Home » Tag Archives: हिंदुत्व

Tag Archives: हिंदुत्व

हिंदुत्व को एकनाथ शिंदे और अलीबाबा के इन 40 विधायकों ने आसानी से समझा दिया!

eknath shinde

एकनाथ शिंदे हिंदुत्व के सबसे सटीक व्याख्याकार निकले कई बार ढेर सारी शास्त्रीय कोशिशें, कई ग्रन्थ, अनेक परिभाषाएं और उनकी अनेकानेक व्याख्यायें भी साफ़ साफ़ नहीं समझा पातीं वह एक कार्यवाही स्पष्ट कर देती है। स्वाभाविक भी है। अंगरेजी की कहावत हिंदी में कहें तो “खीर का स्वाद उसे खाने में है, निहारने में नहीं”। प्रवासी मजदूरों के पसीने से …

Read More »

भारत संविधान पर चलेगा या सभ्यता की संकीर्ण व्याख्या पर?

Dr. Ram Puniyani

संविधान से अनुच्छेद 370 हटाना संवैधानिक था या नहीं? कुछ वर्ष पहले संविधान से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाया गया था. हमारे उच्चतम न्यायालय को अभी यह फैसला देना बाकी है की यह निर्णय संवैधानिक था या नहीं. हाल में, नूपुर शर्मा और अन्यों ने जो नफरत भरी बातें कहीं उनका तब तक संज्ञान नहीं लिया गया जब तक की …

Read More »

महाराष्ट्र में ऑपरेशन लोटस : क्या कामयाब होगी भाजपा की चाल?

maharashtra

महाराष्ट्र में ऑपरेशन लोटस पर संपादकीय टिप्पणी (Editorial Comment in Hindi on Operation Lotus in Maharashtra) देशबन्धु में संपादकीय आज (Editorial in Deshbandhu today) महाराष्ट्र में शिवसेना ने अपने से अलग विचारधारा रखने वाली कांग्रेस और राकांपा के साथ महाविकास अघाड़ी गठबंधन की सरकार (Mahavikas Aghadi coalition government) जब से बनाई है, तब से इस सरकार के अल्पायु होने की …

Read More »

नए भारत की नई चुनौतियां : दुनिया में भारत की इमेज असभ्य बनाने वाले प्रमुख तत्व हैं हिंदुत्व और कारपोरेट मीडिया

jagdishwar chaturvedi

New Challenges of New India : Hindutva and corporate media are the main factors that make India’s image in the world uncivilized. जो लोग इतनी तबाही के बाद भी मोदी-मोदी के नशे में चूर हैं, उनके लिए हम तो यही कहना चाहेंगे कि अपनी अक्ल पर विश्वास करो, आंखें खोलकर सामने बाजार-बैंक-खेत-खलिहान में मच रही तबाही देखो। मोदी के आने …

Read More »

दलित अस्मितावाद और हिंदुत्व दोनों के साझे दुश्मन गांधी ही क्यों?

bhimrao ambedkar ek jeevani by jaffrelot christophe in hindi

Book review : Bhimrao Ambedkar Ek Jeevani by Jaffrelot Christophe in Hindi अंबेडकर पर ज़्यादातर भाववादी लेखन दिखता है। जिसकी दिक़्क़त है कि वो समझ से ज़्यादा भक्तिभाव उत्पन्न करता है, जो अपने से बड़ी भावनाओं के राजनीतिक उभार के दौर में बहुत आसानी से उसमें समाहित हो जाता है। यहाँ तक कि अगर सत्ता किसी समुदाय के जनसंहार की …

Read More »

हिंदुत्व की राजनीति, विदेशी पूंजी और कारपोरेट की लूट के खिलाफ देशभक्ति की भावना विकसित करने की जरूरत

national news

आइपीएफ प्रदेश हेडक्वार्टर की बैठक का सारांश व निर्णय There is a need to develop a sense of patriotism against Hindutva politics, foreign capital and corporate loot. Summary and decision of IPF state headquarters meeting लखनऊ, 17 अप्रैल 2022.आइपीएफ ने कहा है कि वित्तीय पूंजी और कारपोरेट पूंजी के हित में उदार अर्थनीति के परिणामस्वरूप बेकारी, मंहगाई, कृषि संकट, विषमता …

Read More »

अरविंद नारायण: “दक्षिणपंथी विचारधाराओं का उदय पूंजीवाद द्वारा गढ़ी गई आर्थिक असमानता के गंभीर स्तरों पर निर्भर करता है”

debate

अधिनायकवादी राज्य का मुकाबला : अरविंद नारायण विखर अहमद सईद प्रिंट संस्करण : 25 मार्च, 2022 टी+ टी- (मूल अंग्रेजी से हिन्दी अनुवाद: एस आर दारापुरी, राष्ट्रीय अध्यक्ष, आल इंडिया पीपुल्स फ्रन्ट)  लेखक और वकील अरविंद नारायण के साथ साक्षात्कार बेंगलुरु के वकील और लेखक अरविंद नारायण “India’s Undeclared Emergency/ Constitutionalism And The Politics of Resistance” (भारत के अघोषित आपातकाल: …

Read More »

दलितों के हिंदुत्वीकरण का कांशीराम का प्रोजेक्ट पूरा हुआ, अब बसपा की कोई जरूरत नहीं है

Mayawati

यूपी चुनाव में बसपा की रणनीति पर चर्चा (Discussion on BSP’s strategy in UP elections) उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बसपा की समूची राजनीति पर अगर हम नजर डालें तो पूरे चुनाव प्रचार के दौरान यह न केवल रंग मंच से ओझल थी, बल्कि इसका बचा खुचा प्रयास समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के खिलाफ हमला करने पर केंद्रित था। इस …

Read More »

खतरनाक विचार शिक्षा के भगवाकरण का

deshbandhu editorial

Dangerous idea of saffronisation of education देशबन्धु में संपादकीय आज (Editorial in Deshbandhu today) शिक्षा के भगवाकरण पर संपादकीय | Editorial in Hindi on saffronisation of education देश के शिक्षण संस्थानों में धर्म का दखल (The interference of religion in the educational institutions of the country) हमेशा ही विवाद का विषय रहा है और कर्नाटक के ताजा हिजाब विवाद के …

Read More »

देश का भूगोल बहुत छोटा हो गया है क्योंकि आपको विकास चाहिये

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

The geography of the country has become very small because you want development. वरिष्ठ पत्रकार और हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार पलाश विश्वास की यह टिप्पणी (This comment of Palash Vishwas) आज से पाँच वर्ष पूर्व 17 मार्च 2017 को लिखी गई थी। आज पाँच वर्ष बाद जब पाँच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम (Results of assembly elections of five …

Read More »

क्या किसान आंदोलन ने भाजपा की मदद की ?

arun maheshwari

क्या जन आंदोलनों का नेतृत्व राजनीतिक सवालों से उदासीन रह सकता है ? Arun Maheshwari on UP election and Kishan Aandolan (यूपी सहित पांच राज्यों के चुनाव से उठने वाले प्रश्न | Questions arising from the elections of five states including UP) तमाम दलीलों को सुन कर बहुत सोचने के बावजूद पंजाब और यूपी के चुनाव परिणाम और उनमें किसान …

Read More »

मोदीजी सावरकर ने शर्मनाक हद तक सुभाष चंद्र बोस के ख़िलाफ़ अंग्रेजों की मदद करने का आह्वान किया

Statue of Subhash Chandra Bose unveiled by Prime Minister Narendra Modi

क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति का अनावरण (Statue of Subhash Chandra Bose unveiled by Prime Minister Narendra Modi) उनके हिंदुत्ववादी गुरुओं के नेताजी के खिलाफ़ अंजाम दिए गये जुर्मों पर पर्दा डाल पायेगा? नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर विशेष! आरएसएस-भाजपाशासकआजकल भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानतम नेताओं में से एक शहीद नेताजी सुभाष …

Read More »

क्या हिंदुत्व की वजह से घटा है भाजपा में चुम्बकत्व? अब भाजपा को संभलने का वक्त नहीं

modi yogi

क्या है यूपी की राजनीति में ‘खदेड़ा’ का मतलब? भाजपा पोषित मीडिया कह रही है कि चुनावी भगदड़ शुरू हो चुकी है। ऐसा कहकर योगी सरकार से अब तक तीन कैबिनेट मंत्रियों और 12 विधायकों के इस्तीफे को चुनावी दल-बदल की सामान्य प्रक्रिया (General procedure for electoral defection) बताने की कोशिश गोदी मीडिया कर रहा है। वास्तव में यह भाजपा …

Read More »

हरिद्वार वाया चंपावत; बेनकाब होता हिंदुत्व

badal saroj

Haridwar Via Champawat; Hindutva would be exposed हरिद्वार के अधर्म हिन्दुत्वी जमावड़े में जो हुआ और भिन्न तीव्रता के साथ जिसे छत्तीसगढ़ के रायपुर में हुई ऐसी एक शोर भरी जमावट में दोहराया गया वह आजाद भारत में अभूतपूर्व और असाधारण बात है। हरिद्वार में “उनकी जनसंख्या को हमें खत्म करना है।” “अगर हम सौ सैनिक बन गए और इनके …

Read More »

हिंदुत्व के नाम पर ध्रुवीकरण की राजनीति करने वाली भाजपा आदिवासियों को भी संदिग्ध नागरिक बता रही

famous human rights activist of Assam Pranab Doley

सिंधु सभ्यता के वारिस आदिवासी और दलित इस देश के नागरिक नहीं हैं तो नागरिक कौन हैं? असम में अभयारण्यों की किलेबंदी के खिलाफ आदिवासियों और वनवासियों के वनाधिकार की लड़ाई लड़ रहे असम के प्रसिद्ध मानवाधिकार कार्यकर्ता प्रणब डोले की नागरिकता (Citizenship of famous human rights activist of Assam Pranab Doley) संदिग्ध बताते हुए उनके पासपोर्ट के नवीकरण से …

Read More »

हिंदुत्व की काशी करवट : एक सर्वग्रासी और बहुआयामी चुनौती है हिंदुत्व

badal saroj narendra modi

News about Varanasi, Narendra Modi : Hindutva is an omnipresent and multidimensional challenge बनारस में पूरी धजा में था हिंदुत्व। डूबता, उड़ता, तैरता, तिरता, घंटे-घड़ियाल बजाता, शंखध्वनियों में मुण्डी हिलाता, दीपज्योतियों में कैमरों को निहारता, झमाझम रोशनी में भोग लगाता खुद पर खुद ही परसादी चढ़ाता, रातबिरात घूमता; पूरी आत्ममुग्ध धजा में था हिंदुत्व। सजा आवारा. एक दिन में आधा …

Read More »

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर : मोदी के हिंदुत्व पर अखिलेश के ‘हिन्दू’ की बढ़त

akhilesh yadav narendra modi

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को अखिलेश यादव ने बनाया ‘हिंदुत्व बनाम हिन्दू’ इस लेख में वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र प्रसाद चर्चा कर रहे हैं कि किस तरह उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए हर दिन और मुश्किल होता जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ताबड़तोड़ रैलियां, एक्सप्रेसवे, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उद्घाटन और गंगा में पीएम की डुबकी …

Read More »

राहुल ने क्यों कहा- लाएंगे हिन्दुओं का राज?

Rahul Gandhi's first press conference of the year at party headquarters

जिस रास्ते पर राहुल गांधी कांग्रेस को ले जा रहे हैं वह परंपरागत रास्ता नहीं हिन्दू मतलब महात्मा गांधी, हिंदुत्व मतलब (Meaning of Hindutva) नाथूराम गोडसे– राहुल गांधी ने नये अंदाज में हिन्दू और हिंदुत्व की परिभाषा (Definition of Hindu and Hindutva) गढ़कर हिन्दू नामधारी सियासत के समक्ष बड़ी चुनौती पेश कर दी है। ऐसा करके उन्होंने ऐसी सीधे तौर …

Read More »

ममता बनर्जी की सक्रियता : आखिर भाजपा की खुशी का राज क्या है ?

mamata banerjee

Mamata Banerjee’s Activism: What is the secret of BJP’s happiness? बमुश्किल छह माह पहले बंगाल के विधानसभा के चुनाव में भाजपा को बुरी तरह शिकस्त देने वाली तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress, which badly defeated BJP in Bengal assembly elections), जिसने समूचे विपक्ष को भी नई ऊर्जा से भर दिया था और भाजपा के खिलाफ शेष मुल्क में ‘बंगाल अनुभव’ दोहराने …

Read More »

उप्र : योगी का हिंदुत्व नाम केवलम्, सांप्रदायिकता का ही सहारा

yogi adityanath

UP: Yogi’s Hindutva name Kevalam, only the support of communalism Sampradayikata ka hi sahara : भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का संदेश क्या है? भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पिछली बैठक का सत्ताधारी पार्टी के शीर्ष नीति-निर्धारक निकाय की दो साल अंतराल के बाद हुई बैठक के नाते, रस्म-अदायगी के सिवा कोई खास अर्थ भले न हो, पर इस …

Read More »

भाजपा के राज में हिंदुत्व खतरे में क्यों है?

deshbandhu editorial

भाजपा के राज में भाजपा, आरएसएस और बाकी दक्षिणपंथी संगठन डरे हुए नजर क्यों आते हैं? धर्म के ठेकेदारों का डर | Fear of the contractors of religion देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today पिछले सात सालों से देश में भाजपा का राज है। और भाजपा ने सत्ता का ये सफर धर्म की सीढ़ी पर चढ़कर ही तय …

Read More »