Home » Tag Archives: 1984 anti-Sikh riots

Tag Archives: 1984 anti-Sikh riots

मोदी सरकार के ‘भारत रत्न’ नानाजी देशमुख ने 1984 के जनसंहार को उचित ठहराया था, दस्तावेज

nanaji deshmukh justified the 1984 genocide

Modi government’s ‘Bharat Ratna’ Nanaji Deshmukh justified the 1984 genocide, document 1984 के सिख क़त्ले–आम के मुजरिमों की तलाश का 37 साल लम्बा पाखंड! 37-YEAR-LONG MOCKERY OF SEARCHING FOR THE KILLERS OF 1984 SIKH MASSACRE इंसान अभी तक ज़िंदा है, ज़िंदा होने पर शर्मिंदा है।  [सांप्रदायिक हिंसा पर नागरिक समाज की शर्मनाक चुप्पी (Shameful silence of civil society on communal …

Read More »

संस्मरण – दंगा 1984 : देश की एकता के लिये अभिशाप हैं धर्म और जाति से प्रेरित दंगे

1984 riots memoir of retired senior IPS officer Vijay Shankar Singh

Riots inspired by religion and caste are a curse for the unity of the country. धर्म के नाम पर हुए व्यापक दंगों या नरसंहारों को याद रखा जाना चाहिए। उन्हें याद रखना इसलिए भी ज़रूरी है कि ताकि धर्मान्धता या अन्य पागलपन के दौर में हम, जो अक्सर भूल जाते हैं कि हम एक अदद इंसान भी हैं, उसे न …

Read More »

यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है, पहले विश्वविद्यालयों को निशाना बनाया गया और अब बस्तियां भी सुलग रही हैं

Delhi riots.jpeg

This is neither a coincidence nor an experiment but a project, universities were first targeted and now settlements are also burning यह ना संयोग है ना प्रयोग बल्कि एक प्रोजेक्ट है जिसे बहुत तेजी से पूरा किया जा रहा है. भारत को ‘हम’ और ‘वे’ में बांट देने का प्रोजेक्ट, जिसके लिये कई दशकों से प्रयास किया जा रहा था. …

Read More »