Home » Tag Archives: Arnab Goswami

Tag Archives: Arnab Goswami

मी लॉर्ड! अर्णब गोस्वामी का मुकदमा क्या वाकई उनकी निजी स्वतंत्रता से जुड़ा है ?

arnab goswami,

Arnab Goswami stood in the apex court as the accused in Section 306 IPC and not as a victim. अर्णब गोस्वामी का मुकदमा (Case of Arnab Goswami) तो उनकी निजी आज़ादी से जुड़ा था भी नहीं। अर्णब तो धारा 306 आइपीसी के मुलजिम के रूप में शीर्ष न्यायालय में खड़े थे न कि एक पीड़ित के रूप में। वे एक …

Read More »

मीलॉर्ड क्या व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार संविधान ने बरवर राव को भी दिया है ?

Supreme court of India

व्यक्तिगत स्वतंत्रता और वरवर राव का मुकदमा Personal liberty and the trial of Varvara Rao कल जब अर्णब गोस्वामी को सुप्रीम कोर्ट ने संविधान के अनुच्छेद 142 के अंतर्गत प्राप्त अपने अधिकारों का उपयोग करते हुए, जमानत दी तो एक पुराना मामला याद आया। यह मामला है तेलुगू के कवि और मानवाधिकार कार्यकर्ता वरवर राव का। वरवर राव भी अपने …

Read More »

काम करा कर किसी मिस्त्री का पैसा दबा लेना, यह कौन सी पत्रकारिता है मित्ररों ?

arnab goswami,

Arnab Goswami is in jail in a 306 IPC (abetment to suicide) case. अर्णब गोस्वामी धारा 306 आइपीसी ( आत्महत्या के लिए उकसाने ) के एक मामले में जेल में हैं। इस मुकदमे के बारे में कहा जा रहा है कि उद्धव ठाकरे और पुलिस कमिश्नर मुम्बई ने अर्णब गोस्वामी की पत्रकारिता (Journalism of Arnab Goswami) के दौरान उठाये गए …

Read More »

अर्णब गोस्वामी के साथ कौन है : दोगले लोग पत्रकारिता के लिए नहीं गोदी पत्रकारों के लिए चिंतित हैं

arnab goswami,

Who is with Arnab Goswami: The misbegotten people are worried about Godi journalists  not for journalism बहुत सारे लोग खुद को निष्पक्ष स्वतंत्र और बहुत बड़ा पत्रकार बताने के चक्कर में अर्णब गोस्वामी के साथ मुंबई पुलिस द्वारा की गई पूछताछ की निंदा कर रहे हैं। ऐसे लोग इसे प्रेस पर हमला भी बता रहे हैं। यह वही लोग हैं …

Read More »

राष्ट्रीय शर्म का विषय : अर्णब गोस्वामी की सेवा में सुप्रीम कोर्ट

Supreme Court in service of Arnab Goswami

The subject of national shame: Supreme Court in service of Arnab Goswami This is a picture of the compassionate condition of an institution dying of tensions between the limits of law and democratic expectations of the nation. सुप्रीम कोर्ट को अर्णब गोस्वामी की रक्षा (Defense of Arnab Goswami) में सामने आने में एक क्षण नहीं लगा है। उसे उनके अपराधी …

Read More »