मुख्यमंत्री बनने के बाद मोतीलाल बास्के को भूल गए हेमंत सोरेन ?

Moti Lal Baske Hemant Soren

न्याय से वंचित है डोली मजदूर मोतीलाल बास्के का परिवार ‘मेरे पति की हत्या 9 जून 2017 को सीआरपीएफ कोबरा ने 11 गोली मारकर कर दी और उन्हें एक दुर्दांत माओवादी घोषित कर दिया। जबकि वे पारसनाथ पर्वत पर चावल-दाल का छोटा सा दुकान चलाते थे और जैन धर्मावलम्बिायों को पर्वत वंदना कराने के लिए

धरतीपुत्र हेमंत सोरेन ने चप्पलों पहनकर लिया गार्ड ऑफ ऑनर, वजह ये बताई

Hemant Soren took guard of honor in chappals

Hemant Soren took guard of honor in chappals A photo of the newly elected Chief Minister of Jharkhand, Hemant Soren, wearing slippers, taking guard of honor, went viral on social media नई दिल्ली, 04 जनवरी 2020. झारखंड के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की चप्पल पहनकर गार्ड ऑफ ऑनर लेते हुए एक तस्वीर सोशल मीडिया पर

खरसावां गोलीकांड में शहीदों के आश्रितों मिलेगी नौकरी — हेमंत सोरेन

Hemant Soren

Martyrs’ dependents will get job in Kharsawan firing – Hemant Soren रांची 02 जनवरी 2020. ”जिस तरह गुवा गोली कांड में शहीदों को चिन्हित करके उनके परिजनों को नौकरी दी गई, उसी तरह अब खरसावां गोलीकांड के शहीदों के आश्रितों को हमारी सरकार द्वारा चिन्हित करके नौकरी दी जाएगी। उन्हें पेंशन देने का भी काम

29 नवंबर को झारखंड की राजधानी रहेगी गुलजार : देश के राजनीतिक दिग्गजों का होगा जमावड़ा

Hemant Soren

रांची, 28 दिसंबर 2019. शायद यह पहली बार है कि किसी मुख्यमंत्री की ताजपोशी, विपक्षी एकता के रूप में राष्ट्रीय चर्चे में है। कारण साफ है कि जिस तरह से राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री रघुवर दास के राजनीतिक गुरूर को विपक्षी एकता ने ध्वस्त किया, वह झारखंड के राजनीतिक इतिहास का पन्ना बन चुका है।