि नवउपनिवेशवादी गुलामी बनी रहे!

भारत में जब तक सांप्रदायिक राजनीति रहेगी तब तक सावरकर भी रहेंगे. भाजपा नेता कहते हैं कि महाराष्ट्र सावरकर का है. तो क्या महाराष्ट्र साने गुरुजी का नहीं है? बाबा साहेब का नहीं है?

Read More