Home » Tag Archives: सुखी जीवन

Tag Archives: सुखी जीवन

ब्रेन पावर बढ़ाने के लिए 10 पौष्टिक आहार

nutritious food

दिमाग को भी है बेहतर आहार की आवश्यकता 10 nutritious diet to increase brain power हम सब जानते हैं कि अच्छा खाना-पीना सुखी जीवन का आधार है। यदि हम खाने पीने पर ध्यान दें तो बीमारियां हमारे पास फटकेंगी भी नहीं। हमारे शरीर में पौष्टिक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए तो हम बहुत प्रयास करते हैं कि …

Read More »

मिर्ज़ा ग़ालिब का सम्पूर्ण जीवन ही दु:खों से भरा हुआ था

Mirza Asadullah Baig Khan Ghalib

आज Mirza Ghalib (मिर्ज़ा ग़ालिब) का जन्मदिन है- Today is Mirza Ghalib’s birthday- मिर्ज़ा ग़ालिब की जीवनी हिंदी में | Biography of mirza ghalib in hindi गालिब के रंग – ग़ालिब अथवा मिर्ज़ा असदउल्ला बेग़ ख़ान (अंग्रेज़ी:Ghalib अथवा Mirza Asadullah Baig Khan, उर्दू: غالب अथवा مرزا اسدللا بےغ خان) (जन्म- 27 दिसम्बर, 1797 ई. आगरा – 15 फ़रवरी, 1869 ई. …

Read More »

बैरियाट्रिक सर्जरी : सर्जरी में देर करने से बढ़ता है खतरा

Dr. Pradeep Chowbey is Bariatric surgeon in Delhi

बैरियाट्रिक सर्जरी- सर्जरी में देर करने से बढ़ता है कोविड का खतरा COVID-19 safety info: Delaying bariatric and metabolic surgery during COVID-19 pandemic puts patients at risk, experts warn नई दिल्ली, 04 दिसंबर 2020 : कोविड-19 की महामारी ने हेल्थकेयर सिस्टम की कार्यप्रणाली को गंभीर रूप से प्रभावित किया है (COVID-19 epidemic severely affects healthcare system functioning)। लोग संक्रमण के …

Read More »

नानक दुखिया सब संसार सो सुखिया जिस नाम आधार

Guru Nanak

Guru Nanak Jayanti 2020 Date: Guru Nanak Gurpurab (गुरु नानक गुरपुरब) | गुरु नानक जयंती कब है 551वीं गुरु नानक जयंती (30 नवम्बर) पर विशेष नानक देव की प्रमुख शिक्षाएं भैरो महला – 5 जगन होम पुन तप पूजा देहि सुखी नित दुख सहे राम नाम बिन मुकत न पावै मुक्त नाम गुरुमुख लहे नाम बिना विरथे जग जनमा बिख …

Read More »

फिरकापरस्त, भारतीय संविधान और मुस्लिम अल्पसंख्यक

Dr. Ram Puniyani

Communal, Indian Constitution and Muslim Minorities डॉ. राम पुनियानी द्वारा अंग्रेजी में लिखे गए लेख “फिरकापरस्त, भारतीय संविधान और मुस्लिम अल्पसंख्यक” का हिन्दी अनुवाद एक वर्ष पूर्व (अक्टूबर 10, 2019) आरएसस के मुखिया मोहन भागवत ने कहा था कि भारत में रहने वाले मुसलमान हिन्दुओं के कारण दुनिया में सर्वाधिक सुखी हैं. अब वे एक कदम आगे बढ़कर कह रहे …

Read More »

प्रेमचन्द का संसार एक गरीब का घर-संसार था, उन्हें ‘घृणा का प्रचारक’ ‘कलम घसीटू मुन्शी’ और क्या-क्या नहीं कहा गया

Munshi premchand

प्रेमचन्द : एक प्रेरणादायी व्यक्तित्व (Premchand: an inspiring personality) प्रेमचंद की पुण्यतिथि (8 October History) पर सरला माहेश्वरी का आलेख (Sarala Maheshwari’s article on Premchand’s death anniversary) प्रेमचन्द के जीवन और व्यक्तित्व के बारे में जो भी तथ्य (Facts about Premchand’s life and personality) मिलते हैं उनसे अन्ततोगत्वा इसी निष्कर्ष पर पहुँचा जा सकता है कि वे एस असाधारण साधारण …

Read More »

चिंता, चिता समान : हैप्पीनेस गुरु और मोटिवेशनल स्पीकर पी.के. खुराना के टिप्स

“दि हैपीनेस गुरू” के नाम से विख्यात, पी. के. खुराना दो दशक तक इंडियन एक्सप्रेस, हिंदुस्तान टाइम्स, दैनिक जागरण, पंजाब केसरी और दिव्य हिमाचल आदि विभिन्न मीडिया घरानों में वरिष्ठ पदों पर रहे। वे मीडिया उद्योग पर हिंदी की प्रतिष्ठित वेबसाइट “समाचार4मीडिया” के प्रथम संपादक थे।

बचपन से ही हम एक सूत्र सुनते आ रहे हैं, और वह है – “चिंता, चिता के समान है।“ अनावश्यक चिंता करेंगे तो तनाव बढ़ेगा, तनाव बढ़ेगा तो खान-पान अस्त-व्यस्त होगा, और शरीर में भिन्न-भिन्न बीमारियों को घर करने का मौका मिलेगा। आज हर डाक्टर हमें तनाव के विरुद्ध चेतावनी देता है और तनाव से बचने के लिए योग सहित …

Read More »

वैक्सीन : मूर्ख राजनेताओं के दबाव से किसी भी प्रकार की हड़बड़ी के मानव प्रजाति पर घातक प्रभाव होंगे

Novel Coronavirus SARS-CoV-2 Colorized scanning electron micrograph of a cell showing morphological signs of apoptosis, infected with SARS-COV-2 virus particles (green), isolated from a patient sample. Image captured at the NIAID Integrated Research Facility (IRF) in Fort Detrick, Maryland.

Vaccine: Any type of haste under the pressure of foolish politicians will have fatal effects on the human species. कोरोना काल सभी समाजों के मूलगामी पुनर्विन्यास की मांग करता है सात महीने बीत रहे हैं, पर सच यही है कि कोरोना आज भी एक रहस्य ही बना हुआ है। यह सारी दुनिया में फैल चुका है, कुछ देशों ने इसके …

Read More »

आपदा का व्यवसायीकरण : व्यावसायिक खनन वरदान नहीं श्राप है

Coal

आदिवासियों की भूमि पर कोयला खदानों के निजीकरण के संदर्भ में आपदा के व्यवसायीकरण के क्या परिणाम होंगे (What will be the consequences of commercialization of disaster) इसका उदाहरण इस आशय में मिल जाएगा है कि एक आदिवासी समुदाय अपने पड़ोस में खनन शुरू होने से पहले कैसा था और समय के साथ इसे क्या नुकसान हुआ। दूबिल, झारखंड के …

Read More »

नेपाली परमाणु विधेयक के भू-राजनैतिक आयाम : क्या नेपाल में संसद नहीं है या सांसद व संसदीय समिति नहीं हैं ?

Khadga Prasad Sharma Oli, more commonly known as KP Sharma Oli, is a Nepalese politician and the current Prime Minister of Nepal. Oli previously served as prime minister from 11 October 2015 to 3 August 2016 and was the first elected prime minister under the newly adopted Constitution of Nepal.

Geopolitical Dimensions of Nepali Nuclear Bill: Is there no Parliament in Nepal or Member of Parliament and Parliamentary Committee? डॉ. मेरी डेशेन, राजेंद्र महर्जन (हिंदी अनुवाद : डॉ. पवन पटेल)   नेपाल को ‘परमाणुसंपन्न राष्ट्र’ बनाने सम्बन्धी विधेयक हाल ही में संसद उर्फ़ प्रतिनिधि सभा में बहस के लिए लाया गया है. ‘परमाणु तथा रेडियोधर्मी पदार्थों के सुरक्षित व शांतिपूर्ण …

Read More »

रवीन्द्र नाथ टैगोर ने मनुष्यता में कभी अपना विश्वास नहीं खोया

rabindranath tagore

रवीन्द्रनाथ : मनुष्य की अक्षय और अपराजित आत्मा के महागायक |  Rabindra Nath Tagore never lost his faith in humanity हजारी प्रसाद द्विवेदी की दृष्टि में बड़ा आदमी कौन होता है ? | In the opinion of Hazari Prasad Dwivedi, Who is the big man? ‘‘बड़ा आदमी वह होता है जिसके सम्पर्क में आने वाले का अपना देवत्व जाग उठता है। …

Read More »

मौत के सौदागर का अंत शुरू : कोरोना वायरस उसी की एक दस्तक है अमेरिका बुरी तरह फंस चुका है

Donald Trump

Death dealer’s end begins: Corona virus is a knock of the same, America is badly trapped #मौतकेसौदागरकाअंतशुरू मुस्लिमों को आतंकी कहने की परम्परा (The tradition of calling Muslims as terrorists) भी कहीं और से नहीं बल्कि यूरोप, अमेरीका इजराइल से ही शुरू हुई है। क्योंकि जब मुस्लिम अपने हक़ तेल के लूटने का विरोध करने लगे तो इन्होंने आंतंकी का …

Read More »

व्यक्तित्व को उन्नत बनाने के आधारसूत्र

motivational article

Every person has his or her own specialty. These characteristics make a person हर व्यक्ति में अपनी कोई-न-कोई विशेषता होती है। इन्हीं विशेषताओं से व्यक्तित्व बनता है और किसी भी व्यक्ति का वास्तविक परिचय उसका व्यक्तित्व ही है। श्रेष्ठ व्यक्तित्व ही मानव जीवन की असली पूंजी होती है। इसके अभाव में व्यक्ति व्यावहारिक धरातल पर अत्यंत दरिद्र होता है। सभी …

Read More »