पितृसत्ता और राजनीति का गठजोड़

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

Patriarchy and politics nexus 2012 में निर्भया के साथ हुए दुष्कर्म के बाद जिस तरह जनता ने सड़कों पर आकर विरोध प्रकट किया और फिर रेप कानून की भी बनाया गया और आगे अपराधियों को सजा दिलवाने और पीड़िता को न्याय दिलवाने के लिए निर्भया फंड बनाया गया तो ऐसा लगा कि अब इस तरह

दलित व स्त्रीविरोधी है हिंदुत्व के राज का असली चेहरा : अंतर दिल्ली तथा हाथरस की निर्भयाओं का

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

हिंदुत्व की राजनीति और अंतर दिल्ली तथा हाथरस की निर्भयाओं का The politics of Hindutva and the difference between Nirbhayas of Delhi and Hathras दरिंदगियों में अंतर खोजना, निरर्थक ही नहीं, नुकसानदेह भी होता है। आखिरकार, दरिंदगी के अलग-अलग प्रकरणों में किसी को ज्यादा भयानक बताना, परोक्ष रूप से वैसे ही दूसरे प्रकरणों को कम

संस्थाओं की बर्बादी से कैसे होगी महिला सुरक्षा – प्रीति श्रीवास्तव

daughter

खुद एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश महिलाओं पर हो रही हिंसा में दूसरे नम्बर पर है। हालत इतनी बुरी है कि महिला और बालिकाओं के अपहरण की पूरे देश में घटी घटनाओं में आधी से ज्यादा घटनाएं अकेले उत्तर प्रदेश में हुई है।

हाथरस : ‘नक्सली भाभी’ का सच !

Crimes of dalit oppression

आख़िर डॉक्टर राजकुमारी बंसल ने हाथरस जा कर पीड़ित परिवार से मिलकर उनके साथ रहकर उनकी मदद करके उनको दिलासा देकर क्या अपराध कर दिया है जो इस देश का मनुवादी मीडिया और सरकार उनके पीछे पड़े हैं और बिना किसी आधार के बदनाम कर रहे हैं ?

महिलाओं ने लगाए नारे- योगी राज जंगल राज, बलात्कारियों के साथ खड़ी सरकार शर्म करो, तो हो गई गिरफ्तारी

Crimes of dalit oppression

पीड़िता का परिवार, उसका समुदाय जहां एक ओर डरा हुआ है और उनसे मिलने जुलने पर भी पाबंदियां लगी है वही दूसरी ओर उसी गांव में धारा 144 के बावजूद आरोपित पक्ष के लोग जनसभाएं कर धमकियां दे रहे हैं। क्या योगी सरकार के ‘सबका साथ और कानून के राज’ की यही वास्तविकता है?

हाथरस : कौन दे रहा अपराधियों को संरक्षण, इस की हो जांच

Crimes of dalit oppression

सरकार के उच्चस्तरीय अधिकारी पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और अपराधियों को दण्ड़ित कराने की जगह पीड़िता के साथ रेप नहीं हुआ ऐसा कहकर पूरे मामले की हो रही जांच की दिशा को ही भटका रहे हैं।

हाथरस गैंगरेप, बलात्कार कानून और राजनीति : समझिए हाथरस गैंगरेप घटना की क्रोनोलॉजी

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

केवल पूंजीपतियों से चंदा लेकर, लफ्फाजी और लंतरानी भरी वाचाल मुद्रा में चुनाव सभाओं में जनता से झूठे वादे कर के सत्ता में आ जाना, फिर उन सब वादों को निर्लज्जता से जुमला कह उन्हें भूल जाना और उनकी याद दिलाने वालों को, राजनीतिक शुचिता का उपदेश देना, ही राजनीति नहीं होती है !

सामाजिक तनाव बढ़ाने में लगी भाजपा सरकार – आईपीएफ

IPF team meets family of victim in Bhulgadhi village of Hathras

घटना की हाईकोर्ट की निगरानी में हो जांच, हर स्तर पर प्रशासन ने बरती है लापरवाही. डीएम हाथरस के खिलाफ तत्काल कार्रवाई हो

पूछता है भारत : क्या भाजपा के रामराज्य में यौन हिंसा एक तरह का यज्ञ है जिसमें स्त्री को आहुति देनी ही पड़ेगी

HATHRAS हाथरस गैंगरेप : व्यवस्था और मानवता का अंतिम संस्कार

रामराज्य में एक ऐसी मानसिकता पैदा हो रही है जिसमें यौन हिंसा एक तरह का यज्ञ है जिसमें मर्दवादी ताकतों को मजबूत करने के लिए स्त्री को आहुति देनी ही पड़ेगी। इन्द्र की हवस का खामियाजा अहिल्या को पत्थर बन कर चुकाना ही पड़ेगा।

पूछता है भारत : क्या आप अपनी संतान को गोडसे बनाना चाहेंगे ?

It is necessary to bring back the lost politics

संघ को रोल मॉडल की तलाश है। वह भगत सिंह, सरदार पटेल से लेकर सुभाष बाबू तक एक अदद रोल मॉडल की तलाश में भटक रहे हैं। वे अपने रोल मॉडल के खोखलेपन से भी परिचित हैं और भारतीय समाज की उनके प्रति अस्वीकार्यता का भी उन्हें पर्याप्त ज्ञान है।