भूख से बड़ा मजहब और रोटी से बड़ा ईश्वर हो तो बता देना मुझे भी धर्म बदलना है…

Azamgarh relief camp

आज़मगढ़ 14 मई 2020.  मुल्क में एक तरफ घर वापसी हो रही है दूसरी तरफ ऐसे बहुत से मज़दूर साथी हैं जिनके घर नहीं हैं, हैं भी तो वहां इससे भी बुरा हाल हो न जाए वो जहां हैं वहीं रह गए हैं. आज़मगढ़ के सलारपुर, जगदीशपुर में कूड़ा बीनने वाले (Garbage Pickers) और घूम-घूमकर