जेएनयू हमला : खतरनाक इशारे, मौजूदा शासकों की बौखलाहट देश को बहुत खतरनाक स्थिति की ओर धकेल रही है

JNU Violance, जेएनयू में एबीवीपी, JNU Violance Live updates, demand for Amit Shah's resignation,

JNU attack: Dangerous gestures, the fury of the current rulers is pushing the country towards a very dangerous situation. भारतीय संविधान में सीएए-एनपीआर-एनआरसी (CAA-NPR-NRC) का त्रिशूल घोंपने के अपने मंसूबों के लगातार बढ़ते और बहुत हद तक स्वत:स्फूर्त विरोध पर, मोदी सरकार और संघ परिवार के विभिन्न बाजुओं की बौखलाहट साफ दिखाई देने लगी है।

जेएनयू पर हमला : इमर्जेंसी का विरोध कर चुके जेएनयू के पूर्व छात्र बोले इससे तो इमर्जेंसी अच्छी थी

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better

JNU alumni who have opposed Emergency said that Emergency was better पिछले ही दिनों, कश्मीर के सभी प्रमुख राजनीतिक नेताओं की गिरफ्तारी के पांच महीने पूरे होने पर, मोदी सरकार और सत्ताधारी भाजपा के महत्वपूर्ण प्रवक्ताओं के मुंह से बार-बार यह सुनने को मिला था कि इमर्जेंसी में तो नेताओं को उन्नीस महीने जेल में